नदी के तेज बहाव में घुटने तक पानी के बीच निकलती शव यात्रा, तस्वीरें देख हैरान हो जाएंगे आप

नदी के तेज बहाव में घुटने तक पानी के बीच निकलती शव यात्रा, तस्वीरें देख हैरान हो जाएंगे आप

मीडियावाला.इन।

नदी के तेज बहाव में घुटने तक पानी के बीच निकलती शव यात्रा का नजारा देखकर हर कोई हो जाता है हैरान लेकिन कोई एक या दो बार नहीं बल्कि कई वर्षों से शमशान जाने वाले रास्ते पर एप्रोच रोड नदी के दोनों छोर से बारिश में बह जाने के चलते अंतिम यात्रा में शामिल लोगों को इस तरह की मुसीबत का सामना करना पड़ता है। कई बार तो पानी उतरने के लिए घंटों इंतजार करना पड़ता है तो कई बार लोग फिसल जाते हैं और बहते बहते बच जाते हैं, बावजूद इसके इन्हें सिर्फ आश्वासन मिल रहा है.

बड़वानी- यह तस्वीरें आपको हैरान कर देगी क्यों की नदी के पानी के बहाव में घुटने घुटने पानी के बीच शव यात्रा लेकर जाते यह लोग मजबूरी में शव यात्रा को एक से दूसरे कंधे पर बदलकर नदी पार कर रहे हैं। हर बार वर्षा ऋतु में जब भी कोई मौत होती है तो लोगों को इसी तरह शव यात्रा में मुसीबत का सामना करना पड़ता है।

 

 दरअसल बलवाडी नगर के शमशान घाट जाने के पारंपरिक रास्ते पर अरुणा वती नदी है जिस पर श्मशान घाट जाने के लिए पुल भी बना है लेकिन हर बारिश में इस पुल का एप्रोच रोड नदी के दोनों छोर से बह जाता है जिसके चलते लोगों को उनके लिए 2 फीट की बनी दीवार से होकर गुजरना पड़ता है। लेकिन जिनके कांधे पर अर्थी है वह लोग नदी से ही निकलते हैं जिसके लिए गांव वाले एक चेन बनाते हैं और कंधे से कंधा बदलकर अर्थी को नदी पार ले जाया जाता है कई बार पानी ज्यादा आने पर लोग यहां घंटों इंतजार करते हैं । लोगों की माने तो कई बार यह हादसा भी हो चुका है और अर्थी भी बही और लोग भी फिसले हैं ।कई बार आवेदन निवेदन करने के बावजूद इनकी किसी ने सुध नहीं ली।

 देखिए वीडियो

 क्षेत्रीय विधायक ग्यारसी लाल रावत कहते हैं की पीडब्ल्यूडी विभाग से हमने पुलिया निर्माण की स्वीकृति ले ली है। विधायक मानते है की ये लोगों के लिए समस्या तो है ही लेकिन साथ ही वह इसके लिए पिछली सरकार को जिम्मेदार मानते हैं।

 

 

0 comments      

Add Comment