फिर किसी बच्चे के सिर से पिता का साया न उठे, इसलिए रीवा का ट्रैफिक सूबेदार करता है पिता की याद में यह पुनीत कार्य

फिर किसी बच्चे के सिर से पिता का साया न उठे, इसलिए रीवा का ट्रैफिक सूबेदार करता है पिता की याद में यह पुनीत कार्य

मीडियावाला.इन।

Rewa: ट्रैफिक सूबेदार अखिलेश सिंह कुशवाह कहते हैं कि काश मेरे पिताजी ने उस दिन हेलमेट लगाने में चूक न की होती तो वे आज भी हमारे साथ होते।बाइक चलाते समय हेलमेट में ही जिंदगी होती है। इसलिए हेलमेट अवश्य लगाएं। जो भूल आप कर रहे है। उसकी सजा आने वाले कल में आपके बच्चों को मिलेगी।यह बात ट्रैफिक सूबेदार अखिलेश सिंह कुशवाह ने पिता की पुण्यतिथि पर आम राहगीरों को हेलमेट बांटते हुए जागरूक करने का प्रयास करते हुए कही।
अखिलेश सिंह कुशवाह ने बताया कि उनके पिता स्वर्गीय राम विश्वास सिंह कुशवाह हमेशा हेलमेट लगाते थे। लेकिन 2010 में जुलाई का वह दिन कभी नहीं भूलता। उस दिन वह बिना हेलमेट के कारण बस की चपेट में आए और अस्पताल पहुंचने से पहले दम तोड़ दिए थे। उनकी एक भूल से आज हम भाई बहनों के सिर में पिता का साया नहीं है। आज भी परिवार वालों के मन में कसक है, शायद हेलमेट लगाए होते तो आज सभी के बीच होते।
ऐसे में हेलमेट को जिंदगी का अहम हिस्सा मानकर हर पल यात्रा करते समय लगाए। क्योंकि हादसे बोल कर नहीं आते है। वह उसी दिन होता ​है जिस दिन आप जल्दबाजी में होते है। इसलिए सोच समझकर बाइक चलाएं। साथ ही स्पीट को कंट्रोल रखे। जिससे हादसा होने से पहले आपकी बाइक संभल जाए।

उस भूल की कसक आज भी

11 साल पहले हमने पिता को खोया
उन्होंने बातचीत में कहा कि 11 साल पहले हमने अपने पिता को खोया है। लेकिन अब कोई राहगीर अपने बच्चों का साथ न छोड़े। इसी उददेश्य के साथ पिता की पुण्यतिथि पर हाइवे में बिना हेलमेट के चलने वाले राहगीरों को हेलमेट वितरण करता हूं। हालांकि हेलमेट वितरण करते समय कई बाइक सवार यातायात की वाहन चेकिंग समझकर इधर-उधर भाग रहे थे। फिर वे समझाइश देकर सभी को हेलमेट दिए।
एक हेलमेट, एक जिंदगी
जिस हेलमेट की वजह से राम विश्वास सिंह कुशवाह ने जिंदगी खो दी थी। आज उन्ही के बेटे को ऐसी वर्दी मिली कि ट्रैफिक नियमों के पालन की जिम्मेदारी है। जो दिनभर हेलमेट को लेकर ही लोगो को जागरूक करते है। अखिलेश ने कहा कि एक हेलमेट में एक जिंदगी है। यही वजह है कि अपने पिता की पुण्यतिथि में हर साल हेलमेट बांटते है।

0 comments      

Add Comment