युद्धग्रस्त यूक्रेन में फंसा मां का लाल, संपर्क न होने से रो-रोकर मां का हुआ बुरा हाल

3389

मनावर से स्वप्निल शर्मा की रिपोर्ट 

मनावर। मध्य प्रदेश के धार जिले के मनावर से 3 किलोमीटर दूर स्थित ग्राम जाजमखेड़ी का सिर्वी समाज का एक छात्र हरिओम चोयल यूक्रेन की ओडेसा मेडिकल यूनिवर्सिटी (Odesa Medical University) में एमबीबीएस चतुर्थ वर्ष की पढ़ाई कर रहा है।

स्थिति बिगड़ने के बाद युद्धग्रस्त यूक्रेन में उससे संपर्क न होने से उसकी मां का रो-रोकर बुरा हाल है।

छात्र हरिओम चोयल की माँ सुमन चोयल ने बताया कि उसके पति दिनेश चोयल का निधन हो चुका है। उसके दो बेटे हैं। बड़े बेटे का नाम हरिओम व छोटा बेटा नयन चोयल है। पति की 10 माह पूर्व कोरोना से मृत्यु हो जाने के बाद सुमन ने अपने पुत्र की डाॅक्टरी की पढ़ाई पूरी करने के लिए जो कर्ज लिया था, वह जमीन व खेत बेचकर चुकाया।

यूक्रेन के ओडेसा यूनिवर्सिटी में पढ़ रहे हरिओम का पिछले चार दिनों से न तो कोई संपर्क हो पा रहा है। भारतीय दूतावास से भी हरिओम के संबंध में कोई जानकारी मिल रही।

जबकि, भारत सरकार द्वारा दिए गए हेल्प लाइन नंबरों पर भी संपर्क किया था। हरिओम के संबंध में कोई भी जानकारी नहीं मिल पा रही।

इससे उसकी माता सुमन चोयल काफी परेशान है और परिवार में भी भय का वातावरण बना हुआ हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री से आग्रह किया है कि उसके बेटे की खोजकर उन्हें जानकारी उपलब्ध कराई जाए।