MP News: RTI एक्टिविस्ट की हत्या का खुलासा,कॉन्ट्रेक्ट किलिंग के जरिये करवाई गई थी हत्या

1089
Badwani MP: कुल्हाड़ी मारकर पत्नी की हत्या, फिर की आत्महत्या, क्षेत्र में फैली सनसनी

 

MP News: RTI एक्टिविस्ट की हत्या का खुलासा,कॉन्ट्रेक्ट किलिंग के जरिये करवाई गई थी हत्या

भोपाल: एमपी के विदिशा में कल पीडब्ल्यूडी ऑफिस में हुई RTI एक्टिविस्ट रंजीत सोनी की हत्या का विदिशा पुलिस ने 24 घंटे के अंदर खुलासा किया है।
कॉन्ट्रेक्ट किलिंग के जरिये हत्या करवाई गई थी। इस संबंध में पुलिस ने हत्या कराने वाले 3 लोग,कॉन्ट्रेक्ट किलर और कॉन्ट्रेक्ट किलर को हायर करने वाले आरोपी यानी कुल 5 आरोपी गिरफ्तार किया है।

RTI एक्टिविस्ट और पूर्व ठेकेदार रहे रंजीत सोनी का तीनों ठेकेदारों जसवंत रघुवंशी, एश कुमार चौबे और नरेश शर्मा से थी पुरानी रंजिश थी। तीनों ठेकेदारों ने अपने चौथे साथी शैलेंद्र पटेल को कॉन्ट्रेक्ट किलर खोजने का काम दिया था। ₹25000 के एडवांस पर अंकित यादव उर्फ टुन्डा ने दिया RTI एक्टिविस्ट की हत्या को अंजाम दिया।
हत्या में इस्तेमाल हुई माउजर और तीन जिंदा कारतूस भी पुलिस ने जब्त किए।

एमपी के विदिशा में कल शाम पीडब्ल्यूडी ऑफिस में आरटीआई एक्टिविस्ट और पूर्व ठेकेदार रंजीत सोनी की हत्या का पुलिस ने 24 घंटे के अंदर ही खुलासा कर दिया।
विदिशा एसपी मोनिका शुक्ला ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए हत्याकांड का खुलासा किया। उन्होंने बताया कि हत्या के पीछे पीडब्ल्यूडी के ठेकेदार जसवंत रघुवंशी, नरेश शर्मा और एेश कुमार चौबे शामिल हैं। इन तीनों ने ही अपने एक अन्य साथी शैलेंद्र पटेल के साथ हत्या करने के लिए अंकित यादव उर्फ टुन्डा को सुपारी दी थी और एडवांस के तौर पर ₹25000 भी दिए गए थे।साथ ही साथ जसवंत रघुवंशी द्वारा माउजर भी अंकित को उपलब्ध कराया गया था।
पिछले 7 दिनों के दौरान आरोपियों ने अंकित को मृतक RTI एक्टिविस्ट रंजीत सोनी से आमना-सामना भी कराया। उसकी शक्ल दिखाने के साथ घटना से ठीक पहले मृतक की लोकेशन अंकित को बताई गई और अंकित ने पीडब्ल्यूडी कार्यालय पहुंचकर पीछे से कनपटी पर गोली मारकर उसे मौत के घाट उतार दिया।
पुलिस ने पूछताछ के दौरान जसवंत रघुवंशी और उनके साथियों को गिरफ्तार किया, कड़ी पूछताछ के दौरान अंकित का नाम सामने आया जो हत्या के बाद सिलवानी अपने मामा के घर भाग गया था, रात में ही विदिशा पुलिस ने उसे सिलवानी से गिरफ्तार किया और उसके पास से एक माऊजर और तीन जिंदा कारतूस भी बरामद किए गए हैं।

विदिशा पुलिस ने कुछ घंटों में ही आरोपियों को पकड़ने वाली पुलिस टीम को इनाम देने की घोषणा की है।
विदिशा एसपी मोनिका शुक्ला ने हत्या की वजह बताते हुए बताया कि जसवंत रघुवंशी, एेश कुमार चौबे को मृतक रंजीत सोनी से कुछ रुपये लेना थे। चेक बाउंस होने के बाद केस कोर्ट में चल रहा था और इसके अलावा बीच में भी दोनों पार्टियों के बीच विवाद हो चुका है।
इसी बात को लेकर RTI एक्टिविस्ट रंजीत सोनी की हत्या करने की साजिश रची गई। पुलिस ने सभी 5 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

बाइट- मोनिका शुक्ला, एसपी,विदिशा