भाजपा ने सिद्धू से कहा, 'कूटनीति केंद्र का विशेषाधिकार'

भाजपा ने सिद्धू से कहा, 'कूटनीति केंद्र का विशेषाधिकार'

मीडियावाला.इन। पंजाब के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू द्वारा पाकिस्तान की खुद की यात्रा की तुलना तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की यात्रा से करने पर निशाना साधते हुए भाजपा ने मंगलवार को पूर्व क्रिकेट खिलाड़ी से कहा कि कूटनीति केंद्र का विशेषाधिकार है, न कि एक मंत्री का। यहां मीडिया को संबोधित करते हुए भाजपा के प्रवक्ता संबित पात्रा ने मामले में राहुल गांधी पर भी निशाना साधा।

पात्रा ने कहा, "पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने सोमवार को कहा कि सिद्धू को बाजवा को गले नहीं लगाना चाहिए था..लेकिन सिद्धू ने संवाददाता सम्मेलन आयोजित किया और इसे सही ठहराने की कोशिश की। किसके आदेश पर? निश्चित ही, राहुल गांधी के आदेश पर। कांग्रेस में राहुल गांधी की अनुमति के बिना कुछ नहीं हो सकता। इसलिए हम राहुलजी से जवाब चाहते हैं।"

उन्होंने कहा, "राहुल भारत सरकार के समानांतर एक सरकार नहीं चला सकते। कूटनीति केंद्र सरकार का विशेषाधिकार है। यह राज्य सरकारों के अधीन नहीं है। कोई भी एक मंत्री इस पर निर्णय नहीं ले सकता।"

उन्होंने कहा, "राहुल को यह दिमाग में रखना चाहिए कि कूटनीति को किसी को भी प्रॉक्सी के रूप में नहीं दिया जा सकता और न ही इसे आउटसोर्स किया जा सकता। आप सत्ता से बाहर हैं और शालीनतापूर्वक आपको इसे स्वीकार करना चाहिए।"

सिद्धृ ने मंगलवार को कहा था कि उनका पाकिस्तान दौरा वाजपेयी को समर्पित था क्योंकि वे दोनों देशों के बीच शांति चाहते थे।

पात्रा ने कहा कि यह सिद्धू के लिए 'उचित' नहीं है कि वह तत्कालीन प्रधानमंत्री वाजपेयी से अपनी तुलना करें, क्योंकि वह केवल एक राज्य में मंत्री हैं।

उन्होंने पूछा कि सिद्धू ने पाकिस्तान सेना प्रमुख को गले क्यों लगाया, जो भारतीय जवानों की हत्या करने और पंजाब में खालिस्तान आंदोलन के पुनरुत्थान के प्रयास में शामिल है।

भाजपा ने राहुल पर बीते साल 75 दिनों तक चले डोकलाम तनाव के दौरान चीनी राजनयिक से 'गोपनीय बैठकें' करने का भी आरोप लगाया।

पात्रा ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मणिशंकर अय्यर, शशि थरूर, गुलाम नबी आजाद, सलमान खुर्शीद पर पाकिस्तान के पक्ष में और भारतीय सेना के विरुद्ध बोलने का आरोप लगाया।

उन्होंने कहा, "कोई कहता है कि कश्मीर में सेना नागरिकों की हत्या करती है, वहीं दूसरा कश्मीर में स्वतंत्रता की बात करता है। वे भारत को हिंदू तालिबान या हिंदू पाकिस्तान कहते हैं। कोई मोदी सरकार को गिराने के लिए पाकिस्तान जाता है।"

भाजपा नेता ने कहा, "कांग्रेस का एक नेता हमारे सैन्य प्रमुख को 'सड़क का गुंडा' कहता है.. हमारा सैन्य प्रमुख सड़क का गुंडा है और पाकिस्तान का 'सोने दा मुंडा'...हम लोग नाराज हैं कि कांग्रेस में ऐसे नेता है जो पाकिस्तान के हितों को आगे बढ़ाते हैं। आप जनरल बाजवा को यह कहकर महान बताते हैं कि एक आदमी है जो शांति और समृद्धि चाहता है।"

उन्होंने कहा, "सिद्धू ने यह कहने की कोशिश की है कि 125 करोड़ भारतीयों का छोटा दिल है क्योंकि भारत, पाकिस्तान के साथ शांति के लिए आगे नहीं बढ़ रहा है।"

0 comments      

Add Comment