J&K:जम्‍मू में BJP का दबदबा, घाटी में भी कई जगह खिला कमल मगर लद्दाख में कांग्रेस को कामयाबी

J&K:जम्‍मू में BJP का दबदबा, घाटी में भी कई जगह खिला कमल मगर लद्दाख में कांग्रेस को कामयाबी

मीडियावाला.इन। जम्‍मू कश्‍मीर के निकाय चुनावों में लद्दाख में बीजेपी का सफाया हो गया. वहीं जम्‍मू में बीजेपी का मेयर बनेगा. कश्‍मीर घाटी में भी बीजेपी के लिए अच्‍छी खबर है और उसने 21 सीटें जीती हैं. बता दें कि पीडीपी और नेशनल कांफ्रेंस ने इन चुनावों में हिस्‍सा नहीं लिया था.

बीजेपी लद्दाख क्षेत्र में अपना खाता खोलने में विफल रही. चुनाव अधिकारियों ने बताया कि इस क्षेत्र में कुल 26 वार्डों में से कांग्रेस ने लेह नगरपालिका समिति में सभी 13 सीटों पर जीत दर्ज हासिल की. पार्टी ने नजदीक के करगिल जिले में भी पांच वार्डों में जीत दर्ज की. अधिकारी ने बताया कि क्षेत्र में छह सीटों पर निर्दलीय प्रत्याशियों ने जीत हासिल की. केवल दो सीटों पर परिणाम नहीं आए हैं.

लद्दाख लोकसभा सीट से बीजेपी के थुपस्तान छेवांग सांसद हैं. हालांकि 2014 में राज्य में हुए विधानसभा चुनाव में इस संसदीय सीट के चार विधानसभा क्षेत्रों में से तीन पर कांग्रेस ने जीत दर्ज की थी. चौथी विधानसभा सीट पर एक निर्दलीय विधायक ने जीत दर्ज की थी.

जम्‍मू नगर निगम के चुनावों में बीजेपी ने 43 सीट जीती है. कांग्रेस को 14 और निर्दलीयों को 18 वार्ड मिले हैं. यहां पर कुल 75 वार्ड थे.

वहीं कश्‍मीर घाटी में बीजेपी ने आतंक प्रभावित चार जिलों में 132 में से 53 वार्ड जीते हैं. इसके चलते 20 निकायों में से कम से कम चार में उसका बोर्ड बनेगा. इनमें अनंतनाग, कुलगाम, पुलवामा और शोपियां शामिल है. वहीं कांग्रेस ने तीन निकायों में जीत हासिल की है. शोपियां में भी बीजेपी का प्रदर्शन अच्‍छा रहा. यहां पर उसके 12 उम्‍मीदवार निर्विरोध जीते. देवसार में उसने सभी आठ सीटें जीत लीं. इसी तरह से काजीगुंड में उसे सात में चार, पहलगाम में 13 में से सात सीटें मिलीं. बाकी सीटों पर कोई उम्‍मीदवार खड़ नहीं हुआ.

कांग्रेस ने दूरु निकाय में बड़ी जीत दर्ज की. यहां उसे 17 में से 14 सीट मिली. बीजेपी को दो सीट मिली. इसी तरह, कोकरनाग में आठ में से छह, यारीपोरा में छह में से तीन सीट कांग्रेस ने जीती. बन्‍नीहाल में सभी सीटों पर कांग्रेस का झंडा फहराया. भद्रवाह भी कांग्रेस के पाले में गया. कठुआ और हीरानगर में बीजेपी ने कामयाबी पाई. गंदरबल में निर्दलीयों का दबदबा रहा.

बता दें कि 13 साल बाद राज्य में होने वाले नगरपालिका चुनाव, चार चरणों में आयोजित किए गए थे, जिसमें लगभग 17 लाख मतदाताओं के साथ 79 नगरपालिका निकायों को शामिल किया गया था. 1145 वार्ड के लिए कुल 3372 नामांकन हुए और 8, 10. 13 और 16 अक्टूबर को वोट डाले गए. कश्मीर घाटी में जहां वोटिंग का पर्सेंट काफी कम रहा तो जम्मू और लद्दाख में भारी वोटिंग हुई. कश्मीर के 598 वार्ड में से 231 उम्मीदवार निर्रविरोध जीते. जबकि 181 सीटों पर कोई खड़ा ही नहीं हुआ. पूरे राज्य में वोटिंग प्रतिश 35.1 प्रतिशत रहा.

0 comments      

Add Comment