चक्रवाती तूफान 'अम्फान' के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए पीएम मोदी आज 4 बजे करेंगे बैठक

चक्रवाती तूफान 'अम्फान' के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए पीएम मोदी आज 4 बजे करेंगे बैठक

मीडियावाला.इन।

नई दिल्ली। देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज शाम 4 बजे एक हाई लेवल मीटिंग बुलाई है। जिसमें वह मिनिस्ट्री ऑफ होम अफेयर और राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के लोगों के साथ बैठक करेंगे। यह बैठक देश के कई हिस्सों में चक्रवाती तूफान अम्फान के बढ़ते खतरे को लेकर की जाएगी। बता दें आज मौसम विभाग ने अलर्ट जारी किया है अगले 24 घंटे में अम्फान देश के कई राज्यों में भारी तबाही मचा सकता है।

 

ANI✔@ANI

PM Narendra Modi to chair a high-level meeting with the Ministry of Home Affairs (MHA) and National Disaster Management Authority (NDMA) today at 4 PM, to review the arising cyclone situation in parts of the country. (file pic)

View image on Twitter

483

11:39 PM - May 17, 2020

Twitter Ads info and privacy

90 people are talking about this


24 घंटे में मचा सकता है तबाही
देश में एक तरफ कोरोना वायरस ने अपना कहर बरपाया हुआ है। देश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा अब 95,000 से भी ज्यादा हो गया है। ऐसे में देश के सामने प्रकृति एक बार फिर से नई तबाही के रुप में चक्रवाती तूफान 'अम्फान' को लेकर आई है। मौसम विभाग ने इस तूफान को लेकर देश के कई हिस्सों में अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग का कहना है कि अगले 24 घंटे यह तूफान अम्फान भीषण चक्रवाती तूफान बन सकता है। इसलिए संभावित राज्यों को पूरे तरह से चौकन्ना रहना चाहिए।

यह राज्य ज्यादा होंगे ​प्रभावित​​​​​​
बता दें इस तूफान का ज्यादा प्रभाव उड़ीसा, पश्चिम बंगाल और तमिलनाडु जैसे राज्यों को ज्यादा देखने का मिल सकता है। वहीं विशेष राहत आयुक्त ने पीके जेना ने कहा है कि उन्होंने 11 लाख से ज्यादा लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने का इंतजाम कर लिया है। उनकी टीम उड़ीसा के जगतसिंहपुर, केंद्रपाड़ा, भद्रक और बालासोर जैसे इलाकों में करीबी नजर रखे हुए हैं।

छत्तीसगढ़ -पश्चिम बंगाल -ओडिशा के बीच टकराएगा तूफान
तूफान को लेकर मौसम वैज्ञानिक एएम भट्ट का कहना है कि अंडमान सागर से सक्रिय कल शाम तूफान 18 से 20 मई तक बहुत तेज गति के साथ छत्तीसगढ़ से गुजरते हुए पश्चिम बंगाल और ओडिशा के बीच टकराएगा जिसके कारण उसका पहला असर 36 दक्षिणी छत्तीसगढ़ में देखा जाएगा जबकि इस तूफान का असर 22 मई तक पूरे छत्तीसगढ़ में देखा जा सकता है।

मौसम विभाग का कहना है कि इस तूफान के दौरान हवा की रफ्तार 40 से 50 किलोमीटर होगी। साथ ही कई जगह पर बारिश होने की संभावना है, मौसम विभाग ने बताया कि इसका सबसे खराब है पश्चिम बंगाल झारखंड और दिशा पर होगा जिसका पता सैटेलाइट द्वारा लगाया गया।

Navodaya Times via Dailyhunt

RB

0 comments      

Add Comment