होटल मैनेजमेंट संस्थान पर 13 साल में 23 करोड़ खर्च, एक भी छात्र पास नहीं

होटल मैनेजमेंट संस्थान पर 13 साल में 23 करोड़ खर्च, एक भी छात्र पास नहीं

मीडियावाला.इन।

रायपुर। विधानसभा में प्रश्नकाल के दौरान विधायक अजीत जोगी ने होटल मैनेजमेंट संस्थान में 13 साल में 23 करोड़ खर्च करने के बाद भी एक भी छात्र के पास नहीं होने पर सवाल किया।

मंत्री ताम्रध्वज साहू ने बताया कि संस्थान में भवन निर्माण कार्यों पर 20 करोड़ 71 लाख व्यय किया गया। लैब उपकरण सेटअप पर कोई व्यय नहीं हुआ है. संस्थान की स्थापना से लेकर दिसंबर 2018 तक वेतन भत्तों पर तीन करोड़, 31 लाख स्र्पये भुगतान किया गया। जोगी ने कहा कि मंत्री के उत्तर से जो तस्वीर सामने आई है, वह शर्मसार करने वाली है। 13 साल में 23 करोड़ खर्च करने के बाद भी एक भी व्यक्ति वहां से शिक्षित होकर नहीं निकला।

मंत्री साहू ने कहा कि वर्तमान में बिलासपुर उच्च न्यायालय में प्रकरण था। फैसले का इंतजार कर रहे हैं, ताकि इसका उपयोग किया जा सके। जोगी ने कहा कि उच्च न्यायालय ने ऐसा स्टे नहीं दिया है कि इंस्टीट्यूट चालू ना करें। मान्यता के लिए आवेदन लगाया दिया जाए और लैब स्थापित कर दिया जाए। साहू ने कहा कि कोर्ट में प्रिंसिपल और बाकी गए हैं। तो जोगी ने कहा की कार्यवाही के लिए इंतजार मत करिए। इस पर मंत्री ने कहा कि जो सही कदम होगा उठाया जाएगा।

स्काई वाक की उपयोगिता पर किया जा रहा सर्वे

विधायक डॉ. रेणु जोगी के सवाल के लिखित जवाब में मंत्री ताम्रध्वज साहू ने बताया कि रायपुर में निर्माणाधीन स्काई वाक की कुल लंबाई 1470 मीटर है। इस पर 77 करोड़ 10 लाख का व्यय अनुमानित है। वर्तमान में 50 फीसद निर्माण पूरा हो चुका है और इस पर 36 करोड़ 44 लाख स्र्पये खर्च भी हो चुके हैं। 50 फीसदी निर्माण पूरा हो जाने के बाद अब स्काई वाक की उपयोगिता और अनुपयोगी साबित होने पर इसको ढहाने के साथ अन्य सभी विकल्पों का परिक्षण किया जा रहा है।

छत्तीसगढ़ी कलाकारों का छह करोड़ भुगतान बाकी

अजीत जोगी के सवाल के लिखित जवाब में मंत्री ताम्रध्वज साहू ने बताया कि संस्कृति विभाग की ओर से 2016 से मई 2019 तक लोक कलाकारों के 5981 सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए गए। इसके लिए उन्हें 47 करोड़ 48 लाख का भुगतान किया जाना था, लेकिन उन्हें अभी तक 41 करोड़ एक लाख का भुगतान किया गया है।

छत्तीसगढ़ के लोक-कलाकारों को लगभग 6 करोड़ 47 लाख स्र्पये अभी दिया जाना बाकी है। इसमें वित्तीय वर्ष 2016-17 की बकाया राशि भी शामिल है। छत्तीसगढ़ के बाहर के 101 कलाकारों को सांस्कृतिक कार्यक्रमों के लिए बुलाया गया था। उन्हें तीन करोड़ 61 लाख 81 हजार का पूरा भुगतान कर दिया गया है

विदेशी पर्यटक रायपुर के आसपास सीमित

विधायक डॉ. रेणु जोगी ने ट्राइबल टूरिज्म सर्किट योजना को लेकर सवाल किया। मंत्री ताम्रध्वज साहू ने विधानसभा में बताया कि पिछले दो वर्षों में छत्तीसगढ़ में 23 हजार 625 विदेशी पर्यटक आये, लेकिन अधिकतर पर्यटक रायपुर, दुर्ग, राजनांदगांव, बिलासपुर तक ही सीमित रहे। छत्तीसगढ़ी पर्यटन के प्रचार प्रसार के लिए दिल्ली में सूचना केंद्र स्थापित है। ट्राइबल टूरिज्म सर्किट योजना के तहत पर्यटन विभाग को भारत सरकार से 25 करोड़ स्र्पये की राशि प्राप्त हुई है।naidunia

0 comments      

Add Comment