कोरोना के खिलाफ लड़ाई में उतरी पीएम मोदी की टीम, मंत्रियों को सौंपी गई खास जिम्मेदारी

कोरोना के खिलाफ लड़ाई में उतरी पीएम मोदी की टीम, मंत्रियों को सौंपी गई खास जिम्मेदारी

मीडियावाला.इन।

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुआई में केंद्र सरकार ने कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में केंद्रीय मंत्रियों को अपने-अपने राज्यों का प्रभार संभालने और नेतृत्वकर्ता की भूमिका निभाने के लिए कहा है। इस संबंध में प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) की ओर से सभी मंत्रियों को पत्र भेजे गए हैं।

एक मंत्री ने बताया, 'निर्वाचित जनप्रतिनिधियों से कहा गया है कि वे सुनिश्चित करें कि गरीबों और वंचितों को भोजन मिले, उनके इलाकों में सार्वजनिक वितरण व्यवस्था के तहत संचालित दुकानों में राशन खत्म न हो, स्थानीय बाजारों में जरूरी सामान उपलब्ध रहे और लोगों से उन वस्तुओं के लिए ज्यादा मूल्य न लिया जाए।' एक सूत्र ने मंत्रियों को लिखे गए पत्र का विवरण देते हुए कहा, 'स्थानीय जिलाधिकारी के साथ संपर्क में रहें, सुनिश्चित करें कि जो लोग भी विदेश से लौटे हैं वे क्वारंटाइन नियमों का पालन करें और उन लोगों के आंकड़ें रखें जो कोरोना वायरस से संक्रमित हैं या जिनकी इस बीमारी से मृत्यु हुई है।' मंत्रियों से इस बीमारी के बारे में लोगों में जागरूकता फैलाने के लिए भी कहा गया है।

इन मंत्रियों को बनाया प्रभारी

केंद्रीय मंत्रियों में मुख्तार अब्बास नकवी को झारखंड का प्रभार दिया गया है। नितिन गडकरी और प्रकाश जावडेकर महाराष्ट्र के प्रभारी होंगे। उत्तर प्रदेश का प्रभार राजनाथ सिंह, महेंद्र नाथ पांडेय, संजीव बालियान और कृष्ण पाल गुर्जर को दिया गया है। रविशंकर प्रसाद और रामविलास पासवान को बिहार का प्रभार दिया गया है। जबकि गजेंद्र सिंह शेखावत राजस्थान और पंजाब के प्रभारी होंगे।

गरीबों को मिलता रहे भोजन

निर्वाचित जनप्रतिनिधियों से यह भी सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है कि गरीबों को भोजन प्रदान करने वाले सामुदायिक रसोईघरों को कोई परेशानी न हो। इस कदम की अहमियत इसलिए ज्यादा है क्योंकि प्रधानमंत्री मोदी सुनिश्चित करना चाहते हैं कि देश में यह संक्रमण कम्युनिटी फेज में न पहुंचने पाए। इस मामले में अन्य राजनीतिक दलों के शीर्ष नेतृत्व को भी विश्वास में लिया गया है।

राज्यपालों और उपराज्यपालों को संबोधित कर सकते हैं राष्ट्रपति

देश में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के मद्देनजर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये राज्यपालों और उपराज्यपालों को संबोधित कर सकते हैं। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि इस दौरान राष्ट्रपति उनसे कोरोना महामारी से लड़ने में राज्य सरकारों की मदद करने के लिए कह सकते हैं।

Dainik jagran via Dailyhunt

RB

0 comments      

Add Comment