सेना, चिकित्सा और खेल के लिए विशेष कपड़ा तैयार करेगा भारत, जल्द शुरू होगा राष्ट्रीय तकनीकी कपड़ा मिशन

सेना, चिकित्सा और खेल के लिए विशेष कपड़ा तैयार करेगा भारत, जल्द शुरू होगा राष्ट्रीय तकनीकी कपड़ा मिशन

मीडियावाला.इन।

नयी दिल्ली : भारत जल्द ही चिकित्सा, सैन्य, खेल और कृषि समेत विशिष्ट क्षेत्र के लिए तकनीकी कपड़ा तैयार करेगा. इसके लिए केंद्रीय मंत्रिमंडल ने बुधवार को करीब 1,480 करोड़ रुपये की लागत से राष्ट्रीय तकनीकी कपड़ा मिशन के गठन की मंजूरी दे दी है. इस मिशन का मकसद चिकित्सा और सैन्य जैसे विशिष्ट क्षेत्रों में इस्तेमाल होने वाले तकनीकी कपड़े तैयार करने के मामले में भारत को दुनिया का अगुआ बनाना है. बुधवार को मंत्रिमंडल के बाद कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी ने संवाददाताओं को यह जानकारी दी.

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने एक फरवरी को पेश बजट में राष्ट्रीय तकनीकी कपड़ा मिशन के गठन का प्रस्ताव किया था. इसे 2020-21 से 2023-24 के बीच क्रियान्वित किया जाना है. कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी ने यहां संवाददाताओं से कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में इस आशय का फैसला किया गया.

उन्होंने कहा कि तकनीकी कपड़े में ऐसी सामग्री और उत्पादों का उपयोग होता है, जिससे उसका जरूरत के हिसाब से संबंधित क्षेत्र में इस्तेमाल किया सके. इस प्रकार के कपड़ों का इस्तेमाल कृषि, चिकित्सा, खेल, सैन्य और कई अन्य क्षेत्रों में होता है. तकनीकी कपड़ों के इस्तेमाल से कृषि, बागवानी और मत्स्य के क्षेत्र की उत्पादकता बढ़ाने में मदद मिली है. इसके साथ ही, इससे सेना, अर्द्धसैनिक बलों, पुलिस और सुरक्षा बलों को बेहतर सुरक्षा में मदद मिलती है.

एक सर्वे के अनुसार, 2017-18 में देश में तकनीकी कपड़ों के बाजार का आकार 1,16,217 करोड़ रुपये होने का अनुमान लगाया गया था. वृद्धि की मौजूदा प्रवृत्ति और सरकार की विभिन्न पहल से तकनीकी कपड़ों का बाजार आकार 2020-21 में 2 लाख करोड़ रुपये पहुंच जाने का अनुमान है.

Prabhat Khabar via Dailyhunt

RB

0 comments      

Add Comment