मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में ED ने की पूर्व आईएएस अधिकारी की 27 करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क

मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में ED ने की पूर्व आईएएस अधिकारी की 27 करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क

मीडियावाला.इन।

प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने शनिवार को कहा कि उसने धोखाधड़ी मामले में पूर्व आईएएस अधिकारी बाबूलाल अग्रवाल की 27 करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क की है. ईडी ने कहा कि अग्रवाल की संपत्तियों को एक लोक सेवक द्वारा आपराधिक कदाचार और धोखाधड़ी से संबंधित मामलों में धन शोधन निवारण अधिनियम (PMLA) के प्रावधानों के तहत कुर्क किया गया है.

IANS के मुताबिक, कुर्क की गई संपत्ति में प्लांट और मशीनरी, बैंक खातों में जमा राशि और अग्रवाल व उनके परिवार के सदस्यों की अचल संपत्तियां शामिल हैं. ईडी ने छत्तीसगढ़ की भ्रष्टाचार निरोधक शाखा की तरफ से दर्ज की गई एक FIR के आधार पर मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज किया है.

इसमें बाबूलाल अग्रवाल और उनके परिवार के सदस्यों द्वारा असंबद्ध संपत्ति का खुलासा किया गया है, जो फरवरी 2010 में आयकर विभाग के छापे के दौरान सामने आए थे. सीबीआई ने अग्रवाल और अन्य के खिलाफ कई मामले दर्ज किए हैं और चार्ज शीट दायर की थी.

ईडी की जांच के दौरान, यह पता चला कि अग्रवाल ने अपने सीए और उनके भाई अशोक अग्रवाल और पवन अग्रवाल के साथ मिलकर खरोड़ा, छत्तीसगढ़ और इनके आस-पास के गांवों के भोले-भाले ग्रामीणों के नाम पर 400 से अधिक बैंक खाते खोले थे.

TV9 भारतवर्ष

0 comments      

Add Comment