हर बजट में हैदराबाद शहर के विकास के लिए 10,000 करोड़ रुपये आवंटित करने का वादा

हर बजट में हैदराबाद शहर के विकास के लिए 10,000 करोड़ रुपये आवंटित करने का वादा

मीडियावाला.इन।

तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) के नेता और मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने कहा है कि तेलंगाना राज्य की स्थापना के लिए जन आंदोलन 2001 में शुरू किया गया था, तब एक लंबे संघर्ष के बाद आंध्र प्रदेश राज्य पुनर्घटन के बाद अलग राज्य बना। उन्होंने कहा कि कुछ लोगों ने विभाजन से आपत्ति जताई कि राज्य में बिजली की आपूर्ति नहीं हो पाएगी और अंधेरा हो जाएगा, जबकि अन्य ने आपत्ति की कि पेयजल और पानी की स्थिति मजबूत नहीं, क्योंकि राज्यों के बीच नदी के पानी बंटवारे में तेलंगाना को न्याय नहीं मिलेगा। इन सभी संदेह और मिथकों के बीच लोगों ने तेलंगाना राष्ट्र समिति की पार्टी पर विश्वास किया और उन्हें जनता का आशीर्वाद दिया और सरकार बनी।

ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम (जीएचएमसी) चुनाव के प्रचार के तहत शनिवार को एलबी स्टेडियम में टीआरएस की जनसभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री चंद्रशेखर राव ने कहा कि लोगों के भविष्य को ध्यान में रखते हुए नेता को योजनाओं पर निर्णय लेना चाहिए और तभी लोकतांत्रिक व्यवस्था बहाल होगी। उन्होंने कहा कि राज्य और हैदराबाद के लोगों ने टीआरएस पर भरोसा किया और यही वजह है कि तेलंगाना में अधिकतर नगर निगम चुनाव, स्थानीय निकाय चुनाव और जिला परिषद में उनका पार्टी विजयी रही और 82 विधायक उनकी पार्टी के विधानसभा में प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। आज दूनियाभर में हैदराबाद के नाम का डंका बज रहा है। उनकी पार्टी धर्म और क्षेत्रवाद का भेदभाव किए बिना आगे बढ़ी है। मुख्यमंत्री के जनसभा में घोषणा की कि हर राज्य के हर बजट में हैदराबाद शहर के विकास के लिए 10000 करोड़ रुपये आवंटित किए जाएंगे।

चुनावी घोषणा पत्र का जिक्र करते हुए चंद्रशेखर राव ने कहा कि राज्य के लोगों को 24 घंटे पेयजल पहुंचाना ही हमारा लक्ष्य रहा। दिल्ली और नागपुर में इसको लेकर अध्ययन किया जा चुका है और 20 हजार लीटर पानी तक के सभी बिल रद्द कर देंगे। दिल्ली के बाद देश में तेलंगाना में ही पानी के बिल रद्द किए गए हैं और अब इसे अपार्टमेंट्स के लिए भी लागू करेंगे। राजधानी में 350 बस्ती दवाखाने बनाए गए हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हैदराबाद का विकास वैज्ञानिक और योजनाबद्ध तरिके से नहीं होने और बुनियादी सुविधाओं के बिना कॉलोनियों का निर्माण होने के मुद्दे केंद्र के समक्ष ले जाने के बावजूद इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं हुई है। तालाबों पर अवैध निर्माण और ड्रेनेज की व्यवस्था हैदराबाद में इससे पहले नहीं हुई। जबकि अब विकास हो रहा है और इसको जारी रखना जरूरी है।

मुख्यमंत्री राव ने दावा किया है कि पिछले छह सालों से हैदराबाद में कानून-व्यवस्था बनाए रखने में टीआरएस सरकार पूरी तरह से सफल रही है। उन्होंने कहा कि हम किसी की बातों की परवाह नहीं करते हैं, क्योंकि हैदराबाद का विकास ही हमारा लक्ष्य है। उन्होंने लोगों से एक बार फिर जीएचएमसी चुनाव में टीआरएस को विजय बनाने की अपील करते हुए कहा कि हैदराबाद को बहुत जल्द चुनाव के बाद 7 दिसम्बर से सभी योग्य लोगों को 10 हजार रुपये की सहायता दी जाएगी।

हिंदुस्तान समाचार

0 comments      

Add Comment