सावधानः दिल्ली के बाद कांग्रेस के इस राज्य में कभी भी भड़क सकते हैं दंगें, हाईअलर्ट पर पुलिस

सावधानः दिल्ली के बाद कांग्रेस के इस राज्य में कभी भी भड़क सकते हैं दंगें, हाईअलर्ट पर पुलिस

मीडियावाला.इन।

दिल्ली में हिंसा की आंच राजस्थान तक पहुंच रही है। इसे लेकर सरकार ने प्रदेश भर में जिलों की कमान संभाल रहे पुलिस अधीक्षकों को तैयार रहने को कहा है। उनको कहा गया है कि वे सीएलजी और अन्य माध्यमों से पुलिस को जनता के बीच भेंजे और अपने-अपने जिले में इंटेलीजेंस को भी सर्तक करें और जल्द से जल्द रिपोर्ट तैयार करें। दरअसल दिल्ली में हुए बवाल के बाद राजस्थान में भी सरकार और पुलिस ने विरोध और प्रदर्शनों को लेकर अतिरिक्त तैयारी शुरू कर दी है। सोशल मीडिया पर खासतौर पर नजर रखी जा रही है।

जयपुर में सोशल मीडिया पर दो मामले दर्ज

पुलिस अधिकारियों के अनुसार फसाद की आधी जड़ यानि सोशल मीडिया पर नजर रखने के लिए तो पुलिस ने अतिरिक्त तैयारी की है। इसका असर भी देखने को मिल रहा है। बात राजधानी की ही करें तो राजधानी में ही तीन दिन में दो मुकदमें सोशल मीडिया पर भडकाउ बयानबाजी और मैसेज करने के दर्ज हुए हैं। झोटवाड़ा और शास्त्री नगर थाने में दर्ज हुए इन मुकदमों में पुलिस ने दो लोगों को अरेस्ट भी किया है। दोनो मामलों में समाज विशेष और धर्म विशेष के खिलाफ नकारात्मक मैसेज डाले गए थे।

बांरा में धारा 144 लागू

बांरा जिले में जिला कलेक्टर ने आज से तीस अप्रेल तक धारा 144 लागू की है। इस दौरान जिले में किसी भी सामाजिक, राजनीतिक संगठन और आमजन की ओर से किसी भी तरह के जुलूस, धरने, प्रदर्शन और अन्य सामूहिक कार्य बिना अनुमति के नहीं किए जाएंगे। ऐसा करने पर गंभीर दंड भुगतने होंगे। ऐसा कुछ भी करने से पहले अनुमति लेनी होगी। अनुमति के लिए प्रार्थना पत्र देय होगा, उसके बाद समिति आंकलन कर अपनी रिपोर्ट देगी। इस रिपोर्ट के बाद ही अनुमति पर विचार होगा। गौरतलब है कि विधानसभा के दौरान जयपुर साउथ जिले में भी धारा 144 लागू की गई है।

जोधपुर में नमाज के बाद का मैसेज वायरल, पुलिस हरकत में आई

उधर जोधपुर में गुरुवार को कुछ मैसेज वायरल हुए तो पुलिस हरकत में आई और मैसेज के जरिए ही पुलिस ने उनका जवाब भी दिया। साथ ही पुलिस फोर्स को भी तैयार रहने के लिए निर्देशित किया गया है। दरअसल सोशल मीडिया पर जोधपुर के उदय मंदिर इलाके में कुछ लोगों की ओर से जुम्मे की नमाज के बाद भीड़ जमा करने और सडक़ों पर आने के मैसेज वायरल हो रहे हैं। इस पर पुलिस ने इन मैसेज का जवाब देते हुए लिखा है कि बिना अनुमति कोई भी जूलूस, धरना ओर विरोध किया गया, सडक़ें रोकी गई तो गंभीर कार्रवाई होगी। इससे पहले बीस फरवरी को भी इसी तरह के मैसेज के बाद कुछ लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था।

जयपुर में सीएलजी बैठकें, शांत रहने की अपील

राजधानी जयपुर में पुलिस अधिक सतर्क है। कारण जयपुर में दो जगहों पर सीएए और एनआरसी के विरोध में धरने प्रदर्शन चल रहे हैं। इनके दौरान ही दिल्ली में हिंसा हो गई। इस हिंसा के बाद अब पुलिस समाज विशेष की अधिकता वाले इलाकों में जाकर सीएलजी की बैठकें कर रही है और लोगों से हर हालत में शांति बनाए रखने की अपील कर रही है। अफसरों का कहना है कि सोशल मीडिया के जरिए फैलने वाली किसी भी अफवाह से दूरी बनाए रखें और पुलिस को तुरंत सूचना दें।

जयपुर समेत दस से ज्यादा शहरों में धरने और प्रदर्शन

सीएए और एनआरसी को लेकर जयपुर समेत टोंक, अजमेर, पाली, उदयपुर, कोटा और अन्य शहरों में विरोध और जुलूस निकाले गए हैं। जयपुर और टोंक में तो धरने प्रदर्शन अभी भी जारी हैं। इस बीच दिल्ली में इन्हीं बातों को लेकर होने वाली हिंसा के बाद अब पुलिस ज्यादा सतर्क हो गई है। धरने और प्रदर्शनों पर लगातार नजर बनाए हुए हैं। प्रदेश भर में सीएलजी की बैठकें की जा रही है।

Daily News New via Dailyhunt

RB

0 comments      

Add Comment