वैज्ञानिकों ने खोजा अंटार्कटिका के नीचे पृथ्वी का सबसे गहरा बिंदु

वैज्ञानिकों ने खोजा अंटार्कटिका के नीचे पृथ्वी का सबसे गहरा बिंदु

मीडियावाला.इन।

वैज्ञानिकों ने अंटार्कटिका का नवीनतम स्थलाकृतिक मानचित्र जारी किया है। इसे बेडमशीन परियोजना द्वारा विकसित किया गया, जिसकी सूचना मेशीबल दी है। बेडमशीन अंटार्कटिक की बर्फ की चादर का नया मानचित्र है, जिसे सबसे ज्यादा दुरुस्त माना जाता है। कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय, इरवेने ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर कहा कि यूसीआई की एक टीम के वैज्ञानिकों ने अंटार्कटिका की बर्फ की चादर के नीचे की भूमि की आकृति का अभी तक का सबसे सटीक चित्र का अनावरण किया है। नए निष्कर्षों से वैज्ञानिकों को पर्यावरण बदलावों के प्रभावों का अनुमान लगाने में मदद मिलेगी।

शोधकर्ताओं ने अब महाद्वीप का पर सबसे गहरा बिंदु खोज निकाला है। भूमि पर सबसे निम्नतम उजागर बिंदु, डेड सी शोर के समुद्र तल से 413 मीटर नीचे है। जबकि भूमि पर सबसे निम्नतम बिंदु समुद्र तल से लगभग 3500 मीटर नीचे है। हालांकि, जमीन पर दुनिया की सबसे गहरी घाटी पूर्वी अंटार्कटिका में डेमन ग्लेशियर के नीचे पाई गई थी।

पिछले अध्ययनों के अनुसार घाटी को उथला माना जाता था, लेकिन नए अध्ययन ने इसकी वास्तविक गहराई को उजागर किया है। वैज्ञानिकों ने छिपी हुई घाटी की गहराई का पता लगाने के उसमें भरी हुई बर्फ की मात्रा और लॉ ऑफ कंजर्वेशन का सहारा लिया है।

Dailyhunt

0 comments      

Add Comment