Odisha Train Accident: कोरोमंडल रेल हादसे के बाद एक दिन का राजकीय शोक, गोवा-मुंबई वंदे भारत एक्सप्रेस का उद्घाटन टला!

रेलमंत्री घटना स्थल पर पहुंचे, बचाव कार्य में हेलिकॉप्टर भी लगे।

1333

Odisha Train Accident: कोरोमंडल रेल हादसे के बाद एक दिन का राजकीय शोक, गोवा-मुंबई वंदे भारत एक्सप्रेस का उद्घाटन टला!

Balasore : बालासोर शुक्रवार शाम 7.20 पर तीन ट्रेनें दुर्घटनाग्रस्त हो गईं। बहनागा रेलवे स्टेशन के पास हुए भीषण रेल हादसे में 250 से ज्यादा लोगों की मौत की पुष्टि हो चुकी है। जबकि, 900 से ज्यादा घायल यात्रियों को विभिन्न अस्पतालों में भर्ती कराया गया। इस भीषण ट्रेन हादसे के बाद ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने आज एक दिन के राजकीय शोक की घोषणा की है। वहीं गोवा-मुंबई वंदे भारत एक्सप्रेस का उद्घाटन समारोह रद्द कर दिया गया।

इस रेल हादसे के बाद रेल मंत्री अश्विनी वैष्णवी भी घटनास्थल पर पहुंच गए हैं और वहां चल रहे हैं राहत कार्यों को भी उन्होंने देखा। इसे अब तक का सबसे बड़ा रेल हादसा बताया जा रहा है अनुमान लगाया जा रहा है कि मरने वालों की संख्या 300 तक पहुंच सकती है। राहत और बचाव कार्य में हेलीकॉप्टरों का भी उपयोग किया जा रहा है ताकि घायलों को जल्दी से जल्दी अस्पतालों में पहुंचाया जा सके।

 

ओडिशा के बालासोर जिले में शुक्रवार को एक भीषण ट्रेन हादसा हो गया। यहां, बहनागा रेलवे स्टेशन के पास तीन ट्रेनों की आपस में टक्कर हो गई। ओडिशा के मुख्य सचिव प्रदीप जेना ने बताया कि रेल हादसे में 250 से ज्यादा यात्रियों की मौत हुई। 900 से ज्यादा यात्री घायल हुए। फिलहाल मौके पर राहत बचाव कार्य जारी है। अभी मृतकों की संख्या बढ़ सकती है।
अधिकारियों ने बताया कि ओडिशा के बहनगाबाजार में हावड़ा से बेंगलुरु जा रही 12864 एक्सप्रेस के कई कोच शुक्रवार शाम करीब 7 बजे पटरी से उतरकर साथ वाले ट्रैक पर जा गिरे। इसी दौरान, उस ट्रैक पर 12841 शालीमार-चेन्नई सेंट्रल कोरोमंडल एक्सप्रेस आ गई और पलटे डिब्बों से टकरा गई। इससे कोरोमंडल के कई डिब्बे पटरी से उतर गए और बगल के ट्रैक से गुजर रही मालगाड़ी से टकरा गए। मौके पर पहुंचे स्थानीय लोगों ने यात्रियों को निकालना शुरू किया। बाद में एनडीआरएफ, राज्य सरकार और वायुसेना ने बचाव और राहत कार्य शुरू किया।

सात कोच पलटे, 15 बेपटरी
हादसे में कोरोमंडल एक्सप्रेस के सात कोच पलट गए, चार कोच रेल बाउंड्री के बाहर चले गए। स्थानीय लोगों के अनुसार, कुल 15 डिब्बे पटरी से उतरे।