केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी से दुर्व्यहार करना कांग्रेस पार्टी के दो सांसदों को पड़ा महंगा

केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी से दुर्व्यहार करना कांग्रेस पार्टी के दो सांसदों को पड़ा महंगा

मीडियावाला.इन।

संसद के इस सत्र के दौरान कांग्रेस पार्टी के दो सांसदों को सदन के भीतर केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी से दुर्व्यहार करना कठिन में डाल सकता है। कांग्रेस पार्टी के केरल से सांसद डीएन प्रतापन व डीन कुरियाकोस के विरूद्ध कार्रवाई के लिए ये मुद्दा अब एथिक्स कमेटी के हवाले कर दिया गया है। संसद के सत्र के दौरान कितना कामकाज हुआ इसका ब्यौरा देने के लिए स्पीकर की तरफ से बुलाई गई प्रेस कांफ्रेस में बताया गया कि कांग्रेस पार्टी के सांसदों प्रतापन व डीएन कुरियाकोस के सदन में माफी न मांगने के चलते अब ये मुद्दा एथिक्स कमेटी के हवाले कर दिया गया है।

दरअसल, हैदराबाद इनकाउंटर व उन्नाव बलात्कार केस की चर्चा के दौरान लोकसभा के भीतर अधीर रंजन चौधरी के बोलने के बाद जैसे ही स्मृति इरानी बोल रही ही इसी दौरान उनके बयान से उत्तेजित होकर कांग्रेस पार्टी के सांसद प्रतापन व कुरियाकोस उनकी तरफ आवेश में लपके थे। इस दौरान केंद्रीय मंत्री प्रलाह्द पटेल स्मृति इरानी के बचाव में आये थे।

इस घटना के बाद भाजपा सांसदों ने नाराजगी जताते हुए दोनों ही सांसदों से सदन में माफी की मांग की थी, लेकिन कांग्रेस पार्टी के सांसद माफी मांगने के बजाय सदन में वापस ही नहीं आये थे। लिहाजा, अब आगे की कार्रवाई के लिए लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला ने ये मुद्दा एथिक्स कमेटी को भेजा है वह तय करेगी कि दोनों सांसदों के विरूद्ध क्या कार्रवाई की जाए।

Dailyhunt

0 comments      

Add Comment