मध्य प्रदेश की बंगला पॉलिटिक्स, पूर्व मंत्रियों को मिली राहत, फिलहाल रह सकेंगे बंगले में

मध्य प्रदेश की बंगला पॉलिटिक्स, पूर्व मंत्रियों को मिली राहत, फिलहाल रह सकेंगे बंगले में

मीडियावाला.इन।

भोपाल. मध्य प्रदेश  में छिड़ी बंगला पॉलिटिक्स  में आज नया मोड़ आ गया है. दो दिन पहले पूर्व वित्त मंत्री तरुण भनोत के सील किए गए बंगले को संपदा के अधिकारियों ने खोल दिया. बंगले को खोलने के साथ ही दफ्तर को पूर्व की तरह उनके स्टाफ के सुपुर्द किया गया. साथ ही पूर्व वित्त मंत्री तरुण भनोत को अभी सरकारी बंगले में रहने की मोहलत दी गई है.

खबर है कि सिर्फ भनोत ही नहीं बल्कि जिन पूर्व मंत्रियों को बंगला खाली करने और फिर बेदखली का नोटिस जारी किया गया था, उनको भी कुछ समय के लिए राहत दी गई है.

बंगला खाली करने और बेदखली के नोटिस पर पूर्व मंत्रियों ने सीएम शिवराज को लेटर लिखा था. दरअसल लॉकडाउन के दौरान कमलनाथ सरकार में मंत्री रहे विधायकों को सरकारी आवास खाली करने का नोटिस जारी किया गया था. नोटिस के अगले चरण में पूर्व मंत्रियों को सरकारी आवास से बेदखली का नोटिस भी जारी हुआ था, जिसके बाद खासा सियासी बवाल मच गया था. कांग्रेस ने प्रदेश सरकार के इस कदम को निंदनीय बताते हुए राजनीतिक द्वेष से उठाया गया कदम बताया था. पूर्व मंत्री गोविंद सिंह ने विधायक की पात्रता के मुताबिक आवास नहीं मिलने पर किराए के भवन में शिफ्ट होने की बात कही थी.

अजय सिंह ने की थी निंदापूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने पूर्व मंत्रियों से आवास खाली कराने की निंदा की थी और इस व्यवस्था को गलत परंपरा और राजनीति में सद्भाव खत्म करने की शुरुआत बताया था. ऐसे में खबर इस बात को लेकर है कि फिलहाल किसी पूर्व मंत्री के खिलाफ कार्रवाई नहीं होगी. लेकिन इसको लेकर कोई लिखित आदेश जारी नहीं हुआ है. लेकिन लॉकडाउन के चलते मंत्रियों पूर्व मंत्रियों से बंगले खाली नहीं कराए जाएंगे. लॉकडाउन खत्म होने पर संपदा फिर से कार्रवाई कर सकता है. फिलहाल बीते कुछ दिनों से छिड़ी बंगला पॉलिटिक्स कुछ दिनों के लिए थमती हुई जरूर नजर आ रही है.
 

Dailyhunt

0 comments      

Add Comment