कमलनाथ ने CM शिवराज पर साधा निशाना, कहा- वह सिर्फ झूठ बोलने व गुमराह करने की राजनीति करते हैं

कमलनाथ ने CM शिवराज पर साधा निशाना, कहा- वह सिर्फ झूठ बोलने व गुमराह करने की राजनीति करते हैं

मीडियावाला.इन।

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष कमलनाथ ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर हमला बोलते हुए कहा कि चौहान ने सिर्फ झूठ बोलने, घोषणा करने और गुमराह करने की राजनीति की। उनके 15 साल के शासनकाल में क्या हुआ पूरा प्रदेश जानता है।

पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ ने राजगढ़ के ब्यावरा और अषोक नगर विधानसभा क्षेत्रों में जनसभा को सबोधित करते हुए कहा कि शिवराज अपने 15 साल और वर्तमान सात माह का हिसाब नहीं दे रहे हैं। वे जनता के सामने अपना 15 साल का हिसाब दें और मैं भी अपने 15 माह का हिसाब लेकर सामने आ जाता हूं।

पूर्व मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि चौहान सिर्फ झूठ बोलने, घोषणा व गुमराह करने की राजनीति करते हैं। कलाकारी में माहिर हैं। मैं तो कहता हूं कि मुंबई चले जाओ, शाहरुख खान और सलमान खान को भी एक्टिंग में पीछे छोड़ देंगे। कम से कम एक्टिंग में तो मध्य प्रदेश का नाम रोशन करोगे।

वे कभी मंच पर घुटनों के बल बैठ जाते हैं, कभी कहते हैं कि जनता मेरी भगवान है। अरे प्रदेश की जनता जानती है कि वह आपकी भगवान नहीं ,आपके भगवान तो माफिया हैं। मुख्यमंत्री पर झूठी घोषणाएं करने का आरेाप लगाते हुए कमल नाथ ने कहा 15000 अधूरी घोषणा, आज तक शिवराज की पूरी नहीं हुई।

अब घोषणा कर रहे है कि कोरोना की वैक्सीन सभी को फ्री देंगे,जबकि अभी तो कोरोना की वैक्सीन बनी ही नहीं है। आज की जनता समझदार, युवा मतदाता बेहद समझदार है। उसे अब आप मूर्ख नहीं बना सकते। गुमराह नहीं कर सकते। जनता जानती है कि पिछले सात माह में आपने कोरोना की टेस्टिंग के न प्रबंध किए,न मरीजों के उपचार के लिए अस्पतालो में व्यवस्था की। कई लोगों की मृत्यु हो गयी।

कांग्रेस के सात माह के शासन काल का हिसाब देते हुए कमल नाथ ने कहा कि किसानों का कर्ज माफ किया, माफिया और मिलावटखोर के खिलाफ अभियान चलाया। युवाओं को रोजगार दिया, महिलाओं केा सुरक्षा और सम्मान दिया। सौ रुपए में सौ यूनिट बिजली दी।

कन्या विवाह की राशि बढ़ाई, किसानों को आधी दर पर बिजली दी। गौशालाएं बनाईं। प्रदेश को नई पहचान देकर गुनाह नहीं किया। भाजपा पर आरोप लगाते हुए कमल नाथ ने कहा भाजपा ने सौदेबाजी व बोली से सरकार बना कर प्रदेश को देश भर में कलंकित किया।

भाजपा का तो लक्ष्य है कि पंचायत के भी चुनाव न हो,बोली लगाकर सरपंच चुन लिया जाए। इन्होंने प्रजातंत्र को धनतंत्र में तब्दील कर दिया। यह साधारण उपचुनाव नहीं है । यह तो मध्य प्रदेश के किसानों,युवाओं के भविष्य का चुनाव है। यह थोपा गया उपचुनाव है।

Punjabkesari.com

0 comments      

Add Comment