Rajasthan Loksabha Elections: पहले चरण में हुए कम मतदान से भाजपाइयों के चेहरों पर उभरी चिंता की लकीरें 

दूसरे चरण के लिए PM नरेन्द्र मोदी का चुनाव प्रचार अभियान बांसवाड़ा से होगा शुरू

426

Rajasthan Loksabha Elections: पहले चरण में हुए कम मतदान से भाजपाइयों के चेहरों पर उभरी चिंता की लकीरें 

 

गोपेन्द्र नाथ भट्ट की रिपोर्ट 

लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण को लेकर भाजपा और कांग्रेस तथा अन्य दल अपने चुनाव प्रचार अभियान को तेज धार देने में जुट गए है और लोकसभा चुनाव को लेकर सभी पर्टियों के मैराथन दौरे लगातार जारी है। भाजपा और कांग्रेस सहित सभी पार्टियां अपने दिग्गजों के जरिए चुनावी रण को मजबूत करने में जुटी हुई है।

 

पहले चरण के बाद अब दूसरे चरण के चुनाव के लिए बिना कोई देरी किए सभी दल प्रचार अभियान की गति को बढ़ा रहें है। हालांकि अन्य पार्टियों के मुकाबले भारतीय जनता पार्टी इसमें सबसे आगे है।

 

इस चुनावी घमासान के मध्य प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को बांसवाड़ा दौरे पर रहेंगे। राजस्थान में दूसरे चरण के लोकसभा चुनाव के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के चुनाव प्रचार अभियान का श्री गणेश भी बांसवाड़ा से ही शुरू होगा । प्रथम चरण के मतदान के बाद प्रधानमंत्री मोदी का यह राजस्थान में पहला दौरा होंगा। प्रधानमंत्री रविवार को दोपहर 1 बजे हेलीकॉप्टर से बांसवाड़ा शहर के खेल स्टेडियम पहुंचेंगे जहां वे कॉलेज मैदान में आयोजित सभा को संबोधित करेंगे। इस मौके पर मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा, बांसवाड़ा-डूंगरपुर लोकसभा सीट के प्रत्याक्षी महेंद्र जीत सिंह मालवीय तथा भाजपा पदाधिकारीगण भी मौजूद रहेंगे।

 

दक्षिणी राजस्थान की बांसवाड़ा डूंगरपुर सीट भाजपा के लिए प्रतिष्ठा का सवाल बन गई है। इस सीट पर कांग्रेस ने इंडिया गठबंधन की तरफ से भारतीय आदिवासी पार्टी (बाप) के साथ समझौता किया है, इस कारण बाप के उम्मीदवार राजकुमार रोत भाजपा को कड़ी टक्कर दे रहे हैं। बाप पार्टी की बढ़ती ताकत से भाजपा भी भयभीत है । इसी कारण प्रधानमंत्री मोदी को सीमावर्ती बांसवाड़ा लाकर भाजपा राजस्थान,मध्य प्रदेश और गुजरात के आदिवासी वोटों को साधना चाह रही है।

 

इधर राजस्थान में वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव के मुकाबले इस बार कम मतदान होने से भी भाजपा की चिंताऐं बढ़ गई है और प्रदेश में यह चर्चा चल पड़ी है कि क्या इस बार भाजपा राजस्थान में अपने विजय अभियान की लगातार तीसरी जीत (हैट्रिक) पूरी कर पाएगी अथवा नहीं? इसे देखते हुए भाजपा इस बार भी कोई कसर बाकी रखना चाहती है।

 

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के चाणक्य माने जाने वाले केन्द्रीय मंत्री अमित शाह भी पहले चरण के मतदान वाले दिन से ही लगातार राजस्थान के मैराथन दौरे पर है। शुक्रवार को शाह ने पाली संसदीय क्षेत्र में आमसभा और उदयपुर शहर में रोड शो करने के बाद शनिवार को कोटा में लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला एवं भीलवाड़ा क्षेत्र में भाजपा प्रत्याशी दामोदर अग्रवाल के समर्थन में चुनावी जन सभाओ को संबोधित किया।

 

शाह ने दावा किया कि शुक्रवार को सम्पन्न हुए पहले चरण के चुनाव के बारे में कहा कि आप सभी को मैं उसका परिणाम भी बता देता हूं कि प्रदेश में प्रथम चरण में हुए चुनाव में 12 की 12 सीट हम जीत गए हैं। साथ ही राजस्थान में हम 25 सीटों पर हैट्रिक लगाने जा रहे हैं।

 

उन्होंने कांग्रेस पर तंज कसा कि अशोक गहलोत अपने बेटे वैभव गहलोत के प्रचार में लगे हुए हैं लेकिन उनका बेटा गहलोत इस बार भी चुनाव हार रहा हैं। यह चुनाव दो खेमों में बंटा हुआ है एक ओर 12 लाख करोड़ का घोटाला करने वाली कांग्रेस पार्टी हैं और दूसरी तरफ प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी हैं।

 

अमित शाह ने शिक्षा नगरी कोटा में भाजपा प्रत्याशी ओम बिरला के समर्थन में सभा में बोलते हुए कहा कि कांग्रेस ने केवल गरीबी हटाओ का नारा दिया लेकिन पीएम मोदी ने 25 करोड़ लोगों को गरीबी से बाहर निकाला है। कांग्रेस वाले अबकी बार भाजपा के 400 पार नारे के कारण घबराए हुए है तथा आरक्षण हटाने की अफवाहें फैला रहे है,लेकिन जब तक भाजपा का एक-एक कार्यकर्ता जिंदा हैं, हम कांग्रेस को आरक्षण हटाने नहीं देंगे। ओबीसी वर्ग की तो सबसे बड़ी दुश्मन ही कांग्रेस पार्टी हैं। उनके पास कोई विजन नही है सिर्फ और सिर्फ परिवारवाद ही है।

 

शाह ने कहा कि कांग्रेस पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना (ईआरसीपी) का पानी कोटा-बूंदी को नहीं मिलने की अफवाह फैला रही है, लेकिन मैं आपको गांरटी देता हूं कि ईआरसीपी का पानी कोटा-बूंदी को अवश्य मिलेगा। ये गांरटी मोदी की गांरटी की भी गांरटी है।

 

चुनाव प्रचार की इस कड़ी में उत्तर प्रदेश के मुख्य मंत्री योगी आदित्यनाथ भी शनिवार को जोधपुर दौरे पर रहें,जहां उन्होंने पार्टी प्रत्याशी और केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत के समर्थन में रोड़ शो किया। इस दौरान उनके साथ गजेंद्र सिंह शेखावत, जीव जंतु बोर्ड के अध्यक्ष जसवंत सिंह विश्नोई, भाजपा नेता शंभू सिंह खेतासर, भोपाल सिंह बडला, भाजपा विधायक देवेंद्र जोशी, अतुल भंसाली और शहर भाजपा अध्यक्ष देवेंद्र सालेचा आदि भी मौजूद रहे।

 

उधर पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कांग्रेस प्रत्याशियों के समर्थन में उदयपुर और चित्तौड़गढ़ के दौरे किए। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गोविन्द सिंह डोटासरा ने झालावाड़-बारां के छीपाबड़ौद में आमजन से कांग्रेस प्रत्याशी उर्मिला जैन भाया को विजयी बनाने का आह्वान किया।

 

उल्लेखनीय है कि देश में 19 अप्रैल को हुए प्रथम चरण के चुनाव के बाद अब 26 अप्रैल को दूसरे चरण का मतदान होना है जिसमें राजस्थान की 13 सीटों पर प्रत्याशियों का भाग्य का फैसला भी होगा,जबकि सात चरणों में हो रहे लोकसभा चुनावों के लिए देश भर में 1 जून तक मतदान के विभिन्न चरण जारी रहेंगे लेकिन दूसरे चरण की वोटिंग के बाद राजस्थान की सभी 25 लोकसभा सीटों के लिए चुनाव का कार्य संपन्न हो जाएगा। लोकसभा की सभी सीटों के लिए 4 जून को एक साथ मतगणना होने के साथ ही चुनाव परिणाम सामने आएंगे।

 

भाजपा के शीर्ष नेताओं के धुंआधार राजस्थान दौरे के कार्यक्रमों को देखते हुए अब यह देखना दिलचस्प होंगा कि लोकसभा के दूसरे चरण के चुनाव के लिए कांग्रेस के कितने बड़े नेता मरुभूमि की ओर कूच करेंगे?