Reached Office Wearing Half Pants : राजस्थान बोर्ड का एक अधिकारी हाफ पैंट पहनकर दफ्तर पहुंचा, सस्पेंड कर दिया गया!

कर्मचारियों से हाथापाई की, गालियां बकी, सबको ओशो के प्रवचन सुनाए!

472

Reached Office Wearing Half Pants : राजस्थान बोर्ड का एक अधिकारी हाफ पैंट पहनकर दफ्तर पहुंचा, सस्पेंड कर दिया गया!

Ajmer : इसे किसी ऑफिसर का मानसिक विचलन कहें या सनक, कारण जो भी हो पर कई बार ऐसा करना उसे मुश्किल में डाल देता है। राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के सेक्शन ऑफिसर राजेश टेकचंदानी भी अपनी अजीब हरकत की वजह से परेशानी में पड़ गए और उन्हें सस्पेंड कर दिया गया। वे सोमवार को हाफ पैंट शर्ट में ही ऑफिस पहुंच गए। वहां उन्होंने हंगामा किया और ओशो के प्रवचन देने लगे।

बोर्ड के अनुभाग अधिकारी राजेश टेकचंदानी सोमवार को हाफ पैंट और शर्ट पहनकर ऑफिस में पहुंच गए। जहां उन्होंने हंगामा खड़ा कर दिया। इस बीच टेकचंदानी ने दूसरे कर्मचारियों के साथ हाथापाई और बदतमीजी की। इस हरकत के बाद राजेश टेकचंदानी को बोर्ड सचिव कैलाश चंद शर्मा ने सस्पेंड कर दिया।

IMG 20240530 WA0008

इस घटना के वायरल हुए वीडियो में माध्यमिक शिक्षा बोर्ड अनुभाग अधिकारी ओशो के प्रवचनों से प्रभावित नजर आए। वीडियो में वे यह कहते नजर आ रहे हैं कि वह समाज को कुछ देने निकले हैं। सब लेना चाहते हैं, तो ठीक है। वरना ओशो गुरु जी ने सिखाया है, जहां के नियम हो उसकी आपको पालना करनी है। ऐसा हाथ जोड़कर कहते हुए टेकचंदानी नजर आए।

बोर्ड अधिकारियों के भी अधिकारी बताया

राजेश टेकचंदानी हाफ व्हाइट टी-शर्ट लाइट ग्रीन कलर का हाफ पैंट सिर पर काले रंग की टोपी पहनकर कार्यालय पहुंचे।लगा कि टेकचंदानी ऑफिस नहीं, पिकनिक स्पॉट पर आए हो। वह सबसे पहले बोर्ड के निदेशक शैक्षिक राकेश स्वामी के कक्ष पहुंचे। जहां अधिकारियों से भी अपने आपको बड़ा अधिकारी बताते हुए उन्होंने कहा कि बोर्ड अधिकारी समझते हैं कि वह उनके कर्मचारी हैं। जबकि, वे इनसे भी बड़े अधिकारी हैं। वह चाहे सेक्रेटरी साहब हो, अध्यक्ष साहब हो या स्वामी जी हो। वायरल वीडियो में टेक चंदानी यह बोलते भी नजर आ रहे हैं कि बोर्ड में ड्रेस कोड लागू होना चाहिए। उनकी यहां तीन बहन भी काम करती हैं, वह भी इस तरह के कपड़े पहन कर आएंगी।

हरकत के बाद टेक चंदानी सस्पेंड

इस वजह से हंगामा बढ़ते देख बोर्ड कार्यालय में टेकचंदानी की इस हरकत को देखने के लिए बड़ी संख्या में कर्मचारी राकेश स्वामी के कक्ष के बाहर जमा हो गए। यह खबर बोर्ड सचिव कैलाशचंद शर्मा तक पहुंची। उसके बाद वीडियो को देखने के बाद तुरंत बोर्ड प्रशासन ने टेकचंदानी को सस्पेंड कर दिया गया। टेकचंदानी के विरुद्ध गंभीर आरोपों की जांच राजस्थान असैनिक सेवाओं के अंतर्गत की गई है। उनका निलंबन काल बोर्ड के संस्थापन शाखा होगा, जहां उन्हें अपनी उपस्थिति देनी होगी।