Review of Departments from Today : 5 दिन की देरी के बाद सरकार आज काम पर लौटेगी, CS और बड़े अफसरों के साथ मीटिंग!

कार्ययोजना और समीक्षा के साथ फील्ड में नए चेहरों की पोस्टिंग पर भी चर्चा होगी!

248

Review of Departments from Today : 5 दिन की देरी के बाद सरकार आज काम पर लौटेगी, CS और बड़े अफसरों के साथ मीटिंग!

Bhopal : करीब 2 महीने तक लोकसभा चुनाव में 200 से ज्यादा सभाएं, 60 से अधिक रोड शो करने के बाद मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव अब सरकारी काम पर लौट रहे हैं। यह कवायद 5 दिन पहले शुरू होने वाली थी, पर उत्तरप्रदेश और महाराष्ट्र में चुनाव प्रचार के कारण ये निर्धारित मीटिंग टल गई थी। मुख्यमंत्री सबसे पहले विभागों को दिए टारगेट की समीक्षा करेंगे। इसके लिए आज 21 मई से समीक्षा अभियान शुरू किया जा रहा है। इनमें से कई काम ऐसे हैं जिनके लिए सरकार को चुनाव आयोग की इजाजत लेना पड़ेगी। क्योंकि, अभी चुनाव आचार संहिता लागू है।

गौरतलब है कि प्रदेश में मुख्यमंत्री पद की कमान संभालते ही डॉ मोहन यादव ने सबसे अधिक सुशासन और विकास पर फोकस किया था। इसके लिए उन्होंने विभागों को टारगेट भी दिया था। हालांकि, इसके लिए सरकार को चुनाव आयोग की अनुमति लेना पड़ेगी। 16 मार्च को लोकसभा चुनाव की आचार संहिता लगने के साथ ही मुख्यमंत्री सरकारी कामों से अलग हो गए थे। अब, जबकि प्रदेश में चौथे और आखिरी चरण का मतदान हो गया, तो मुख्यमंत्री एक बार फिर से सरकारी कामकाज में जुटेंगे। मुख्यमंत्री की पहली प्राथमिकता विभागों को दिए लक्ष्य का आकलन करना है। इसलिए उन्होंने अब विभागों के कामकाज की समीक्षा शुरू करेंगे।

ये होंगे समीक्षा के मुद्दे

मंत्रालयीन सूत्रों के अनुसार मुख्यमंत्री की समीक्षा के प्रमुख विषय होंगे गेहूं खरीदी तथा भुगतान की स्थिति, खरीफ की बुवाई के लिए खाद-बीज की स्थिति, सिंहस्थ 2028 तथा शिप्रा नदी की सफाई के लिए अब तक किए गए कार्य की समीक्षा। इसके अलावा मिशन 2047 के लिए मध्यप्रदेश में की गई तैयारियों की समीक्षा तथा केन्द्र सरकार को भेजी जाने वाली रिपोर्ट पर चर्चा। विभागों का एक साल, दो साल, तीन साल व पांच साल के कामकाज के रोडमैप पर चर्चा, भाजपा के संकल्प पत्र के कार्यों की समीक्षा और मुख्यमंत्री द्वारा संभागवार की गई समीक्षा में दिए गए निर्देशों के पालन प्रतिवेदन पर चर्चा होगी।

दो माह चुनाव में रहे व्यस्त

प्रदेश में लोकसभा का चुनाव खत्म हो गया। अब सरकार नियमित कामकाज शुरू करेगी। इसके लिए राज्य सरकार चुनाव आयोग से अनुमति लेने पर भी विचार कर रही है। ताकि दो माह से बंद पड़े सरकार के कामकाज शुरू हो सके। मुख्यमंत्री की बिहार व उत्तरप्रदेश में कई चुनावी सभाएं होना है। इस बीच मुख्यमंत्री समय निकालकर हर रोज दो घंटे सरकारी कामकाज भी करेंगे।

शुरुआत अधिकारियों की बैठक से

जानकारी के अनुसार, मुख्यमंत्री ने आज मुख्य सचिव वीरा राणा तथा विभिन्न विभागों के अपर मुख्य सचिव तथा प्रमुख सचिवों की बैठक बुलाई है। बैठक में मुख्यमंत्री पिछले दो माह में किए गए कार्यों की समीक्षा करेंगे। इसके बाद विभागवार समीक्षा कर आगे के रोडमैप पर चर्चा करेंगे। इसके लिए सभी विभागों की अलग-अलग बैठक कर निर्देश देंगे। मुख्यमंत्री का पहला लक्ष्य डिलीवरी सिस्टम को ठीक करना है। इसमें जो कमियां है, उसे कैसे दूर किया जा सकता है। ताकि आमजनता की सरकार की योजनाओं का नियमानुसार समय पर लाभ मिल सके।

उल्लेखनीय है कि जमीनी स्तर पर सरकार के कामकाज को बेहतर बनाने के लिए मुख्यमंत्री ने संभागवार एसीएस तथा एडीजी को जिम्मेदारी दी थी और खुद संभागवार समीक्षा कर निर्देश दिए थे। अधिकारियों ने अपनी रिपोर्ट मुख सचिव वीरा राणा को सौंप दी है।