Saved Life of Female Passenger : ट्रेन में महिला यात्री को सांस की तकलीफ हुई, सीसीटीई ने जान बचाई!

306

Saved Life of Female Passenger : ट्रेन में महिला यात्री को सांस की तकलीफ हुई, सीसीटीई ने जान बचाई!

नीमच स्‍टेशन पर ऑन ड्यूटी टिकट चेकिंग स्‍टाफ की सजगता से समय रहते यात्री को बचाया!

Indore : रेलवे के कर्मचारी अपने रोजाना के कार्यों के साथ ही अपनी सजगता एवं सतर्कता दर्शाते कई अनचाही संभावित घटनाओं को रोकने का काम भी तत्परता से करते हैं। इससे उस कर्मचारी को प्रशंसा तो मिली ही है, रेल प्रशासन के प्रति भी लोगों की सोच में सकारात्मकता आती है।

इस क्रम में 29 अप्रैल को गाड़ी संख्‍या 19315 इंदौर-असारवा ट्रेन के एस-3 कोच के सीट क्रमांक 48 पर मेघा नाम की लड़की उज्‍जैन से हिम्‍मतनगर तक यात्रा कर रही थी। इस लड़की द्वारा 29 अप्रैल को रात्रि 23.53 बजे रेल मदद के माध्‍यम से वणिज्‍य कंट्रोल को मैसेज मिला कि उसे सांस में तकलीफ हो रही है। गाड़ी नीमच पहुंचने ही वाली थी। वाणिज्‍य कंट्रोल ने इसकी सूचना तत्‍काल ऑन ड्यूटी स्‍टेशन मास्‍टर (नीमच) को दी।

WhatsApp Image 2024 05 01 at 19.40.06

उस दिन रात्रि ड्यूटी में रामेश्‍वर मीणा सीसीटीई के पद पर कार्यरत थे। जैसे ही इस बात की सूचना मीणा को लगी वे तुरंत प्‍लेटफॉर्म क्रमांक-2 पर गए। गाड़ी के नीमच पहुंचने तक यात्री अचेत हो गई थी। अन्‍य यात्रियों एवं स्‍टाफ की सहायता से संबधित महिला यात्री को कोच से बाहर निकालकर उसे 4-5 बार सीपीआर दिया गया, तो लड़की होश में गई। इस समय के दौरान एम्‍बुलेंस भी बुला लिया गया। तत्‍काल यात्री को एम्‍बुलेंस में बैठाकर जिला चिकित्‍सालय नीमच भेजा गया। रेल कर्मचारी मीणा की सजगता और तत्‍काल प्रयास से एक महिला यात्री की जान बच सकी।