फेफड़ें तो नहीं हो गए कमजोर, जानें घर बैठे मिनटों में इन खास तीन तरीकों से

फेफड़ें तो नहीं हो गए कमजोर, जानें घर बैठे मिनटों में इन खास तीन तरीकों से

मीडियावाला.इन।

कोरोना वायरस ने फेफड़ों को लेकर ज्यादा चिंता बढ़ा दी है. जैसा कि कोरोना, मरीजों के फेफड़ों पर अपना प्रभाव बनाता है जिस कारण मरीज की स्थिति देखते देखते बदतर हो जाती है.

नई दिल्ली: हर इंसान अपने जीवन में कभी ना कभी किसी ना किसी कारण बीमर पड़ ही जाता है. कई बार छोटी आम बीमारियों का शिकार हो जाता है तो कई बार जानलेवा बीमारियों का. इंसान के शरीर को स्वस्थ्य रखने के लिए कई महत्वपूर्ण चीज़ों का अपनी जीवनशैली में उतारना जरूरी होता है.

रोजाना तौर पर एक्सरसाइज, खान पान पर ध्यान, खराब आदतों से दूर रहना ये कुछ तरीके हैं जिसको अपने रहन सहन में शामिल करने से काफी हद तक आप स्वस्थ रह सकते हैं. लेकिन वहीं, कई बार जानलेवा बीमारियों का शिकार भी लोग हो जाते हैं. फेफड़ों का हेल्दी रहना शरीर के लिए काफी अहम माना जाता है. वहीं, कोरोना वायरस ने फेफड़ों को लेकर ज्यादा चिंता बढ़ा दी है. जैसा कि कोरोना, मरीजों के फेफड़ों पर अपना प्रभाव बनाता है जिस कारण मरीज की स्थिति देखते देखते बदतर हो जाती है.

ऐसे में ये जानना जरूरी हो जाता है कि क्या आपके फेफड़े स्वस्थ हैं या नहीं. आज हम आपको बताएंगे कि कैसे आप जान सकते हैं कि कितने स्वस्थ हैं आपके फेफड़ें.

1- सबसे पहले तो आपको अपनी सांस पर गौर करना है. अगर आपकी सीढ़िया चढ़ने, तेज चलने या घर के काम करने के दौरान सांस फूलती है तो आप समझ जाइये कि आपके फेफड़े कमजोर हो चुके हैं. आपको तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए.

2- मौसम में बदलाव के कारण कई बार हम खांसते हैं लेकिन अगर आपकी खांसी 8 हफ्तों से अधिक वक्त से लागातार हो रही है तो आपको तुरंत डॉक्टर से अपनी जांच करानी चाहिए.

3- अगर आपको खांसते-छींकते वक्त सीने में दर्द होता है या सांस लेने के दौरान हल्का दर्द महसूस हो रहा है तो ये लक्षण सीधेतौर पर इशारा कर रहे हैं कि आपको तुरंत अपना इलाज करना चाहिए. इससे पहले आपके फेफड़े और कमज़ोर हो जाए और आप किसी बीमारी की चपेट में आ जाए. ABP Live RB

 

0 comments      

Add Comment