सोनिया अपने बेटे को प्रधानमंत्री, ममता बनर्जी अपने भतीजे को मुख्यमंत्री बनाना चाहती हैं,भोपाल में वृहद प्रबुद्धजन सम्मेलन में अमित शाह

घमंडिया गठबंधन के नेता नहीं चाहते कि एक गरीब, चाय वाले का बेटा प्रधानमंत्री बने,बीस सालों से कांग्रेस कर रही अपने राजकुमार को लांच करने की जुगाड़- कहा -अमित शाह ने

266

सोनिया अपने बेटे को प्रधानमंत्री, ममता बनर्जी अपने भतीजे को मुख्यमंत्री बनाना चाहती हैं,भोपाल में वृहद प्रबुद्धजन सम्मेलन में अमित शाह

भोपाल। हम पहली बार जब 2014 में मध्यप्रदेश आए थे, तब यहां की जनता ने भाजपा को 29 में से 27 सीटें दीं। दूसरी बार 29 में से 28 सीटें दीं। मैं आज आपको रिक्वेस्ट करने आया हूं, इस बार एक सीट की कमी मत रखिए, 29 की 29 सीटें मोदी जी की झोली में डाल दीजिए। आप प्रबुद्धजन सिर्फ मत नहीं देते, जनमत का निर्माण करते हैं। इसलिए आप सभी लोग मोदी जी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी का समर्थन कीजिए और 400 पार का जो नारा मोदी जी ने दिया है, उसे सार्थक कर दीजिए, हम वादा करते हैं कि हम भारतमाता को विश्वगुरु के आसन पर प्रतिष्ठित करेंगे, भारत को दुनिया का नं.1 देश बनाएंगे। भारतीय जनता पार्टी इसी के लिए बनी है और हमारा जीवन इसी लक्ष्य को समर्पित है। हमारे करोड़ों कार्यकर्ता इसी राह पर चलेंगे और देश को महान बनाएंगे, बस आपके आशीर्वाद की अपेक्षा है। यह बात केंद्रीय गृहमंत्री श्री अमित शाह जी ने रविवार को कुशाभाऊ ठाकरे सभागार में अमृतकाल में राष्ट्रोदय विषय पर वृहद् प्रबुद्धजन सम्मेलन को संबोधित करते हुए कही। सम्मेलन को मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव एवं प्रदेश अध्यक्ष व सांसद श्री विष्णुदत्त शर्मा ने भी संबोधित किया।

सरकार के कामों का हिसाब-किताब देने आया हूं
श्री शाह ने कहा कि वर्ष 2024 सारी दुनिया में लोकतंत्र के पर्व का वर्ष है। दुनिया की 40 प्रतिशत आबादी चुनाव करने जा रही है। भारत भी चुनाव की प्रक्रिया से गुजरने वाला है और देश के 100 करोड़ मतदाता यह तय करेंगे कि देश के शासन की धुरी किस व्यक्ति के हाथ में रहेगी, किस पार्टी और विचारधारा के हाथ में रहेगी। श्री शाह ने कहा कि जब जनसंघ के रूप में भारतीय जनता पार्टी की स्थापना हुई, तब से लेकर अब तक हमने कभी चुनाव को सत्ता प्राप्ति का माध्यम नहीं माना। हमने इसे लोकतंत्र के उत्सव के रूप में स्वीकार किया है, माना है और मनाया है। हमने चुनाव को जनसंपर्क का जरिया माना है। अपने सिद्धांतों और विचारधारा को जनता के पास ले जाने का जरिया माना है। हमने चुनाव को जनता को अपनी उपलब्धियों और काम का हिसाब-किताब देने का जरिया माना है और इसीलिए देश के हर लोकसभा क्षेत्र में पार्टी का कोई न कोई नेता जाकर संपर्क कर रहा है। इसी कड़ी में आप प्रबुद्धजनों के साथ संवाद हो रहा है।

मोदी जी ने की ’पॉलिटिक्स ऑफ परफारमेंस’ की स्थापना
श्री शाह ने कहा कि लोकतंत्र के अंदर अगर मत निर्माण की प्रक्रिया ना हो तो लोकतंत्र में आत्मा ही नहीं रहती। दुर्भाग्य से हमारे देश में आजादी के बाद जितने भी चुनाव हुए, वे सारे चुनाव जातिवाद, परिवारवाद, तुष्टिकरण और भ्रष्टाचार से प्रेरित रहे। कहीं जातिवाद से जनमत को प्रभावित किया गया, कभी परिवारवाद से जनमत को प्रभावित किया गया, कहीं तुष्टिकरण से जनमत को प्रभावित और संग्रहित किया गया और कहीं भ्रष्टाचार के पैसों से जनमत को कलर्ड करने का प्रयास किया गया। हमारे देश का लोकतंत्र इन चार नासूरों के बीच में पलता रहा। लेकिन नरेंद्र मोदी जी ने 10 ही साल के अंदर चारों नासूरों को समाप्त कर इनकी जगह ’पॉलिटिक्स ऑफ परफारमेंस’ की स्थापना की। आज देश सच्चे लोकतंत्र की दिशा में जा रहा है।

भारत को सम्मान नहीं दिला सकते, परिवार के सम्मान की सोचने वाले
श्री शाह ने कहा कि महाभारत युद्ध की तरह इस चुनाव में भी दो धड़े आमने-सामने हैं। एक तरफ देशभक्तों की टोली जैसी भारतीय जनता पार्टी है, दूसरी तरफ सात परिवारवादी पार्टियों का गठबंधन है। कौन है ये इंडिया गठबंधन? घमंडिया गठबंधन में वही लोग शामिल हैं, जिनको अपने परिवार पर घमंड है। जो यह नहीं मानते कि देश में एक गरीब, चाय बेचने वाले का बेटा प्रधानमंत्री, प्रधानसेवक बन सकता है। वो यह मानते हैं कि प्रधानमंत्री पद उन लोगों की थाती है, जो एक बड़े परिवार में जन्म लेते हैं। अगर इन सातों पार्टियों का एनालिसिस करें, तो ये सभी परिवारवादी हैं। सोनिया गांधी अपने बेटे को प्रधानमंत्री बनाना चाहती हैं। शरद पवार जी अपनी बेटी को मुख्यमंत्री बनना चाहते हैं। ममता बनर्जी अपने भतीजे को मुख्यमंत्री बनना चाहती हैं। लालू जी अपने बेटे को मुख्यमंत्री बनाना चाहते हैं। स्टालिन भी अपने बेटे को मुख्यमंत्री बनाना चाहते हैं और मुलायम सिंह के बेटे फिर से मुख्यमंत्री बनना चाहते हैं। श्री शाह ने कहा कि मैं भोपाल के प्रबुद्धजनों को यह बताना चाहता हूं कि जो अपने बेटे-बेटियों, भतीजे-भतीजियों को मुख्यमंत्री-प्रधानमंत्री बनाना चाहते हैं, वह भारत के गरीबों की चिंता नहीं कर सकते, भारत को दुनिया में सम्मान नहीं दिला सकते। भारत को विश्व में सम्मान वही व्यक्ति दिला सकता है, जिसके जीवन का क्षण-क्षण और शरीर का कण-कण मां भारती को समर्पित हो।

आप तीसरा जनादेश दीजिए, भारत दुनिया की तीसरी अर्थव्यवस्था बन जाएगा
श्री शाह ने कहा कि आपको जिन लोगों के बीच चुनाव करना है, उसमें एक वो लोग हैं, जो परिवार के लिए जीते हैं और दूसरे वो लोग हैं जो देश के लिए जीते हैं। ये पारदर्शिता का जमाना है और आप स्वयं यूपीए सरकार के 10 साल और एनडीए सरकार के 10 सालों की तुलना कर सकते हैं। कांग्रेस ने 10 साल में 12 लाख करोड़ के घपले-घोटाले किए। नरेंद्र मोदी जी पर 10 साल में चार आने के भ्रष्टाचार का भी कोई आरोप नहीं लगा सकता। कांग्रेस के दस सालों में माता-बहनों का सम्मान असुरक्षित था, देश की सीमाएं असुरक्षित थीं। हजारों करोड़ के घोटालों से देश का अर्थतंत्र रसातल में चला गया था। देश का सम्मान पाताल तक पहुंच गया था। मोदी सरकार के 10 सालों के बाद आज किसी की हिम्मत नहीं कि देश की सीमाओं की तरफ देख सके। देश का अर्थतंत्र आजादी के बाद सबसे ज्यादा ऊंचाई पर है। अटल जी की सरकार अर्थव्यवस्था को 11वें नंबर पर छोड़कर गई थी। कांग्रेस के 10 सालों में यह 11 वें नंबर पर ही रही। मोदी जी की सरकार ने 10 साल के अंदर अर्थतंत्र को 11 नंबर से पांचवें नंबर पर लाने का काम किया। श्री शाह ने कहा कि यह मोदी जी की गारंटी है कि आप तीसरा जनादेश दीजिए और देश दुनिया में तीसरे नंबर की अर्थव्यवस्था बन जाएगा।

मोदी जी ने जगाया देश का सोया आत्मविश्वास
श्री शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री मोदी जी ने भ्रष्टाचार और आतंकवाद का सफाया कर देश को तेज गति से विकास के रास्ते पर ले जाने का काम किया है। लद्दाख से लक्षद्वीप तक, पूर्वोत्तर से पंजाब तक, किसान से विज्ञान तक, सेल्फ हेल्प ग्रुप से लेकर स्टार्टअप तक और सहकारिता से स्पेस तक हर क्षेत्र में नए आयाम गढ़े। डॉ. मनमोहन सिंह जी की सरकार के बारे में कहा जाता था कि देश को पॉलिसी पैरालिसिस हो गया है, लेकिन प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने 40 प्रकार की नीतियां बनाई। 30 साल के बाद इस देश को नई शिक्षा नीति दी। हर नीति को उठाकर देखिए, उसमें देश की मिट्टी, देश का ढंग, देश की हवा और देश का रंग, ये चारों मिलेंगे। मोदी जी ने इस देश को गुलामी की निशानियों से मुक्त करने का काम किया है। देश के मन से हीनता का भाव दूर करने का काम किया है। भारत सब कुछ कर सकता है, भारत विश्व में सर्वप्रथम बनने के लिए है और इस स्थान पर अधिकार अगर किसी एक देश का है, तो वह भारत का है, ये आत्मविश्वास देश के मन में पैदा करने का काम मोदी जी ने किया है।

हमारी नीतियों में महान भारत के निर्माण का संकल्प
श्री शाह ने कहा कि हम दुनिया के सबसे पुराने और सबसे बड़े लोकतंत्र हैं। हम सभी का दायित्व है कि लोकतंत्र के इस महान पर्व के अंदर हम जनादेश को पूरी सूझबूझ के साथ बनाएं, हम किसी नेता या किसी पार्टी के खोखले वादों के आधार पर न जाएं। ऐसी पार्टी को चुनें, जिसने वादे पूरे किए हों। पार्टी ऐसी चुनें, जिसने जो कहा था वह किया भी है। ऐसी पार्टी चुनें जिसमें भविष्य देखने का, भविष्य की कल्पना करने का माद्दा हो। भविष्य का लक्ष्य तय करने की सोच हो। हमारी नीतियों में मानवीय संवेदना है। हमारी नीतियों में सर्वस्पर्शी और सर्व समावेशी विकास का दृष्टिकोण है। हमारी नीतियों में महान भारत के निर्माण का संकल्प है। हमारी नीतियों में भ्रष्टाचार और तुष्टिकरण को समाप्त करने की दृढ़ता है और हमारी नीतियों में अभेद्य सुरक्षा वाले महान भारत की रचना का संकल्प भी है।

हर बात का विरोध करना कांग्रेस की आदत
श्री शाह ने कहा कि हम नई पार्लियामेंट बनाते हैं तो कांग्रेस कहती है क्या जरूरत है। किंग पंचम जॉर्ज का बनाया हुआ राजमार्ग जो अंग्रेजों की गुलामी का प्रतीक था, जब उसे कर्त्तव्य पथ बनाया जाता है और किंग जॉर्ज पंचम की जगह पर नेताजी सुभाषचंद्र बोस की प्रतिमा लगाई जाती है, तो उसका भी विरोध करते हैं। श्री शाह ने कहा कि 2014 से 24 के बीच के 10 साल साहसिक फैसलों, दुर्गम निर्णयों और उज्जवल भविष्य के सपनों के 10 साल रहे हैं। हमने संकल्प ले रखा था कि हम धारा 370 को हटाकर समाप्त कर देंगे। कांग्रेस ने इसे तुष्टिकरण के चलते दशकों तक बनाए रखा, मोदी जी ने एक झटके में हटा दिया। आज हमारा कश्मीर भारत माता का मुकुटमणि बनकर समग्र विश्व के सामने तिरंगे के साथ खड़ा है। 30 साल के बाद वहां थिएटर चालू हुए, 30 साल के बाद लाल चौक पर जन्माष्टमी मनाई जाती है, 30 साल के बाद वहां मोहर्रम का जुलूस निकालता है और 30 साल के बाद देश-विदेश के दो करोड़ पर्यटक वहां पहुंचते हैं। पड़ोसी देशों से आए हुए नागरिक जो अपनी बहन-बेटियों का सम्मान और धर्म बचाने के लिए भारत आए हैं, उनसे आजादी के बाद ही नागरिकता देने का वादा किया गया था। लेकिन उसे 70 सालों में पूरा नहीं किया गया। मोदी जी ने कानून लाकर एक करोड़ लोगों को नागरिकता देकर आजादी के समय का वादा पूरा किया। मुस्लिम बहनों को उनका अधिकार नहीं मिलता था। कभी भी उन्हें अपमानित करके आधी रात को घर से बाहर निकाल दिया जाता था। मोदी जी ने ट्रिपल तलाक को भी समाप्त कर दिया। किसानों के लिए स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों को हमने माना और 150 प्रतिशत एमएसपी का रेट तय किया। वन रैंक वन पेंशन का मसला भी हमने समाप्त कर दिया।

मोदी जी ने दिया सक्षम और कुशल नेतृत्व
श्री शाह ने कहा कि देश में आतंकवाद के तीन हॉटस्पॉट थे, जम्मू-कश्मीर, पूर्वोत्तर और वामपंथी उग्रवाद। अपना मध्यप्रदेश भी वामपंथी उग्रवाद से पीड़ित था। आज मैं बड़े आनंद के साथ कह सकता हूं कि तीनों हॉटस्पॉट में हिंसक घटनाओं में 70 प्रतिशत की कमी और मृत्यु में 72 प्रतिशत की कमी आई है। नक्सलवाद, आतंकवाद और उग्रवाद इस देश में अंतिम सांसें ले रहे हैं। एक बार जनादेश दे दीजिए, ये समाप्त हो जाएंगे। श्री शाह ने कहा कि कोविड संकट के दौरान जिस तरह से मोदी जी ने पूरे देश को एकजुट किया और उस आपदा का सामना किया, उसकी कायल सारी दुनिया है। मोदी जी की प्रेरणा से बनी वैक्सीन ने देशवासियों की जान तो बचाई ही, 100 देशों के लोगों को भी सुरक्षा दी। सारी दुनिया की तुलना में भारत में नुकसान सबसे कम हुआ, क्योंकि यहां पर सिर्फ सरकार ने नहीं बल्कि सरकार और जनता ने मिलकर इस महामारी का मुकाबला किया।

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में राजा भोज के समय का आदर्श शासन दोहराया जायेगा – डॉ. मोहन यादव
प्रबुद्धजन सम्मेलन को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने कहा कि केंद्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह जी का राजा भोज की धरती पर स्वागत करता हूं। जिस धरती से हम बात कर रहे हैं, इस धरती पर एक हजार साल पहले राजा भोज का शासन था। हमने एक हजार साल पहले के राजा भोज को नहीं देखा, लेकिन राजा भोज के हाथों से लिखे भोजपत्र व ताम्रपत्र व उसके प्रमाण हमारे पांडुलिपियों में प्राप्त होते हैं। भोजपत्र में अपनी समस्त शक्ति, ताकत, बुध्दि, युक्ति लगाकर जीवन के विभिन्न क्षेत्रों में एक शासक कितने प्रकार से सोचता है, उसके प्रमाण हमारी पांडुलिपियों में प्राप्त होते हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में निश्चित तौर पर राजा भोज के समय का आदर्श शासन दोहराया जायेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में भारत का दुनिया के हर क्षेत्र में मान, सम्मा्न और प्रतिष्ठा बढ़ी है। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में जनतंत्र को गौरवांन्वित करने वाला विश्व के सबसे बड़े जनतंत्र का सबसे सशक्त मंत्रिमंडल है। विश्व के सबसे सशक्त लोकतंत्र के सबसे लोकप्रिय गृहमंत्री श्री अमित शाह जी हमारे बीच पधारे हैं। हम उनका वंदन करते हैं, अभिनंदन करते हैं।

प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में 2014 के बाद भारत हर क्षेत्र में आगे बढ़ा है- श्री विष्णुदत्त शर्मा
प्रबुद्धजन सम्मेलन को संबोधित करते हुए भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद श्री विष्णुदत्त शर्मा ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में 2014 के बाद भारत राजनीतिक क्षेत्र के साथ हर क्षेत्र में आगे बढ़ा है और दुनिया के अंदर अपना स्थान बनाया है। प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में भारत गरीब कल्याण, विकास, सुशासन के साथ 5 ट्रिलियन इकोनॉमी के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए आज भारत विश्व में जिस स्थान पर पहुंचा है वह प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में ही संभव हो सका है। समाज के विकास में प्रबुद्धजनों की महती भूमिका है। प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में जिस प्रकार देश का विकास किया गया है और हर वर्ग के कल्याण के कार्य हुए हैं, यह भारतीय जनता पार्टी की सरकार ही कर सकती है। आप सब प्रबुद्धजन यहां आए, आप सभी का हृदय से स्वागत है।

इस अवसर पर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान, उप मुख्यमंत्री श्री जगदीश देवड़ा, श्री राजेंद्र शुक्ल मंच पर उपस्थित रहे। मंच का संचालन वरिष्ठ नेता श्री शैलेन्द्र शर्मा ने किया एवं आभार प्रदेश मंत्री श्री राहुल कोठारी ने माना।