मां बदल रही है

मां बदल रही है

मीडियावाला.इन।

मां  अब  दिखती नहीं मैली साडी मे काम करती दिनभर नजर आती है ट्रेंडी जींस पर

अपने लिये भी समय निकाल रही है

 

 मां बदल रही है

 

चुल्हे के धुंअे सेअब आंखें नही होती लाल

स्मार्ट किचन मे अब नयी रेसीपीबनती बेमिसाल

जब मन नही होता स्वीगी से पार्सल मंगवा रही है

सच मां बदल रही है

 

पापा  के सामने हरबात पर हाथ नहीं फैलाती है

ना ही सास और पति की मार खाती है

कंधे से कंधा मिलाकर सारा भार उठा रही है

सच मां बदल रही है

 

पुराने दिनों का राग नही  सुनाती

सास ,ननंद,जवाई का नखरा नही लेती

नही कहती औरत तेरी यही कहानी

 बेटे को पराठेऔर बेटी को कराटे सिखा रही है 

सच मां अब बदल रही है

 

मां अब हंसती है,नाचती है, मनमर्जी से जीती है,समय के साथ बदलती है जैसा चाहे रहती है

 

पर.......

बच्चे का रोना सुनते ही थम जाते हैं कदम तब लगता है

क्या सचमुच मां बदल रही है??

उत्तर--

मां पुरी बदल रही है, पर उसकी ममता,उसका प्यार नहीं बदला

               और

आज के इस युग में इस बदली हुयी मां की ही जरूरत है...जो समय के साथ, समाज के साथ, बच्चों के साथ, जनरेशन के साथ बदले

 

क्योंकि बदलाव प्रगति  की निशानी है...

0 comments      

Add Comment