न्यूज़ीलैंड के इस खिलाड़ी का दावा, रोहित शर्मा होते तो टीम इंडिया हमें पटक मारती

न्यूज़ीलैंड के इस खिलाड़ी का दावा, रोहित शर्मा होते तो टीम इंडिया हमें पटक मारती

मीडियावाला.इन।

कोरोना वायरस महामारी के चलते इन दिनों खिलाड़ी क्रिकेट मैदान से दूर हैं और अपना समय घर पर बिता रहे हैं. लेकिन इसके बावजूद कई खिलाड़ी अपने फैंस का मनोरंजन करने से नहीं चूक रहे. वो सोशल मीडिया लगातार एक्टिव हैं और फैंस से बात भी कर रहे हैं. न्यूज़ीलैंड के तेज़ गेंदबाज मिचेल मैक्लेनाघन ने भी ट्विटर पर कई सेशन किए. इस सेशन में उन्होंने फैंस को कहा कि अगर रोहित शर्मा न्यूज़ीलैंड दौरे पर टेस्ट टीम में होते तो दो टेस्ट मैचों की सीरीज का नतीजा शायद कुछ और होता.

जब एक यूजर ने मिचेल मैक्लेनाघन से पूछा कि क्या आपको लगता है कि रोहित शर्मा हाल ही में हुई न्यूजीलैंड टेस्ट सीरीज में बदलाव ला सकते थे? इसके जवाब में मिचेल ने कहा बिल्कुल ला सकते थे. वहीं इससे पहले मैक्लेनेघन ने अपने प्रशंसकों को अपने पसंदीदा भारतीय खिलाड़ी के बारे में नहीं पूछने का आग्रह करते हुए कहा था क्योंकि उन्होंने पहले ही बता दिया था कि उनका पसंदीदा खिलाड़ी रोहित शर्मा हैं.

Mitchell McClenaghan✔@Mitch_Savage

 · Mar 21, 2020

Alright will give a crack. No shit questions like who’s your favourite Indian player - you know it’s @ImRo45

Mradul Jain 🇮🇳🏏@Mradul_vkdk09

Do you think Rohit would have made the difference in the recent NZ Test series ???

42

1:47 AM - Mar 21, 2020

Twitter Ads info and privacy

See Mradul Jain 🇮🇳🏏's other Tweets

दरअसल भारतीय सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा माउंट मॉन्गनुई में खेले गए पांचवें और आख़िरी टी20 मैच में बल्लेबाजी के दौरान चोटिल हो गए थे. जिसके बाद वो वनडे और टेस्ट सीरीज से बाहर हो गए थे. इसलिए कीवी तेज़ गेंदबाज मिचेल मैक्लेनाघन का कहना है कि अगर टेस्ट सीरीज में रोहित शर्मा होते तो टीम इंडिया को बहुत फर्क पड़ता.

न्यूज़ीलैंड दौरा टीम इंडिया के लिए बेहद खराब रहा था. जहां पहले टी20 सीरीज पर कब्जा कर टीम इंडिया ने शानदार आगाज किया. लेकिन इसके बाद वनडे और टेस्ट में न्यूज़ीलैंड ने जबरदस्त वापसी करते हुए भारतीय टीम का सफाया कर दिया.

इस दौरान कप्तान विराट कोहली की खराब फॉर्म भी चिंता कारण था. टेस्ट सीरीज में विराट कोहली पूरी तरह फेल रहे थे और दो टेस्ट मैचों की सीरीज में वो 9.50 के एवरेज से उनके बल्ले से सिर्फ 38 रन ही निकले थे. वहीं अगर तीनों फॉर्मेट की बात करें तो टी20, वनडे और टेस्ट सीरीज की 11 पारियों में विराट कोहली ने सिर्फ 218 रन ही बनाए थे. कप्तान कोहली के ख़राब फॉर्म का खामियाजा टीम इंडिया को भुगतना पड़ा. न्यूज़ीलैंड ने भारतीय टीम 3-0 से वनडे सीरीज और 2-0 से टेस्ट सीरीज में करारी शिकस्त दी.

न्यूज़ीलैंड दौरे पर खराब फॉर्म से जूझे विराट कोहली कई पूर्व खिलाड़ियों की आलोचनाओं का सामना करना पड़ा. जिसमें पूर्व भारतीय कप्तान कपिल देव भी थे. उन्होंने तो ये तक कह दिया कि जब आप एक उम्र पार कर देते हैं तो आपकी आंखों पर इसका असर दिखने लगता है और मुझे लगता है कि विराट के साथ भी कुछ ऐसा ही हो रहा है.

कपिल देव ने कहा था, "जब भी कोई इतना बड़ा खिलाड़ी होता है तो हर एक के साथ ऐसा समय आता है. दूसरी तरफ आप इतिहास उठाकर देखें तो 30 साल के बाद मेरे ख्याल से थोड़ा आंखों की रौशनी में कमी आ जाती है. ऐसा हर एक बल्लेबाज के साथ हुआ है. इससे वापस आने में अभी कोहली को शायद थोडा टाइम लग जाए. क्योंकि जिन गेंदों पर वो चौके मारते थे उन्ही गेंदों पर आउट हो रहे हैं. तालमेल नहीं बन पा रहा है तो अब इन्हें अपनी आंखों की रौशनी के साथ तालमेल बिठाना होगा."

Asia Ville via Dailyhunt

RB

0 comments      

Add Comment