प्रदेश में 1391 फीवर क्लीनिक चालू, 42 हजार 151 व्यक्तियों का स्वास्थ्य परीक्षण हुआ, मुख्यमंत्री ने कोरोना की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा की

प्रदेश में 1391 फीवर क्लीनिक चालू, 42 हजार 151 व्यक्तियों का स्वास्थ्य परीक्षण हुआ, मुख्यमंत्री ने कोरोना की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा की

मीडियावाला.इन।

भोपाल : मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश से समस्त जिलों में 1391 फीवर क्लीनिक ने कार्य करना प्रारंभ कर दिया है तथा उनके द्वारा अभी तक 42 हजार 151 व्यक्तियों का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया। इनमें से 30 हजार 555 व्यक्तियों को 'होम आइसोलेशन' में रहने की सलाह दी गई तथा 6050 व्यक्तियों के कोरोना टैस्ट के लिए सैम्पल लिए गए। टैस्ट किए गए व्यक्तियों में से 2959 व्यक्तियों को कोविड केयर सेंटर्स/अस्पताल में भिजवाया गया।

मुख्यमंत्री श्री चौहान आज मंत्रालय में वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश में कोरोना की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा कर रहे थे। इस अवसर पर स्वास्थ्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा, मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस, डीजीपी श्री विवेक जौहरी, एसीएस हैल्थ श्री मोहम्मद सुलेमान आदि उपस्थित थे।

कोरोना का इलाज और आसान होगा

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि फीवर क्लीनिक के माध्यम से जनता के लिए स्वास्थ्य जाँच एवं उपचार और आसान होगा। ये फीवर क्लीनिक धीरे-धीरे हर मौहल्ले, वार्ड, क्षेत्र में प्रारंभ की जाएंगी। ये शासकीय एवं निजी दोनों होंगी। यहां कोई भी व्यक्ति जाकर आसानी से स्वास्थ्य जाँच करवा सकेगा तथा चिकित्सकीय परामर्श प्राप्त कर सकेगा। इसके अलावा सभी शासकीय एवं अनुबंधित चिकित्सालयों में कोरोना की नि:शुल्क जाँच व उपचार की सुविधा पूर्ववत जारी रहेगी।

ग्वालियर जिले में टैस्ट के 01 प्रतिशत से कम पॉजिटिव

ग्वालियर जिले की समीक्षा में बताया गया कि जिले में अभी तक 9617 कोरोना टैस्ट किए गए, उनमें से 83 पॉजिटिव निकले जो 01 प्रतिशत से भी कम है। सभी मरीज अच्छी हालत में हैं। गाइडलाइन अनुसार बाजार खोले जाने एवं रात्रिकालीन प्रतिबंध जारी रखने के निर्देश दिए गए।

मुरैना में 58 में 25 स्वस्थ

मुरैना जिले की समीक्षा में बताया गया कि जिले के 58 कोरोना मरीजों में से 25 ठीक होकर घर चले गए हैं। कोई डैथ नहीं है। मरीजों की हालत अच्छी है। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि पूरी सावधानी रखें, संक्रमण फैलना नहीं चाहिए।

बारात नहीं निकाली जा सकती

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि गाइडलाइन के नियम अनुसार संक्रमित क्षेत्रों के बाहर  शादी में दोनों पक्षों से 25-25 अधिकतम 50 सदस्य शामिल होने की अनुमति दी गई है, परंतु विवाह समारोह नहीं किया जा सकता और न ही बारात निकाली जा सकती है। नियम तोड़ने पर एफआईआर दर्ज की जाए। बताया गया कि जाटखेड़ी भोपाल में एक बारात आई जिसमें दुल्हन संक्रमित हुई तथा 35 बारातियों को क्वारेंटाइन किया गया है।

0 comments      

Add Comment