जनहित में लागू लॉकडाउन का पालन करें - कमिश्नर डॉ. भार्गव

जनहित में लागू लॉकडाउन का पालन करें - कमिश्नर डॉ. भार्गव

मीडियावाला.इन।

रीवा:मा रीवा संभाग के कमिश्नर डॉ. अशोक कुमार भार्गव ने आमजनता से कोरोना वायरस से बचाव के लिए शासन प्रशासन के निर्देशों का पूरी तरह से पालन करने की अपील की है। उन्होंने कहा है कि आमजनता की स्वास्थ्य रक्षा तथा कोरोना वायरस के संक्रमण की श्रृंखला तोड़ने के लिए लॉकडाउन किया गया है। सभी कलेक्टर अपने पुलिस अधीक्षक से समन्वय बनाकर लॉकडाउन का पूरी तरह से पालन सुनिश्चित करें। इसका उल्लंघन करने वालों के विरूद्ध एफआईआर दर्ज करके कार्यवाही करें। 

कमिश्नर डॉ. भार्गव ने कहा कि हर व्यक्ति अधिक से अधिक समय तक घर में ही रहे। घर में रहेंगे तो सुरक्षित रहेंगे। घर में रहकर ही हम कोरोना वायरस के घातक संक्रमण से बचाव कर सकते हैं। जो व्यक्ति कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद उपचार नहीं कराता है या बीमारी को छुपाता है उसे गिरफ्तार करके 14 दिनों के लिए आइसोलेशन वार्ड में रखा जायेगा। विदेश यात्रा अथवा अन्य किसी शहर से लौटकर आने वाले यात्री अपने स्वास्थ्य की जांच डॉक्टरों से अवश्य करायें।

कमिश्नर डॉ. भार्गव ने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण से स्वंय तथा परिवार को सुरक्षित रखने के लिए नियमित अंतराल के बाद 20 सेकण्ड तक साबुन से हाथ धोएं। एक दूसरे का अभिवादन करने के लिए भारतीय परंपरा के अनुसार हाथ जोड़कर नमस्कार करें। लोगों से हाथ मिलाने तथा गले मिलने से बचे। कोरोना वायरस के बचाव के लिए सामाजिक दूरी आवश्यक है। किसी भी व्यक्ति से कम से कम 3 फिट की सुरक्षित दूरी बनाकर रखें। किसी भी संक्रमित व्यक्ति को छूऐ नहीं। कोरोना वायरस अथवा सर्दी का प्रकोप होने पर इससे बचाव के लिए डॉक्टरों की सलाह तथा शासन के निर्देशों का पालन करें। 

कमिश्नर डॉ. भार्गव ने आमजनता से सोशल मीडिया के प्रति सजग रहने की अपील करते हुए कहा कि सोशल मीडिया में कोरोना वायरस अथवा लॉकडाउन के संबंध में आने वाली भ्रामक सूचनाओं एवं अफवाहों को फारवर्ड न करे। किसी भी सूचना की सत्यता की परख करने के बाद ही उस पर विश्वास करें। आपके द्वारा सोशल मीडिया पर दी गयी एक गलत सूचना कई व्यक्तियों और प्रशासन के लिए कठिनाई उत्पन्न कर सकती है। सोशल मीडिया में अफवाह फैलाने वाले पर एफआईआर दर्ज करके कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस पर नियंत्रण करने तथा इसके संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन केन्द्र शासन तथा राज्य शासन के निर्देशों के अनुसार सतर्कता, सावधानी तथा मार्गदर्शन का पालन किया जा रहा है। लॉकडाउन की परेशानी से कहीं अधिक बड़ा खतरा और चुनौती कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकना है क्योंकि इसका अभी तक कोई कारगर उपचार नहीं है। इसलिए आमजनता लॉकडाउन में पूरा सहयोग करके कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने में अपना अनमोल योगदान दें। 

कमिश्नर डॉ. भार्गव ने कहा कि कोरोना वायरस से भयभीत होने की आवश्यकता नहीं है। इससे हारना नहीं बल्कि जीतना है। हम सब इसकी चुनौती की गंभीरता को समझें। हम सब स्वंय सर्तक रहें तथा दूसरों को भी सर्तक करें कोरोना वायरस को इस धरा से पूरी तरह से मिटाने की जंग में जन सामान्य की सक्रिय भागीदारी आवश्यक है। यह सबकी सजगता तथा शासन प्रशासन के निर्देशों के पालन से ही संभव है।

RB

0 comments      

Add Comment