Suicide:’आई एम सॉरी’ पापा…इंदौर में TCS की प्रोजेक्ट मैनेजर 8वीं मंजिल से कूद कर आत्महत्या की!

474
Suicide

Suicide:’आई एम सॉरी’ पापा…इंदौर में TCS की प्रोजेक्ट मैनेजर 8वीं मंजिल से कूद कर आत्महत्या की !

इंदौर, मध्य प्रदेश के इंदौर शहर से एक दर्दनाक खबर सामने आई है।इंदौर में पिछले कुछ दिनों में इमारत से कूदकर आत्महत्या के मामले लगातार सामने आ रहे हैं। जहां कुछ दिनों में दो छात्राओं ने आत्महत्या कर ली थी। वहीं अब टीसीएस जैसी प्रतिष्ठित कंपनी की प्रोजेक्ट मैनेजर ने आत्महत्या कर ली है।  जहां युवती ने 8वीं मंजिल से कूदकर आत्महत्या कर ली। मृतका की पहचान पुलिस ने 37 वर्षीय सुरभि जैन के रूप में की है। मरने से पहले उसने अपने पाप के लिए इमोशनल सुसाइड नोट भी लिखा है। बता दें कि सुरभि टीसीएस कंपनी में प्रोजेक्ट मैनेजर थी।

बीसीएम हाइट्स की 8वीं मंजिल से लगाई छलांग

दरअसल, यह मामला इंदौर के विजय नगर इलाके का है। जहां सुरभि जैन अपने माता-पिता के साथ रहती थी। लेकिन सोमवार को उसने बीसीएम हाइट्स की 8वीं मंजिल से छलांग लगा दी है। गिरते ही उसकी मौके पर ही मौत हो गई। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस और एफएसएल की टीम मौके पर पहुंच गई। वहीं टीआई सीबी सिंह ने बताया कि हम सारे एंगल खंगाल रहे हैं। युवती के परिवार से पूछताछ होगी वहीं मोबाइल भी चेक किया जाएगा।

Indore: Tcs Project Manager Messaged Her Father, Then Committed Suicide By Jumping From The Eighth Floor. - Amar Ujala Hindi News Live - Indore:टीसीएस की प्रोजेक्ट मैनेजर ने पापा को किया मैसेज,

सुरभि ने TCS ऑफिस का कहकर घर से निकली थी

बताया जाता है कि सुरभि ने मरने से पहले अपने पिता अशोक कुमार जैन के लिए एक सुसाइड नोट लिखा था, जिसमें सिर्फ लिखा- आई एम सॉरी पापा… वहीं पिता का कहना है कि बेटी डिप्रेशन में थी। उसका मानसिक इलाज चल रहा था। सुरभि उनकी इकलौती बेटी थी। वह सोमवा को घर से ऑफिस के लिए निकली थी, फिर वह लौटकर घर नहीं और वो बीसीएम हाइट्स पहुंची जहां से उसने छलांग लगा दी। सुरभि का मोबाइल पुलिस को छत पर पड़ा मिला है।

14 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी करने वाले आरोपी को मुंबई एयरपोर्ट से किया गिरफ्तार /

इस वजह से टूट गई थी सुरभि

सुरभि की शादी हो चुकी थी, लेकिन उसका तलाक भी हो गया था। वह अनूप नगर एमआईजी में रहती थी। बताया जाता है कि वह पति और तलाक की वजह से डिप्रेशन में आ गई थी। जिसके चलते वह ज्यादा किसी से बात नहीं करती थी। जांच में सामने आया है कि सुरभि ने मरने से पहले अपने सारे गहने पिता को सौंप दिए थे।