Supreme Court’s Order Will Have to Convince ASI : ASI को सुप्रीम कोर्ट का आदेश मानना होगा, रिपोर्ट भी ओपन नहीं होगी!

231

Supreme Court’s Order Will Have to Convince ASI : ASI को सुप्रीम कोर्ट का आदेश मानना होगा, रिपोर्ट भी ओपन नहीं होगी!

नमाज के बाद शहर काजी ने मीडिया से बातचीत की!

धार से छोटू शास्त्री की रिपोर्ट

Dhar : भोजशाला में 22 मार्च से हाईकोर्ट के निर्देश पर चल रहे सर्वे का आज 15वां दिन रहा। एएसआई की टीम सर्वे के लिए सुबह 6 बजे भोजशाला परिसर में पहुंची थी। सर्वे का काम 12 बजे खत्म कर दिया गया। शुक्रवार होने से आज 12 बजे के बाद मुस्लिम पक्ष के लोगों ने भोजशाला में नमाज अता की। इस दौरान बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया।

नमाज अता करने के बाद शहर काजी वकार सादिक ने कहा कि आज हमने सुप्रीम कोर्ट में याचिका लगाई थी, वह भूरू बाबा काजी मोईउद्दीन ने दायर की थी। उस पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि आपका इंटरविनर है, तो आप यहां याचिका मत लगाइए हाईकोर्ट जाइए। इसलिए हमने उस याचिका को वापस ले लिया।

उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट में जो हमारी याचिका एसएलपी लगी थी, वह हमारे वकील ने पेश की थी। उसे सुप्रीम कोर्ट ने स्वीकार किया है। उस पर सुनवाई भी हुई। ऑर्कलॉजिकल डिपार्टमेंट को लिखा गया है कि ‘नो एक्शन टू बी टेकन ऑउट कम!’ अब एएसआई सर्वे भोजशाला एवं कमाल मौलाना मस्जिद में हमारी परमीशन के बिना कुछ भी काम नहीं करेगा। किसी तरह की कोई खुदाई नहीं करेगा और सर्वे रिपोर्ट सुप्रीम कोर्ट ल के पास जाएगी। उनकी परमीशन बिना कोई काम नहीं किया जाएगा। किसी भी तरह का भौतिक उत्खनन नहीं किया जाएगा। सर्वे पर किसी तरह की कार्यवाही नहीं कि जाएगी। सुप्रीम कोर्ट की इजाजत के बिना रिपोर्ट ओपन भी नहीं की जाएगी।

शहर काजी ने कहा कि मुझे नहीं लगता कि एएसआई सुप्रीम कोर्ट के आदेश की अवहेलना करेगा। वे खुद समझदार हैं, वह खुदाई करके कोर्ट ऑफ कंडक्ट नहीं करेंगे।