UP Election 2022 : BJP के MLA मुकेश वर्मा ने भी इस्तीफ़ा दिया, 100 MLA हमारे संपर्क में

BJP को रोज लगेगा इंजेक्शन, स्वामी प्रसाद मौर्य हमारे नेता

142

Firozabad : उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले BJP नेताओं के पार्टी छोड़ने का सिलसिला जारी है। स्वामी प्रसाद मौर्य (Swami Prasad Maurya) और दारा सिंह (Dara Singh) के बाद कई इस्तीफों के बाद अब फिरोजाबाद स्थित शिकोहाबाद विधानसभा सीट (Shikohabad Firozabad) से भाजपा विधायक मुकेश वर्मा (Mukesh Verma) ने बगावत कर दी। वे सातवें विधायक हैं, जिन्होंने BJP से मुंह मोड़ा।

मुकेश वर्मा ने गुरुवार को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देने के बाद कहा ‘स्वामी प्रसाद मौर्य हमारे नेता हैं और वह जो भी फैसला करेंगे, हम उसका समर्थन करेंगे।’ वर्मा ने दावा किया कि आने वाले समय में और भी नेता उनके साथ आएंगे।

एक ट्वीट में मुकेश वर्मा ने कहा ‘भाजपा सरकार ने 5 साल के कार्यकाल में दलित, पिछड़ों और अल्पसंख्यक समुदाय के नेताओं व जनप्रतिनिधियों को कोई तवज्जो नहीं दी। दलित, पिछड़ों किसानों व बेरोजगारों की उपेक्षा की गई। इस कारण मैं भारतीय जनता पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देता हूँ।’

उन्होंने बड़े समर्थन का दावा करते हुए कहा कि हमारे साथ 100 विधायक हैं और भाजपा को रोज इंजेक्शन लगेगा। उन्होंने कहा कि BJP अगड़ों की पार्टी है और वहां दलितों और पिछड़ों का सम्मान नहीं है। दावा किया गया कि पिछड़ों को टारगेट करके नौकरी नहीं लगने दी। भाजपा दलित, अल्पसंख्यक और पिछड़ा विरोधी है।

स्वतंत्र देव सिंह को भेजी चिट्ठी में मुकेश ने लिखा है ‘जिन गरीबों, शोषितों और वंचितों के प्यार और वोट से भाजपा 300 सीटों के पार सीटें जीती थी, उनका ही सबसे ज्यादा शोषण किया गया। इससे बुरी बात और क्या हो सकती है।’ मुकेश वर्मा ने कहा कि पांच साल तक लगातार कहा गया कि सरकार सबका हित करेगी लेकिन ऐसा नहीं हुआ।

UP भाजपा के अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह को भेजे इस्तीफे में मुकेश वर्मा ने कहा ‘पिछले 5 साल की सरकार में दलित, पिछड़ों और अल्पसंख्यक समुदाय के नेताओं व जनप्रतिनिधियों को तवज्जो नहीं दी गई और न सम्मान दिया गया। स्वामी प्रसाद मौर्य शोषित-पीड़ितों की आवाज हैं और वह हमारे नेता हैं। मैं उनके साथ हूं।