Weather Update : MP के कुछ इलाकों में बारिश, 28 से पूरे प्रदेश में झमाझम

राजस्थान, झारखंड और दिल्ली में बारिश, कई राज्यों में प्री-मानसून शुरू

911
Weather Update : MP के कुछ इलाकों में बारिश, 28 से पूरे प्रदेश में झमाझम

Weather Update : MP के कुछ इलाकों में बारिश, 28 से पूरे प्रदेश में झमाझम

Bhopal : खंडवा और बैतूल के रास्ते मध्यप्रदेश में मानसून पहुंच गया। भोपाल में तीन दिन से हल्की बारिश हो रही है। लेकिन, इंदौर में अभी अच्छी बारिश का इंतजार है। मौसम विभाग के मुताबिक, इंदौर में मानसून का प्रवेश 18 जून माना जा रहा था। लेकिन, लगता है अभी और समय लगेगा।माहौल बना था, पर बादल इंदौर के बाहर बरसकर रह गए। अरब सागर में मानसून की एक्टिविटी कमजोर होने और बंगाल की खाड़ी में एक्टिविटीज बढ़ने से इंदौर की के बजाए भोपाल में मानसून पहले आने का अनुमान है।

इंदौर में मानसून 21 जून तक पहुंचने का अनुमान है। ग्वालियर में 24 तक मानसूनी बारिश हो सकती है। जून के अंतिम सप्ताह 28 जून तक प्रदेशभर में मानसून छाने की उम्मीद लगाई गई है। बारिश होने की उम्मीद है। प्रदेश में अधिकतम तापमान लुढ़ककर 38 पर आ गया। सिर्फ नरसिंहपुर में सबसे ज्यादा 40 डिग्री दर्ज हुआ। प्रदेशभर में यह 38 के नीचे आ गया। पचमढ़ी में तो सबसे कम 29 डिग्री तक आ गया। दिन और रात के तापमान में सिर्फ 9 डिग्री का अंतर रह गया।

विदिशा में शुक्रवार रात से शनिवार सुबह 8.30 बजे तक करीब 4 इंच से ज्यादा बारिश हुई। मुरैना और श्योपुर कलां में 3-3 इंच तक पानी गिरा। विदिशा के नटेरन, शमशाबाद, सिरोंज, गुलाबगंज, लटेरी, ग्यारसपुर, कुरवाई, पठारी, शहर और कुरवाई में 1 से 3 इंच तक बारिश हुई। मुरैना के सबलगढ़ में 2 इंच, श्योपुर कलां के कराहल में 3 इंच पानी गिरा।
इसके अलावा राजगढ़ में ढाई इंच, शिवपुरी के कोलारस में 2 इंच, नरवर में डेढ़ इंच, सीहोर में 2 इंच, आष्टा में 1 इंच, खंडवा शहर में 2 इंच, गुना के चचौड़ा में डेढ़ इंच, शाजापुर के शुजालपुर में डेढ़, भोपाल के बैरसिया, बैरागढ़, नवीबाग, शहर और कोलार में 1 इंच बारिश हुई। बैतूल के भीमपुर, चिचोली, प्रभातपट्टन में 1-1 इंच, ग्वालियर के घाटीगांव में 1 इंच, खरगोन के झिरन्या में 1 इंच, रायसेन में इंच, नर्मदापुरम में आधा इंच पानी गिरा। इटारसी, बड़वानी, अशोकनगर, भिण्ड, हरदा, आगर, उज्जैन, दतिया और पचमढ़ी में भी अच्छी बारिश हुई।

आज इन राज्यों में भारी बारिश
दिल्ली, यूपी, बिहार, झारखंड, पंजाब, छत्तीसगढ़, ओडिशा, हरियाणा, राजस्थान, दक्षिण भारत के विभिन्न राज्यों में आज हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। गुजरात के कुछ हिस्सों में आंधी के साथ बारिश हो सकती है। जम्मू कश्मीर के कुछ इलाकों में भी आज बारिश का अनुमान है।

केरल के रास्ते देश में दाखिल हुआ मानसून कोलकाता तक पहुंच चुका है। पूर्वोत्तर राज्यों में भारी बारिश से लाखों लोग बेघर हो गए। अधिकतर राज्यों में प्री-मानसून बारिश हो रही है। दिल्ली में अधिकतम तापमान 32.7 डिग्री सेल्सियस होने के कारण शनिवार को मौसम सुहावना रहा। मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के मुताबिक, दिल्ली में 21 जून तक बादल छाए रहने और हल्की बारिश होने का अनुमान है।


Read More… MP News: हायर सेकंडरी की 20 और हाई स्कूल की पूरक परीक्षाएं 21 जून से 


IMD अधिकारियों ने कहा है कि रविवार को अधिकतम और न्यूनतम तापमान क्रमश: 32 और 24 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है। जबकि, शनिवार को न्यूनतम तापमान 24.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो औसत से 4 डिग्री नीचे था।

राजस्थान का मौसम
जयपुर सहित अनेक शहर बीते 24 घंटों में मानसून पूर्व बारिश में भीग गए। जयपुर में भी शनिवार को मानसून पूर्व की पहली बारिश हुई। राज्य के अनेक इलाकों में बारिश का यह दौर अभी जारी रहने की उम्मीद है। पिछले 24 घंटों में राज्य के कुछ भागों में हल्के से मध्यम दर्जे की बारिश दर्ज की गई है। सवाई माधोपुर, अलवर व भरतपुर जिलों में कहीं-कहीं भारी बारिश दर्ज की गई।

उत्तर प्रदेश में भी प्री मानसून बारिश
उत्तर प्रदेश में अलग-अलग जगहों पर अगले 5 से 6 दिनों में बारिश के आसार हैं। पूर्वी उत्तर प्रदेश के ऊपर तैयार हवा के दबाव का क्षेत्र और अफगानिस्तान से जम्मू एवं कश्मीर की तरफ बढ़े पश्चिमी विक्षोभ ने मौसम में काफी बदलाव किया है।

झारखंड में चेतावनी
झारखंड में शनिवार को दक्षिण-पश्चिम मानसून के दस्तक देने के साथ ही किसानों के चेहरे पर खुशी की लहर दौड़ गई। साहिबगंज, पाकुड़, गोड्डा, दुमका और जामताड़ा में अनेक स्थानों पर भारी बारिश की चेतावनी दी गई। रांची मौसम विभाग के प्रभारी ने बताया कि नियमित समय से लगभग एक हफ्ते की देरी से शनिवार को झारखंड के उत्तर पूर्व इलाके से मानसून ने प्रवेश किया और उत्तर पूर्व के जिलों साहिबगंज, पाकुड़, गोड्डा, दुमका एवं जामताड़ा में मानसून की पहली बारिश हुई। रांची, लोहरदगा, लातेहार, मेदिनीनगर, गढ़वा और चतरा समेत झारखंड के उत्तर पूर्वी, दक्षिणी पूर्वी और मध्य भाग में कहीं-कहीं भारी वर्षा की संभावना है।