Thursday, September 19, 2019

कॉलम / नजरिया

कैलाश अभी बंगाल पर ही केंद्रित रहेंगे

कैलाश अभी बंगाल पर ही केंद्रित रहेंगे

मीडियावाला.इन। *इंदौरी नेता कैलाश विजयवर्गीय ने जबरदस्त तरीके से ममता की फौज से लोहा लिया और अपने कार्यकर्ताओं में जोश भरा, उन्हें तृणमूल के लोगों के खिलाफ लडऩे, उनका मुकाबला करने का माद्दा पैदा किया। साथ ही भजन-भोजन-भंडारे,...

उन्हें काम करने का मौका भी दे मौला

उन्हें काम करने का मौका भी दे मौला

मीडियावाला.इन। बॉस ने एक दिन शाम को सभी कर्मचारियों की मीटिंग बुलाई। चाय-समोसे के इंतजाम के साथ मिठाई का एक-एक टुकड़ा सभी की प्लेट में चमक रहा था। सब लोगों के बैठ जाने के बाद साहब हॉल में आए और...

इंदौर का बढेगा मान : अपने मायके वाले राज्य की प्रथम नागरिक हो सकती हैं ताई

इंदौर का बढेगा मान : अपने मायके वाले राज्य की प्रथम नागरिक हो सकती हैं ताई

महाराष्ट्र की राज्यपाल के लिए चल रहा है सुमित्रा महाजन का नाम   केंद्र में सरकार गठन पश्चात अब अगले कुछ दिनों में राज्यपालों की नियुक्ति का सिलसिला शुरु होना है।हमारी ताई (सुमित्रा महाजन) को...

किसानमेव जयते 

किसानमेव जयते 

मीडियावाला. इन भारत एक कृषि प्रधान देश है इसलिए इस देश की सरकार को भी कृषि प्रधान होना चाहिए.देश की नयी नरेंद्र मोदी सरकार ने अपनी पहली कैबिनेट बैठक में किसानों को केंद्र में रखकर एक...

आशा जगाए यह मंत्रिमंडल

आशा जगाए यह मंत्रिमंडल

मीडियावाला.इन। केंद्रीय मंत्रिमंडल में जिन लोगों को मंत्री बनाया गया है, उन्हें देखकर यह कहा जा सकता है कि मंत्रालयों का बंटवारा काफी ठीक-ठाक हुआ है। गृह मंत्री अमित शाह को बनाया गया है। इस मंत्रालय को सबसे महत्वपूर्ण माना...

इस मंत्रिमंडल के अर्थ  !

इस मंत्रिमंडल के अर्थ !

नरेंद्र मोदी मंत्रिमंडल का यह शपथ-समारोह अपने आप में एतिहासिक है, क्योंकि यह ऐसा पहला गैर-कांग्रेसी मंत्रिमंडल है, जो अपने पहले पांच साल पूरे करके दूसरे पांच साल पूरे करने की शपथ ले रहा है। पिछले शपथ-समारोह से...

काश ये शाम देश के लिए सुबह साबित हो

काश ये शाम देश के लिए सुबह साबित हो

मीडियावाला.इन। शाम राष्ट्रपति भवन की देहरी पर दस्तक दे चुकी थी। घर लौटता सूरज फिर लालिमा बिखेर रहा था। उसकी ऊर्जा चेहरों पर दमक रही थी। ठीक उसी समय, दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र की नई सरकार का शपथ ग्रहण...

काश ये शाम देश के लिए सुबह साबित हो

काश ये शाम देश के लिए सुबह साबित हो

मीडियावाला.इन। शाम राष्ट्रपति भवन की देहरी पर दस्तक दे चुकी थी। घर लौटता सूरज फिर लालिमा बिखेर रहा था। उसकी ऊर्जा चेहरों पर दमक रही थी। ठीक उसी समय, दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र की नई सरकार का शपथ ग्रहण...

स्वागतम :मुखिया मुख सो चाहिए

स्वागतम :मुखिया मुख सो चाहिए

तमाम असहमतियों के बावजूद आज भारत के नए प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ले रहे श्री नरेंद्र मोदी जी  को बधाइयां देने का दिन है.उन्हें शुभकामनाएं देना हैं  की वे अगले पांच साल देश को प्रगति,समृद्धि और सुदृढ़ता...

यह राहुल है या रणछोड़ दास ?

यह राहुल है या रणछोड़ दास ?

  कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अजीब-सी नौटंकी में फसे हुए हैं। यदि उन्हें अध्यक्ष पद से इस्तीफा देना ही है तो फिर वे मान-मनौव्वल के दौर में क्यों फंसे हैं ? चार-छह दिन ऐसी खबरें छपती रहें कि वे...

हम भारत के दर्शक

हम भारत के दर्शक

मीडियावाला.इन। हम भारत के दर्शक टकटकी लगाए बैठे हैं। लोकतंत्र के महाकाव्य का बड़ा हिस्सा पूरा हुआ। मानो महाभारत का युद्ध खत्म हो गया। अब पूर्णाहुति का दौर है। हालांकि खेमों का कोलाहल शांत होने का नाम नहीं ले रहा।...

शपथः मोदी यह मौका न चूकें

शपथः मोदी यह मौका न चूकें

मीडियावाला.इन।   नरेंद्र मोदी सरकार का यह दूसरा शपथ समारोह पहले से भी अधिक भव्य होना चाहिए। 2014 में चुनाव अभियान के दौरान मैंने दक्षेस (सार्क) देशों को जोड़ने पर विशेष जोर दिया था। तालकटोरा स्टेडियम में बाबा...

कुछ रोज से जिंदगी रोज उल्टे कदम चल रही है...

कुछ रोज से जिंदगी रोज उल्टे कदम चल रही है...

मीडियावाला.इन। कहते हैं डायन के पांव उल्टे होते हैं। वो हमेशा पीछे की तरफ जाती है। कुछ रोज से जिंदगी ने डायन का चोला पहन लिया है। सच एक मासूम पीजी डॉक्टर पायल तडवी की आत्महत्या....जिंदगी का पीछे जाना ही...

पाँच महीने में क्या बदला कि मुरझाया कमल फिर खिला!

पाँच महीने में क्या बदला कि मुरझाया कमल फिर खिला!

मीडियावाला.इन। लोकसभा चुनाव नतीजों से सभी हतप्रभ है! भाजपा ने देश में जो चमत्कार किया, वो सभी ने देखा! लेकिन, पाँच महीने पहले मध्यप्रदेश में जो उलटफेर हुआ, लोग वो भी भूले नहीं हैं। लोग समझ नहीं पा...

सूरत हादसे में ज्यादतर बेटियां ही क्यों ... एक बेटी सुना रही माँ की कहानी जिसे आप अपने बच्चों को सुनाइएगा ना प्लीज

सूरत हादसे में ज्यादतर बेटियां ही क्यों ... एक बेटी सुना रही माँ की कहानी जिसे आप अपने बच्चों को सुनाइएगा ना प्लीज

मीडियावाला.इन। " मेरी माँ सासू माँ कहती हैं, स्कूलों में लड़कियों के लिए तो स्काउट को 10 वीं तक कंपलसरी कर देना चाहिए। वह स्काउट की गाइड कैप्टन थी, मुझे भी कल ही पता चला। पापाजी कहते थे कपड़े मौसम...

राजा का इस्तीफा

राजा का इस्तीफा

मीडियावाला.इन।   तो राजा ने एक दिन तय किया बस अब बहुत हुआ, मुझे इस्तीफा दे ही देना चाहिए। राजा ने ये बात दरबारियों को बताई। झुकी हुई कमर और रसातल तक जा पहुंची। एक ही गुहार, हुजूर आप...

अन्न सुरक्षा के आधे-अधूरे प्रयास और पूरे बेख़बर हम

अन्न सुरक्षा के आधे-अधूरे प्रयास और पूरे बेख़बर हम

इस शताब्दी के शुरू होते ही,सारी दुनिया ने अपनी सामूहिक बेहतरी के लिए सतत विकास के आठ लक्ष्य तय किये थे.इनमें गरीबी और भुखमरी से लगाकर विभीषिका की तरह फ़ैल रहे रोगों से मुक्ति तक के संकल्प थे....

मोदी के नहीं राष्ट्र के हक में आया जनादेश

मोदी के नहीं राष्ट्र के हक में आया जनादेश

मीडियावाला.इन। 2014 में 44 और 2019 में 52 सीटों तक का सफर तय कर कांग्रेस ने 5 साल तय किए। इन 5 वर्षों में नेहरू-गांधी खानदान के तीन व्यक्तित्व सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी ने मिलकर इस पार्टी...

मोदी का नया अवतार

मोदी का नया अवतार

mediawala.in कई वर्षों बाद मैं कल टीवी चैनलों को दो-ढाई घंटे तक देखता रहा। संसद के सेंट्रल हाल में चल रहा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का भाषण सुन रहा था। मैंने नेहरु से लेकर अब तक के सभी प्रधानमंत्रियों के भाषण...

जनादेश में छिपे संदेशों को काश ! विपक्षी दल समझें !

जनादेश में छिपे संदेशों को काश ! विपक्षी दल समझें !

मीडियावाला.इन। सन् 2019 लोकसभा चुनाव के जनादेश का सभी राजनैतिक दलों को गहरा अध्ययन करना चाहिए। मुझे विश्वास है कि वे ऐसा कर भी रहे होंगे। अभी तक जो हमने विश्लेषण किया है, उसमे राजनैतिक दलों के लिए...