Monday, September 23, 2019

कॉलम / नजरिया

इतना बुरा भी नहीं है शिवराज का चेहरा !

इतना बुरा भी नहीं है शिवराज का चेहरा !

इन चार सालों में मुझे आज तक यह बात पल्ले नहीं पड़ी कि प्रधानमंत्री मोदी और शिवराज जहां जहां, जब जब आमने-सामने होते हैं पीएमजी की भाव भंगिमा से लगता है वह उन्हें फूटी आंख नहीं सुहाते।सीएम हाउस से...

हुसैन सागर में गणपति

हुसैन सागर में गणपति

मीडियावाला.इन।प्रथम वंदनीय मंगलमूर्ति गजानन देवलोक में बहुत थके-हार से लौटे। इमाम हुसैन उन्हें देख दौड़कर निकट आए। एक हाथ बढ़ाया तो गणपति ने मुस्कुराकर अपना हाथ उनके हाथ में दे दिया। हुसैन एक घने वृक्ष की छाया में आदर से...

प्रेमसुख पुल देगा कितने दुख ?

प्रेमसुख पुल देगा कितने दुख ?

शुक्रवार-शनिवार(21-22 सितंबर) रात की बारिश ने एक बार फिर इंदौर की शहर सरकार को बेनकाब कर दिया। साथ ही यह भी बता दिया कि उसका भरोसा गड्ढे भरने में है, गड्ढे न हो इसमें नहीं । महज 58 साल...

विमान पर सवार घोड़े

विमान पर सवार घोड़े

एक गांव में एक सेठ रहता था। सेठ बहुत परोपकारी था। खास बात यह थी कि उसने सबकुछ अपनी मेहनत से कमाया था। पैसा कमाने, बचाने और सही जगह लगाने में उसे महारत हासिल थी। सबसे अहम उसकी पारखी...

वो वाकई हिंदी कमेंट्री कला के अनोखे ‘जसदेव’ थे...!

वो वाकई हिंदी कमेंट्री कला के अनोखे ‘जसदेव’ थे...!

कुछ इवेंट उसके साथ चलने और गूंजने  वाली आवाज के साथ दिल-दिमाग में हमेशा के लिए फ्रीज हो जाते हैं। महान हिंदी कमेंटेटर जसदेव सिंह की आवाज और कमेंट्री कला उन्हीं में से एक थी। वो रेडियो युग का...

मायावती और कांग्रेस के रिश्तों में दरार चुनाव में असर दिखाएगी!

मायावती और कांग्रेस के रिश्तों में दरार चुनाव में असर दिखाएगी!

मध्यप्रदेश में कांग्रेस को जो उम्मीद नहीं थी, वो हो गया। बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमो मायावती ने कांग्रेस से चार महीने से चल रही बातचीत तोड़कर 22 सीटों पर अपने उम्मीदवार घोषित कर दिए। अब उनका एलान...

गुजर गई खुली आंखों से झूठ देखने की झिलमिल रात 

गुजर गई खुली आंखों से झूठ देखने की झिलमिल रात 

सरकारों ने इंट्रेस्ट ही नहीं दिखाया कि कपड़ा मिलें चालू रहें साल में एक दिन इंदौर में हजारों परिवार खुली आंखों से झूठ देखते हैं और आसपास से भी लोग इस झिलमिल करती रात के झूठ में सहभागी...

राजनीति में ‘मामा’ बनना ‘काका’ कहलाने से ज्यादा फायदेमंद क्यों ?

राजनीति में ‘मामा’ बनना ‘काका’ कहलाने से ज्यादा फायदेमंद क्यों ?

भारतीय राजनीति में मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ही अकेले ‘मामा’ नहीं है, एक और राजनीतिक मामा पश्चिम बंगाल में भी हैं। ये हैं सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस सरकार के उत्तर बंगाल विकास मंत्री रबीन्द्रनाथ घोष। घोष ने हाल में...

भ्रष्टाचार अब व्यंग नहीं विमर्श का विषय

भ्रष्टाचार अब व्यंग नहीं विमर्श का विषय

शरद जोशी ने कोई पैतीस साल पहले हम भ्रष्टन के भ्रष्ट हमारे व्यंग्य निबंध रचा था। तब यह व्यंग्य था, लोगों को गुदगुदाने वाला। भ्रष्टाचारियों के सीने में नश्तर की तरह चुभने वाला। अब यह व्यंग्य, व्यंग्य नहीं रहा।...

'हरी' और 'पीली'के बाद अब 'सफ़ेद' क्रान्ति का संकट 

'हरी' और 'पीली'के बाद अब 'सफ़ेद' क्रान्ति का संकट 

हमारे देश में जब भी आम-आदमी के जीवन सुधारने का कोई भी सरकारी कार्यक्रम शुरू होता है,तो उसे 'क्रांति'का नाम दिया जाता है.कृषि उत्पादन बढाकर,देश को खाद्यान्न उत्पादन में आत्म-निर्भर बनाने के उद्देश्य से,पहले आई थी 'हरित क्रांति'.यह अलग-अलग...

मंटो , फिल्म समीक्षा

मंटो , फिल्म समीक्षा

सआदत हसन मंटो के जीवन पर तीन घण्टे की फ़िल्म बनाना भी बड़ा मुश्किल काम है , जिसका पूरा जीवन धारा के विपरीत बहने में निकला हो और भारत तथा पाकिस्तान दोनों ही देशों में जिसके लिखे पर मुक़दमे...

भव्‍य भाजपा : दीनदयाल के अंत्‍योदय के साथ आधुनिक भव्‍यता की कदमताल

भव्‍य भाजपा : दीनदयाल के अंत्‍योदय के साथ आधुनिक भव्‍यता की कदमताल

इटेलियन टाइल्‍स, महंगे झूमर और लाइट, परिसर और भवन के प्रवेश कक्ष में फव्वारा, पूरी तरह एयर कंडीशन्‍ड इमारत,सीसीटीवी कैमरे की निगरानी,400 कार्यकर्ताओं की बैठक क्षमता का ऑडिटोरियम, सह संगठन मंत्री समेत जिला,ग्रामीण अध्यक्ष के कक्ष, अतिथि विश्राम...

बंगाल का ‘राजनीतिक हिंदुत्व’ और कम्युनिस्टों की जाति उपेक्षा ?

बंगाल का ‘राजनीतिक हिंदुत्व’ और कम्युनिस्टों की जाति उपेक्षा ?

देश और खासकर मध्यप्रदेश में एट्रोसिटी एक्ट के विरोध और समर्थन के हो हल्ले के बीच एक दलित चिंतक के गंभीर आरोप( या स्थापना) पर लोगों का ज्यादा ध्यान नहीं गया। दलित राजनीतिक विचारक और एक्टिविस्ट कांचा इलैया...

रेफल कहीं मोदी को न ले डूबे ?

रेफल कहीं मोदी को न ले डूबे ?

लड़ाकू विमान रेफल के सौदे ने अब बड़ा खतरनाक मोड़ ले लिया है। फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद ने इसी विमान से मोदी सरकार पर बम बरसा दिए हैं। वह विमान बनने के बाद भारत आएगा या नहीं,...

समाज पर अत्याचार करने वालों के खिलाफ कब बनेगा कानून!

समाज पर अत्याचार करने वालों के खिलाफ कब बनेगा कानून!

एससी-एसटी एट्रोसिटी एक्ट में केंद्र सरकार के फैसले ने पूरे समाज को आंदोलित कर दिया है। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद एससी-एसटी के विरोध को दबाने की जगह केंद्र सरकार ने यह जताने की कोशिश की थी...

अगर मंटो को पढ़ा है तब तो इसे देखना बनता ही है

अगर मंटो को पढ़ा है तब तो इसे देखना बनता ही है

ये नवाज़ुद्दीन भी गज़ब है! मांझी में पूरा दशरथ मांझी लगा और sureमंटो में वह मंटो लगता है जब बोलता है - आखिर में तो अफ़साने ही रह जाते हैं और रह जाते हैं...

हिलते तख्त का कंपन अब महसूस होने लगा है

हिलते तख्त का कंपन अब महसूस होने लगा है

एट्रोसिटी एक्ट को लेकर मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान की घोषणा के बाद लगता है कि हिलते तख्त  का कंपन अब महसूस किया जाने लगा है। उम्मीद जगी है कि केंद्र सरकार भी इस कथित एक्ट के सख्त प्रावधानों पर फिर...

बत्ती चालू मीटर गुल

बत्ती चालू मीटर गुल

  हमारे यहाँ शायद ही कोई ऐसा हो जो बिजली की दिक़्क़तों से दो चार ना हुआ हो पर इसपे कोई मनोरंजक और उद्देश्यपूर्ण फ़िल्म भी बन सकती है ऐसा कल्पना में...

सर्जिकल स्ट्राइक की दूसरी बरसी पर राजनीतिक बवाल क्यों...?

सर्जिकल स्ट्राइक की दूसरी बरसी पर राजनीतिक बवाल क्यों...?

एलअोसी के उस पार भारतीय सेना द्वारा की गई सफल सर्जिकल स्ट्राइक की दूसरी बरसी सेना सहित पूरे भारत के लिए गर्व और आत्मावलोकन का अवसर होनी  चाहिए थी, लेकिन अगर यह प्रसंग भी राजनीतिक बवाल का मुद्दा...