Monday, September 23, 2019
शिवराज की परवाह नहीं करते नए प्रदेश भाजपाध्यक्ष

शिवराज की परवाह नहीं करते नए प्रदेश भाजपाध्यक्ष

 राकेश सिंह अध्यक्ष बनने के बाद पूरे प्रदेश का दौरा कर रहे है। प्रदेश के हर जिले में अपनी टीम बना रहे है। और यह सब शिवराज को बताए बिना हो रहा है।

अमित शाह की पिछली मध्यप्रदेश यात्रा और प्रदेश भाजपाध्यक्ष पर सांसद राकेश सिंह के चुने जाने से मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान कुछ मायूस लग रहे है। ऐसे एक नहीं, बल्कि कई अवसर आए है, जब राकेश सिंह ने अपनी स्वायत्त स्थिति मुख्यमंत्री के सामने पेश की है। 

भाजपा के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान हर जगह मुख्यमंत्री को ही आगे रखकर बाते किया करते थे। सांसद होते हुए भी उनके क्षेत्र के कई काम राज्य सरकार की फाइलों में अटके पड़े थे, जिन्हें वे अंजाम तक नहीं पहुंचा पाए। यह स्थिति तब थी, जब वे प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष नहीं थे। अब श्री चौहान की रवानगी के बाद शिवराज सिंह का जलवा कुछ कम नजर आ रहा है। 

राकेश सिंह जबलपुर के सांसद हैं और न तो वे मुख्यमंत्री की लल्लो-चंपो करते है और न ही उनसे पूछकर हर काम करते है। संगठन को किस तरह चलाना है, इस बारे में जरूरत पड़ने पर वे अमित शाह और उनकी टीम के वरिष्ठों से राय ले लेते है। 

मुख्यमंत्री ने शिवराज सिंह की हवाइयां उड़ने का एक और कारण यह है कि अमित शाह मध्यप्रदेश के बारे में यह कहकर गए हैं कि पार्टी अगला विधानसभा चुनाव किसी चेहरे को सामने रखकर नहीं संगठन को सामने रखकर लड़ेगी। इसका मतलब साफ है कि अगला विधानसभा चुनाव शिवराज सिंह चौहान की तस्वीर के सहारे नहीं, भाजपा कार्यकर्ताओं के दम-खम और मोदी मैजिक के सहारे लड़ा जाएगा। 

 

0 comments      

Add Comment