Tuesday, October 23, 2018
सपाक्स संरक्षक आईएएस त्रिवेदी का लेटर बम , प्रशासनिक हलकों में हड़कंप

सपाक्स संरक्षक आईएएस त्रिवेदी का लेटर बम , प्रशासनिक हलकों में हड़कंप

मीडियावाला.इन।  सपाक्स संरक्षक हीरालाल त्रिवेदी द्वारा मंत्रालय के कुछ वरिष्ठ ब्यूरोक्रेट्स के खिलाफ जातिगत आधार पर काम करने का नामजद आरोप लगाया गया है। मुख्य सचिव को  इस संबंध में लिखे पत्र से मंत्रालय में खलबली मच गई है। इस शिकायत के बाद वे अफसर परेशान दिखाई दे रहे हैं जिनके नाम इस शिकायत में लिखे गए हैं।

गौरतलब है कि त्रिवेदी ने आरोप लगाया है कि मंत्रालय के शीर्ष नौकरशाह जातिगत आधार पर काम कर रहे हैं। उल्लेखनीय है कि मध्यप्रदेश में अधिकारियों पर राजनीतिक दलों से सांठगांठ करने के आरोप पहले भी लगते रहे हैं। इसके अलावा किसी खास विचारधारा वाला संगठन से भी नजदीकी के मामले सामने आते रहे हैं ।अब सपाक्स प्रमुख हीरालाल त्रिवेदी ने जो लेटर बम फोड़ा है उससे आइएएस वर्ग में सरगर्मी बढ़ गई है और हड़कंप मच गया है। त्रिवेदी ने अपनी शिकायत में अपर मुख्य सचिव बेंस, अपर मुख्य सचिव कमल सहित वरिष्ठ आईएएस अधिकारियों पर सामाजिक सद्भाव बिगाड़ने का आरोप लगाया है। इसी के साथ अजाक्स प्रमुख  -  महिला बाल विकास विभाग के प्रमुख सचिव  कंसोटिया पर भी अपने विभाग में सामान्य वर्ग और सपाक्स से जुड़े अफसरों और कर्मचारियों के खिलाफ व्यक्तिगत द्वेष से काम करने का आरोप लगाया है। त्रिवेदी ने बताया कि इन अफसरों, जो जातिगत आधार पर काम कर रहे हैं, तत्काल हटाया जाना जरूरी है ताकि सामाजिक सद्भाव बना रहे। त्रिवेदी ने खंडवा के कलेक्टर विशेष गढ़पाले और शहडोल के एस पी  पर भी जातिगत भेदभाव का आरोप लगाया है । उन्होंने लिखा है कि 2 अप्रैल को भारत बंद में नामजद आरोपी अजाक्स संगठन के अधिकारी कर्मचारी के विरुद्ध कोई कार्यवाही नहीं हो रही है, उल्टे उन्हें छूट दी जा रही है जबकि सामान्य वर्ग के अफसरों को प्रताड़ित किया जा रहा है।

0 comments      

Add Comment