Wednesday, October 16, 2019
राजस्थान विधानसभा चुनाव के लिए मतदान कल

राजस्थान विधानसभा चुनाव के लिए मतदान कल

मीडियावाला.इन।  जयपुर, जागरण संवाददाता। राजस्थान विधानसभा की 199 सीटों के लिए शुक्रवार को सुबह आठ बजे से शाम पांच बजे तक मतदान होगा। मतदान ईवीएम और वीवीपैट मशीनों से कराया जाएगा। चुनाव आयोग ने स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण चुनाव के लिए सभी जरूरी तैयारियां पूरी कर ली हैं। एक रामगढ़ सीट पर बसपा प्रत्याशी के निधन के कारण चुनाव स्थगित कर दिए गए हैं। मतगणना 11 दिसंबर को होगी।

चार करोड़ 75 लाख मतदाता करेंगे 2274 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला  

मुख्य निर्वाचन अधिकारी आनंद कुमार ने बताया कि 199 विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों के लिए कुल 4 करोड़ 74 लाख 37 हजार 761 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। इनमें दो करोड़ 47 लाख 22 हजार 365 पुरुष एवं दो करोड़ 27 लाख 15 हजार 396 महिला मतदाता हैं। प्रथम बार मतदान कर रहे युवा मतदाताओं की संख्या 20 लाख 20 हजार 156 है। राज्य में सेवानियोजित मतदाताओं की संख्या एक लाख 16 हजार 456 है, जिनको ईटीपीबीएस के माध्यम से पोस्टल बेलेट पेपर प्रेषित किए जा चुके हैं। कुल 2274 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। इनमें से 194, भाजपा से 199 उम्मीदवार, बहुजन समाज पार्टी से 189, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी से एक, कम्युनिस्ट पार्टी आॅफ इंडिया से 16 एवं कम्युनिस्ट पार्टी आॅफ इंडिया (मार्कसिस्ट) से 28 उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे हैं। वहीं, 817 अमान्यता प्राप्त दलों के प्रत्याशी एवं 830 निर्दलीय उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे हैं।


दो लाख से ज्यादा ईवीएम-वीवीपैट का होगा प्रयोग

चुनाव में ईवीएम के प्रयोग के साथ-साथ संपूर्ण प्रदेश में वीवीपैट मशीनों का प्रयोग भी पहली बार किया जा रहा है। वीवीपैट मशीन से मतदाता इस बात की पुष्टि कर सकेगा कि उसने जिस उम्मीदवार के पक्ष में मतदान किया है, उसका वोट उस उम्मीदवार के पक्ष में गया है या नहीं। 68 हजार 894 बीयू, 59 हजार 160 सीयू एवं 68 हजार 303 वीवीपैट मशीनों का प्रयोग किया जा रहा है। इसके अलावा रिजर्व के रूप में भी पर्याप्त मशीनें उपलब्ध हैं। राज्य में कुल 4 लाख 36 हजार 125 मतदाता विभिन्न श्रेणियों के दिव्यांग जन हैं। मतदान केंद्रों पर उनकी सुविधा के लिए सभी मतदान केंद्रों पर रैम्प्स, व्हील चेयर तथा सहायता के लिए एक लाख 3 हजार 166 स्काउट गाइड, एनएसएस और एनसीसी के वालंटियर लगाए गए हैं।


259 मतदान केंद्रों का जिम्मा महिलाओं को

नवाचार के रूप में 259 समस्त महिला प्रबंधित मतदान केंद्र स्थापित किए जा रहे हैं। इनमें मतदान दलकर्मी, सुरक्षाकर्मी आदि सभी महिलाएं ही होंगी।199 विधानसभा क्षेत्रों के लिए कुल 51 हजार 687 मतदान केंद्रों की स्थापना की गई है, इनमें से 209 आदर्श मतदान केंद्र हैं। आनंद कुमार ने बताया कि चुनाव आचार संहिता का पालन कठोरता से किया गया है और शिकायतों पर कार्रवाई भी की जा रही है। विभिन्न स्तरों पर आने वाली सभी शिकायतों का त्वरित निस्तारण किया जा रहा है। सी-विजिल एप से अब तक तीन हजार 784 से अधिक शिकायतें इसमें प्राप्त हुई हैं। इनमें से 3098 शिकायत सही पाई गई हैं। वहीं, रिटर्निंग अधिकारी द्वारा जांच के पश्चात 491 शिकायतें ड्रॉप की गई हैं। वर्तमान में डीसीसी स्तर पर एक शिकायत एवं 28 शिकायतें जांच की प्रक्रिया में हैं।


13 हजार से ज्यादा संवेदनशील मतदान केंद्र

राज्य मे कुल 13 हजार 382 क्रिटिकल मतदान केंद्र हैं, जिनमें से 4 हजार 982 मतदान केंद्रों पर माइक्रो आब्जर्वर, तीन हजार 948 मतदान केंद्रों पर वीडियोग्राफर, तीन हजार 138 मतदान केंद्रों पर वेबकास्टिंग और सात हजार 791 मतदान केंद्रों पर केंद्रीय सुरक्षा बल (सीएपीएफ) की तैनाती की गई है। राज्य में कुल 387 नाके और चेक पोस्ट लगाए गए हैं। राज्य में 1,44,941 पुलिस बल तैनात किया गया है। इनमें 640 कंपनियां सीआरपीएफ की हैं।

अवैध हथियार और विस्फोटक पदार्थों की जब्ती

राज्य में आदर्श आचार संहिता लागू होने के बाद चार हजार 203 अवैध हथियारों, एक हजार 450 कारट्रिज, 370 किलोग्राम विस्फोटक पदार्थों की जब्ती की गई है। राज्य में कुल एक लाख 74 हजार 711 हथियार लाइसेंस हैं। अब तक कुल एक लाख 60 हजार 279 लाइसेंस हथियार जमा करा चुके हैं। सीआरपीसी के निरोधात्मक प्रावधानों के तहत दो लाख छह हजार 632 प्रकरणों में तीन लाख 94 हजार 911 व्यक्तियों को पाबंद किया गया है। वहीं, दो लाख 14 हजार 455 गैर जमानती वारंटों की तामील कराई गई है। 

0 comments      

Add Comment