Thursday, October 24, 2019
कमलनाथ सरकार के खिलाफ शुरू हुआ 'संविदा स्वराज आंदोलन', 21 अक्टूबर को भोपाल में करेंगे बड़ा प्रदर्शन

कमलनाथ सरकार के खिलाफ शुरू हुआ 'संविदा स्वराज आंदोलन', 21 अक्टूबर को भोपाल में करेंगे बड़ा प्रदर्शन

मीडियावाला.इन।

भोपाल. मध्य प्रदेश संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी संघ  ने 19 हजार संविदा कर्मचारियों के साथ 'संविदा स्वराज आंदोलन'की आज से शुरुआत की है. आंदोलन के पहले दिन प्रदेश भर के विभिन्न जिलों में संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों ने काली पट्टी बांधकर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया. प्रदर्शनकारियों ने कहा कि 18 महीने गुजरने और मुख्यमंत्री कमलनाथ  के निर्देश के बाद भी कोई मांग पूरी नहीं हुई है. साथ ही उनका आरोप है कि कांग्रेस सरकार ने अपने वचन पत्र को पूरा नहीं किया.

ये कर्मचारियों की मांग
संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों की मुख्य मांग नियमितीकरण, 90 प्रतिशत वेतन लागू और निष्कासित कर्मचारियों की बहाली की है. उनकी मानें तो मुख्यमंत्री के 1 अगस्त 2019 के सीधे निर्देश के बाद भी राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन/राज्य स्वास्थ्य समिति में 5 जून 2018 सामान्य प्रशासन नीति के तहत 90 प्रतिशत वेतन लागू नहीं हुआ है. उनकी खास नाराजगी की वजह यही है.

संविदा स्वराज आंदोलन के तहत

>>10 और 11 अक्टूबर को जिला स्तर पर काली पट्टी बांधकर काम किया जाएगा.
>>16 अक्टूबर 2019 को जिला स्तर पर स्थानीय सत्ताधारी विधायक/मंत्री/कलेक्टर को मुख्यमंत्री के नाम पर ज्ञापन दिया जाएगा.
>> 21 अक्टूबर 2019 को राजधानी भोपाल में बड़ा धरना प्रदर्शन किया जाएगा.

ये हैं अहम मांगें
>>सामान्य प्रशासन नीति अनुरूप 90 प्रतिशत वेतन अविलंब लागू किया जाए.
>>वचन पत्र अनुरूप नियमितीकरण, किसान कर्जमाफी की तर्ज पर किया जाए.
>>निष्कासित कर्मचारियों की सेवा बहाली हो और आउटसोर्स किए गए सपोर्ट स्टाफ को एनएचएम में वापस लिया जाए.

Source-News18

0 comments      

Add Comment