2019 Batch IAS Jay Shivani: भोपाल के लाल का कमाल, 4 साल की सर्विस में बने कमिश्नर!

10290
2019 Batch IAS Jay Shivani

2019 Batch IAS Jay Shivani: भोपाल के लाल का कमाल, 4 साल की सर्विस में बने कमिश्नर!

Bhopal : भारतीय प्रशासनिक सेवा में 2019 बैच के IAS अधिकारी भोपाल के जय शिवानी ने प्रशासनिक सेवा के क्षेत्र में कमाल कर दिया। यूं भी कहा जा सकता है कि उन्होंने प्रशासनिक क्षेत्र में नया इतिहास रच दिया। कोई अतिशयोक्ति तो नहीं पर कमाल जरूर है कि उन्हें सिर्फ 4 साल की प्रशासनिक सेवा में ही कमिश्नर के पद तक पहुंचने का अवसर मिल गया। जय भोपाल के व्यवसायी रमेश शिवानी के पुत्र है।

WhatsApp Image 2024 03 31 at 7.06.52 PM

देश में जय शायद अखिल भारतीय सेवा के पहले ऐसे अधिकारी हैं जो केवल 4 साल के सेवाकाल में ही असम सरकार में एक बड़े विभाग के कमिश्नर पद की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं। जबकि, मध्य प्रदेश समेत अधिकांश राज्यों में इस बैच के अधिकारी अभी तक एडिशनल कलेक्टर तक ही पहुंच पाए। ऐसे में जय शिवानी की यह उपलब्धि न सिर्फ भोपाल बल्कि मध्य प्रदेश के लिए भी गर्व की बात है।जय शिवानी की पत्नी आरुषि सिंह भारतीय सूचना सेवा {IIS) की अधिकारी है .उन्हें भी अपने पति जय की उपलब्धियों पर नाज है .

WhatsApp Image 2024 03 31 at 7.05.21 PMJay Shivani on X: "#NewProfilePic https://t.co/xooNuvXA8Y" / X

Today Sri Jay Shivani (IAS)... - Care India Children Home | Facebook

जय असम कैडर के IAS अधिकारी हैं और उन्हें राज्य सरकार ने 22 जुलाई 2023 को एक आदेश के जरिए पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग का कमिश्नर नियुक्त किया है। इतना ही नहीं उन्हें स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) के मिशन डायरेक्टर का अतिरिक्त प्रभार भी दिया गया। निश्चित तौर पर यह इस युवा अधिकारी की अनोखी कार्य कुशलता, परिणाम देने की क्षमता और कार्य के प्रति समर्पण भावना का ही नतीजा है। यही वजह है कि वे इतने कम समय में एक बड़े विभाग के HOD बन गए । जाहिर है उन्होंने देश के प्रशासनिक क्षेत्र में नया रिकॉर्ड तो बना ही दिया।

WhatsApp Image 2024 03 31 at 7.06.51 PM 1

जय शिवानी के नाम एक महत्वपूर्ण उपलब्धि यह है कि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत असम में आयोजित महा गृह प्रवेश में एक ही दिन में 5 लाख 65 हजार बेघर परिवारों को अपना आशियाना नसीब हुआ। यह संख्या देश में किसी भी राज्य में एक दिन में सबसे ज्यादा गरीब परिवारों का गृह प्रवेश की है और इसका श्रेय जय और उनकी टीम को जाता है।

असम सरकार ने जय शिवानी पर भरोसा जताकर जो जवाबदारियां उन्हें सौंपी, उस पर वे न सिर्फ खरे उतरे वरन उन्होंने अपने दोनों विभागों में सरकार की अपेक्षा से कहीं अधिक उपलब्धियां हासिल की। भोपाल में न्यू गोल्डन सिटी (जाटखेड़ी) निवासी जय के पिता रमेश शिवानी और उनका पूरा परिवार बेटे जय की इन उल्लेखनीय उपलब्धियों पर गौरवान्वित हैं।

Kissa-A-IAS: IAS Aryaka Akhoury: माफिया सरगनाओं को सबक सिखाने वाली ‘लेडी सिंघम’! 

Central Deputation Tenure Extended: 2003 बैच के IAS अधिकारी की केंद्रीय प्रतिनियुक्ति अवधि बढ़ी