22 Tonnes Heroin Seized : जड़ी बूटी का लेप लगी 1800 करोड़ की 22 टन हेरोइन जब्त

सबसे बड़ी कार्रवाई, अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमत करीब 1,725 ​​करोड़ रुपए

395

Mumbai : दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल को आज एक बड़ी कामयाबी हाथ लगी। स्पेशल सेल ने मुंबई के नवा शेरा पोर्ट पर दबिश देकर एक कंटेनर जब्त किया, जिसमें करोड़ों रुपए की हेरोइन कोटेड मुलेठी (एक तरह की जड़ी-बूटी) भरी थी। बरामद इस नशे के सामान की कीमत 1800 करोड़ रुपए आंकी गई है। यह दिल्ली पुलिस की अब तक की सबसे बड़ी बरामदगी बताई गई है।

इस हेरोइन ड्रग्स की कीमत अंतरराष्ट्रीय बाजार में करीब 1,725 ​​करोड़ रुपए है। जब्त हेरोइन का वजन करीब 22 टन है जो लीकोरिस से लेपी गई थी। स्पेशल सेल के CP एचएस धालीवाल ने कहा कि इसे भेजने वाला अफगानी नागरिक है, जो फ़िलहाल पाकिस्तान में है। इस ड्रग को भेजने वाली कंपनी अफगानिस्तान की है और कंसाइनिंग कंपनी दुबई की है। यह हमारे पड़ोसी देश में स्थित एक पोर्ट से चला है। इसके पीछे अफगान नागरिक है जिसको गिरफ़्तार कर लिया गया।

पुलिस स्पेशल सेल ने कुछ दिनों पहले दो अफगानी नागरिकों को गिरफ्तार किया था। उन दोनों ने नार्को टेरर का खुलासा किया था। उनकी निशानदेही पर स्पेशल सेल की टीम ने 1200 करोड़ की ड्रग बरामद की थी। जब उन दोनों विदेशी नागरिकों से लंबी पूछताछ की गई, तो उन्होंने खुलासा किया कि मुंबई के पोर्ट पर भी एक कंटेनर में ड्रग मौजूद है।

इस सूचना के आधार पर दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल की टीम दोनों आरोपियों को लेकर मुबंई के नवा शेरा पोर्ट पर पहुंची और वहां दबिश देकर एक कंटेनर से 20 टन से ज्यादा हेरोइन से कोटेड मुलेठी बरामद की। सूत्रों के मुताबिक अभी तक ये दिल्ली पुलिस की सबसे बड़ी हेरोइन की बरामदगी है। इसकी कीमत करीब 1800 करोड़ रुपए बताई गई है।

स्पेशल सेल के मुताबिक, इस नशे की खेप के तार नार्को टेरर से जुड़े हैं। दिल्ली पुलिस के DCP प्रमोद कुशवाहा के नेतृत्व में इस ऑपरेशन को अंजाम दिया। उनकी टीम में ACP ललित मोहन नेगी, हृदय भूषण और इंस्पेक्टर विनोद बडोला जैसे तेज तर्रार अफसर शामिल हैं। इस टीम ने साल 20-21 में सबसे ज्यादा ड्रग पकड़ी है, जिनमें ज्यादातर मामले नार्को टेरर के हैं।