Aryan Khan Arrest वे तीन अफसर जिन्होंने Operation Cruz को अंजाम दिया

854

शाहरुख खान (Shahrukh Khan) के बेटे आर्यन खान (Aryan Khan) से नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) पूछताछ जारी है। शनिवार देर रात मुंबई के एक क्रूज शिप में चल रही रेव पार्टी (Drugs Party) के दौरान छापेमारी में NCB ने आर्यन खान समेत 8 लोगों को हिरासत में लिया था। इस पूरे ऑपरेशन को NCB (नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो) के तीन तेज़तर्रार अफसरों ने ही अंजाम दिया।

पहला अफसर समीर
NCB के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े (Sameer Wandhede) ने पिछले एक साल से शायद ही ऐसा कोई दिन गया होगा, जब NCB के किसी Drug Operation को अंजाम नहीं दिया हो! बॉलीवुड ड्रग्स कनेक्शन मामले के दाऊद इब्राहिम के गैंग के कई मेम्बर की गिरफ्तारी खुद समीर वानखेड़े ने की है। सारा अली खान, श्रद्धा कपूर से खुद पूछताछ इन्होंने ही की और Aryan Khan से भी वही पूछताछ कर रहे हैं। इनके पिता भी मुंबई पुलिस से जुड़े हैं और इनकी पत्नी मंझी हुई कलाकार हैं और प्रकाश झा की फिल्म ‘गंगाजल’ में माधुरी दीक्षित के साथ काम कर चुकी है।

दूसरे अफसर विश्व विजय
NCB के बेस्ट और सबसे तेजतर्रार अधिकारी मुंबई के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े के अधीन विश्व विजय सिंह (सुपरिटेंडेंट NCB) हैं, जो मूलतः लखनऊ के रहने वाले हैं। इन्होने ही शाहरुख खान के बेटे Aryan को सबसे पहले न केवल हिरासत में लिया, बल्कि उसकी गिरफ्तारी अपने हाथ से NCB के रिकॉर्ड में दर्ज की। विश्व विजय सिंह 10 साल से NCB में तैनात हैं और दिल्ली में तैनाती के दौरान उन्होंने 2018 में हेरोइन की सबसे बड़ी खेप पकड़ी थी। Mumbai क्रूज केस की तफ्तीश भी वे ही कर रहे हैं।

विजय सिंह वे असफर हैं, जिन्होंने सुशांत सिंह मामले में रिया चक्रवर्ती को गिरफ्तार किया था। वे दस साल में फ़िल्मी दुनिया की कई सेलिब्रिटीज़ से ड्रग कनेक्शन को लेकर पूछताछ कर चुके हैं। रिया चक्रवर्ती, उसके भाई शोविक और अर्जुन रामपाल से भी वे पूछताछ कर चुके हैं। हेरोइन का सबसे बड़ा भारत का खुलासा विजय सिंह ने ही किया था। विजय सिंह को NCB के बेस्ट ऑपरेशन को अंजाम देने के लिए सम्मानित भी किया जा चुका है।

तीसरे अफसर हैं आशीष
Cruz Operation को अंजाम देने वाले दूसरे अफसर हैं आशीष राजन प्रसाद। इस Secret Operation को अंजाम देने के लिए आशीष रंजन भी 2 अक्टूबर को Cruz पर पैसेंजर के भेष में मौजूद थे। उन्होंने अपने हाथ से Drug की खेप बरामद की आशीष इससे पहले CISF की स्पेशल इंटेलिजेंस यूनिट (SIU) में काम कर चुके है और इन्हें ‘मिनिस्टर एक्सीलेंस सर्विसेज मेडल’ भी मिल चुका है। आशीष साल 2017 से NCB में डेपुटेशन पर हैं। आशीष CISF में बतौर इंस्पेक्टर रहते हुए NCB में डेपुटेशन पर हैं और इंटेलिजेंस कलेक्शन में उनको महारत हासिल हैं।