Bees stopped Work of Expressway : मधुमक्खियों ने दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे का काम रोका!

दो बार मधुमक्खियों को हटाया गया!, अब काम अप्रैल में ही पूरा होगा!

674

Bees stopped Work of Expressway : मधुमक्खियों ने दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे का काम रोका!

Indore : दिल्ली से मुंबई को सड़क मार्ग से जोड़ने के लिए 1386 किलोमीटर लंबा एक्सप्रेस-वे बनाया जा रहा है। अभी सोहना से दौसा और लालसोट खंड के बीच ही यातायात शुरू हुआ। देश के तीन राज्यों से गुजर रहा यह एक्सप्रेस-वे मध्यप्रदेश के तीन जिलों से भी होकर गुजरेगा। मध्यप्रदेश में इस एक्सप्रेस-वे की लंबाई 244.50 किलोमीटर है। इस महीने के अंत तक इसका काम पूरा होना था। लेकिन, मधुमक्खियों के कारण इस एक्सप्रेस-वे का काम अप्रैल तक के लिए टल गया।

दरअसल, इस एक्‍सप्रेस-वे के निर्माण में मधुमक्खियां रोड़े अटका रही हैं। मंदसौर जिले के सीतामऊ में चंबल नदी पर बनाए जा रहे 400 मीटर लंबे आठ लेन पुल पर गर्डर डालने का काम अधूरा है। आधे हिस्से में गर्डर डल गए, लेकिन आधे हिस्से में मधुमक्खी के छत्तों के कारण काम रुक गया। नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (NHAI) के अधिकारियों का कहना है कि पुल के ढांचे के नीचे मधुमक्खियों ने अनगिनत छते बना लिए। इन्‍हें कई बार हटाया गया, पर मधुमक्खियां दोबारा छत्ते बना लेती हैं।

ये मधुमक्खियां यहां काम कर रहे इंजीनियरों और मजदूरों पर हमला कर देती हैं। इस कारण से पुल के बचे हिस्से पर गर्डर लगाने का काम धीमा चल रहा है। इसके अलावा गरोठ के पास हाईटेंशन लाइन के दर्जनभर टावर खड़े हैं, उन्हें भी नहीं हटाया जा सका। इस वजह से करीब 300 मीटर लंबाई में आठ लेन सड़क नहीं बन सकी।

मध्यप्रदेश वाले हिस्से के निर्माण पर केंद्रीय सडक़ परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय 11,120 करोड़ रुपए खर्च कर रहा है। दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे मध्यप्रदेश के मंदसौर, रतलाम और झाबुआ जिलों से होकर निकलेगा. एक्सप्रेस-वे निर्माण में आई दिक्कतों की वजह से अब इसके 31 मार्च के बजाय अप्रैल अंत तक पूरा होने की उम्मीद है।

अब एक बार फिर मधुमक्खियों के छत्ते हटाए हैं और पुल पर गर्डर डालने का काम शुरू किया गया। इस तरह गरोठ के पास हाईटेंशन लाइन शिफ्ट करने का काम भी 26 मार्च से शुरू किया गया। तीन दिन के लिए बिजली सप्लाई काटी गई है।