Blog

अंजू शर्मा

सभी प्रतिष्ठित पत्र-पत्रिकाओं और ब्लोग्स में वर्षों से कविताओं, कहानियों, लेखों, रिपोर्टों का प्रकाशन!

कविता 'बेटी के लिए' चीन के 'क्वांगचो हिंदी विश्वविद्यालय, क्वांगचो, चीन'  में स्नातक स्तर के पाठकों के लिए पाठ्यक्रम में पढाई जा रही है! देश के कई महत्वपूर्ण मंचों से कविता और कहानी पाठ | कविता-संग्रह "कल्पनाओं से परे  का समय" प्रकाशित| इला त्रिवेणी सम्मान 2012', राजीव गाँधी एक्सीलेंस अवार्ड 2013 से सम्मानित

आउटडेटिड

आउटडेटिड

मीडियावाला.इन। दोपहर बीत चुकी थी! ये उनके एक नींद लेकर जागने का समय था जो अब आती ही कहाँ है! उम्र का तकाजा ही है, कमबख्त ये भी गच्चा दे देती है! किस्से सुनने के लिए उन्हें...

कहानी : हिवड़ो अगन संजोय

कहानी : हिवड़ो अगन संजोय

"ऐ तवा ल्यो, कड़ाही ल्यो, चिमटा ल्यो, दरांत ल्यो ...."  बलखाती हुई आवाज़ के साथ वह लचककर मूलिया दर्जी की दुकान के नुक्कड़ से घूमी तो चौराहे पर मौजूद नज़रें उसी दिशा में उठ गईं!  हर कदम के...

कविता - चालीस साला औरतें

कविता - चालीस साला औरतें

इन अलसाई आँखों ने रात भर जाग कर खरीदे हैं कुछ बंजारा सपने सालों से पोस्टपोन की गई उम्मीदें उफान पर हैं कि पूरे होने का यही वक्त तय हुआ होगा शायद अभी नन्हीं उँगलियों से...