Campaign Against Mafia: पुलिस द्वारा बैरियर से अवैध दस्तावेज बनाकर गाड़ी पास कराने के गिरोह का पर्दाफाश

439

Campaign Against Mafia: पुलिस द्वारा बैरियर से अवैध दस्तावेज बनाकर गाड़ी पास कराने के गिरोह का पर्दाफाश

बड़वानी से सचिन राठौर की विशेष रिपोर्ट

बड़वानी : बड़वानी जिले की पुलिस टीम ने नागलवाड़ी थाना क्षेत्र के बालसमुद स्थित एकीकृत जांच चौकी पर संगठित गिरोह बनाकर फर्जी दस्तावेजों की सहायता से वाहनों को पास कराने वाले गिरोह का पर्दाफाश कर 9 लोगों को गिरफ्तार किया है।

बड़वानी के पुलिस अधीक्षक पुनीत गहलोत ने आज पत्रकार वार्ता में बताया कि बालसमंद स्थित एकीकृत जांच चौकी पर फर्जी दस्तावेजों की सहायता से गाड़ियां पास कराने के गिरोह का पर्दाफाश किया गया है।

उन्होंने बताया कि बालसमंद स्थित एकीकृत चौकी की शिकायत पर सेंधवा के सद्दाम अंसारी, फारुख बेग, जगदीश पटेल, लखन राणे और बालसमुद के वसीम व कामता प्रसाद और ओझर के अजय राठौर, मोहम्मद हुसैन व सतीश अलावा को भारतीय दंड विधान संहिता की धारा 420 467 468 व 471 के तहत अपराध पंजीबद्ध गिरफ्तार किया गया है।

इनके पास से एक लैपटॉप एक प्रिंटर 11 मोबाइल फोन तथा सैकड़ों कूट रचित दस्तावेज जप्त किए गए हैं। इस पूरी गैंग का सरगना मोहम्मद हुसैन तथा सद्दाम अंसारी है।

उन्होंने बताया कि मोहम्मद हुसैन और सद्दाम अंसारी बिना दस्तावेज वाले ट्रक मालिकों से संपर्क करते थे और उनके कूट रचित दस्तावेज बना देते थे। इन दस्तावेजों के आधार पर ट्रक बैरियर से पास हो जाते थे और वह इसके एवज में ट्रक ड्राइवरों से पैसा वसूलते थे। उन्होंने अपनी गतिविधियों को संचालित करने हेतु बैरियर के डाकू नामक व्हाट्सएप ग्रुप भी बनाया था। आरोपियों ने 4 टीम बनायी थी। एक टीम बिना दस्तावेज वाले ट्रक संचालकों से संपर्क करती थी दूसरी कूट रचित दस्तावेज बनाती थी तीसरी प्रिंटआउट कर उन्हें प्रदान करती थी और चौथी राशि वसूलती थी।

उन्होंने बताया कि एकीकृत जांच चौकी प्रभारी की सूचना पर पूर्व में कुछ आरोपियों पर प्रतिबंधात्मक कार्यवाही की थी किंतु उस समय इस तरह के संगठित अपराध की जानकारी नहीं मिल पाई थी। उन्होंने बताया कि आरोपियों के बैंक अकाउंट भी खंगाले जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि अभी तक 20 से 25 लाख रुपए की राजस्व हानि की जानकारी प्राप्त हुई है।

उन्होंने बताया कि एसडीओपी सेंधवा कमल सिंह चौहान व डीएसपी एजे के कुंदन सिंह मंडलोई तथा नागलवाड़ी व सेंधवा ग्रामीण थाना प्रभारी के नेतृत्व में 4 टीमें बनाई गई थी।

गिरफ्तार आरोपी-

1. सद्दाम अंसारी पिता खालीद अंसारी जाति मुसलमान उम्र 28 सा निवासी मोतीबाग सेंधवा
2. वसीम पिता निजाम भुट्टो जाति मुसलमान उम्र 33 साल निवासी बालसमुद
3.अजय पिता जगन्नाथ राठौड उम्र 30 साल निवासी झण्डा चौक ओझर ,
4. मो. हुसैन पिता कासम जाति मुसलमान उम्र 38 साल नि. औझर
5.फारुख पिता शाबीर बेग जाति मुसलमान उम्र 28 साल निवासी मेकेनिक नगर सेंधवा
6. सतीश पिता दिनेश अलावा जाति भीलाला उम्र 28 साल निवासी ओझर
7.कामता प्रसाद पिता नत्थू साहू उम्र 42 साल निवासी बालसमुद
8. जगदीश पिता महादेव पटेल जाति कुरमी उम्र 38 साल निवासी निमवार्क कालोनी सेंधवा
9. लखन पिता प्रकाश राणे उम्र 32 साल नि. पटेल नगर सेंधवा

विशेष भूमिका-

एस.डी.ओ.पी. कमलसिंह चौहान अनुभाग सेंधवा, एस.डी.ओ.पी. कुंदनसिंह मण्डलोई अनुभाग बड़वानी, थाना प्रभारी सेंधवा ग्रामीण निरी. अनोखसिंह सिंधिया, थाना प्रभारी नागलवाड़ी निरी. सोनल सिसोदिया, उनि. रितेश खत्री साइबर प्रभारी, सउनि. माधव पाटीदार चौकी प्रभारी बालसमुद सउनि. अनिल दासोंधी थाना नागलवाड़ी, प्र0 आरक्षक योगेश साइबर सेल, आर0 विशाल दसौधी साइबर सेल, आर0 अर्जुन नरगावे सायबर सेल, अरूण मुजाल्दे, सायबर सेल, प्रधान आरक्षक गोरेलाल चौकी बालसमुद, आरक्षक रोहित मारन, आरक्षक विपुल चौकीबालसुमद,आरक्षक महेन्द्र थाना नागलवाड़ी।