Committed Suicide : टीचर के अश्लील मैसेज से परेशान छात्रा ने आत्महत्या की!

384
Suicide :महिला नेता ने अंतरंग तस्वीरें वायरल होने के बाद दी जान

 

Indore : पन्ना से इंदौर में कोचिंग पढ़ने आई छात्रा लड़की ने टीचर के कमेंट से परेशान होकर जान दे दी। छात्रा के चाचा और उसकी सहेली की शिकायत पर पुलिस ने टीचर पर प्रताड़ना का केस दर्ज किया और रविवार रात उसे गिरफ्तार किया। छात्रा के परिजनों ने बताया कि कोचिंग के दौरान टीचर छात्रा पर अश्लील कमेंट करता था। वह छात्रा के मोबाइल पर भी अश्लील मैसेज भेजता था।

भंवरकुआं के टीआई शशिकांत चौरसिया के मुताबिक शैली सिंह राजपूत (पन्ना) इंदौर में कृष्णदेव नगर में अपनी सहेली के साथ किराए के मकान में रहती थी। वह भंवरकुआं स्थित सीएससी कोचिंग से SSC परीक्षा की तैयारी कर रही थी। शनिवार शाम उसने कमरे में सुसाइड कर लिया। सहेली सरस्वती जब कमरे पर आई तो उसने शैली को फंदे पर लटके देखा। पुलिस ने जांच शुरू की तो शैली का मोबाइल फॉर्मेट मिला। उसका सारा डाटा डिलीट किया जा चुका था। पुलिस के अनुसार सुसाइड से पहले मोबाइल को शैली ने ही फॉर्मेट किया।

इस घटना के बाद पुलिस ने छात्रा के चाचा महेन्द्र सिंह और उसके साथ पढ़ने और रूम में रहने वाली छात्रा सरस्वती के बयान लिए। दोनों से मिली जानकारी के बाद पुलिस ने सीएससी कोचिंग पर मैथ्स पढ़ाने वाले टीचर अमन अग्रवाल को रविवार रात गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस ने अमन का मोबाइल भी जब्त किया। वह भी पूरी तरह से फॉर्मेट मिला। अब दोनों के मोबाइल फॉरेंसिक जांच के लिए लैब भेजे जाएंगे।

क्लास में भी गलत कमेंट

शैली के साथ रहने वाली सरस्वती ने बताया कि अमन सर जब भी क्लास लेते, तो सभी उन्हें गुड मॉर्निंग या गुड आफ्टरनून कहकर विश करते थे। लेकिन, शैली को वे अलग से टारगेट करते और कहते कि क्लास में उसने विश ही नहीं किया। इसके बाद जब शैली विश करती तो सर कहते कि शैली की आवाज में इतनी मिठास है कि उसके बिना क्लास शुरू करने का मन ही नहीं करता। इसके बाद किसी न किसी बात को लेकर अक्सर क्लास में शैली पर कमेंट करते रहते थे।

अश्लील मैसेज की भी शिकायत

चाचा ने बताया कि शैली की बात अपनी मां बबली से होती थी। जिसमें वह बताती थी कि आए दिन टीचर अमन उसे कोचिंग में किसी न किसी बात पर परेशान करते हैं। उसके मोबाइल पर अश्लील मैसेज भेजते हैं। पांच दिन पहले भी उसने मां को बताया था कि वह हमारे साथ गलत करने का मन बनाकर रखे हैं। ऐसे में यहां पढ़ना ठीक नहीं है। उसने मां से कोचिंग छोड़ने की बात भी कही थी। इसके बाद वह कुछ दिनों से कोचिंग भी नही जा रही थी।

जबलपुर में रहकर की पढ़ाई

शैली ने चार साल तक जबलपुर में सहेली सरस्वती के साथ रहकर पढ़ाई की थी। यहां से दोनों ने 12वीं पास की। इसके बाद शैली के पिता ब्रज किशोर राजपूत ने कॉम्पिटीटिव एग्जाम की तैयारी के लिए उसे इंदौर पढ़ने भेज दिया। करीब 7 महीने से शैली इंदौर में कोचिंग कर रही थी। चाचा महेन्द्र के मुताबिक पिता किराना दुकान संचालित करते हैं। परिवार में छोटा भाई भी है। पुलिस के मुताबिक अभी अमन से पूछताछ की जा रही है। उसे सोमवार को कोर्ट में पेश किया गया।