फाइनल में भारत को 6 विकेट से हराया, ट्रैविस हेड ने 120 बॉल पर 137 रन बनाए

ऑस्ट्रेलिया ने छठी बार जीता वनडे वर्ल्ड कप

136

फाइनल में भारत को 6 विकेट से हराया, ट्रैविस हेड ने 120 बॉल पर 137 रन बनाए

अहमदाबाद : ऑस्ट्रेलिया आठ साल बाद चैंपियन बना है। ऑस्ट्रेलिया ने इससे पहले 1987, 1999, 2003, 2007 और 2015 में खिताब पर कब्जा किया था। इस मैच को जीतने पर ऑस्ट्रेलिया टीम पर पैसों की बारिश हुई है। कंगारू टीम को 33.31 करोड़ रुपये मिले हैं। वहीं, भारत को 16.65 करोड़ रुपये से संतोश करना पड़ा है।

 

ऑस्ट्रेलिया छठी बार विश्व विजेता बना है। वहीं, भारत का तीसरी बार ट्रॉफी जीतने का सपना टूट गया। उसने टूर्नामेंट में लगातार 10 मैच जीते, लेकिन 11वें मुकाबले में टीम पिछड़ गई। भारत को दूसरी बार ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ फाइनल में हार का सामना करना पड़ा है। पिछली बार 2003 में रिकी पोंटिंग की कप्तानी वाली टीम ने हराया था।

ऑस्ट्रेलिया के कप्तान पैट कमिंस ने टॉस जीतकर गेंदबाजी का फैसला किया। भारतीय टीम 50 ओवर में 240 रन पर सिमट गई। ऑस्ट्रेलिया ने 43 ओवर में चार विकेट पर 241 रन बनाकर मैच को जीत लिया। कंगारू टीम के लिए ट्रेविस हेड ने 141 रन की मैज जिताऊ पारी खेली। मार्नश लाबुशेन ने नाबाद 58 रन बनाए। मिचेल मार्श 15, डेविड वॉर्नर सात, स्टीव स्मिथ चार रन बनाकर आउट हुए। ग्लेन मैक्सवेल ने नाबाद दो रन बनाए

इससे पहले, डेविड वॉर्नर 7 रन बनाकर आउट हुए। उन्हें मोहम्मद शमी ने विराट कोहली के हाथों कैच कराया। ऑस्ट्रेलियाई पारी की पहली ही बॉल पर कोहली से स्लिप पर डेविड वॉर्नर का कैच छूटा।

भारतीय टीम 240 पर ऑलआउट, कोहली-राहुल की फिफ्टी

अहमदाबाद के पीएम नरेंद्र मोदी स्टेडियम में टीम इंडिया ने टॉस हारकर बैटिंग करते हुए 50 ओवर में 240 रन बनाकर ऑलआउट हो गई। टीम इंडिया इस वर्ल्ड कप में पहली बार ऑलआउट हुई है।

भारतीय टीम की ओर से विराट कोहली ने 54 और केएल राहुल ने 66 रन की पारी खेली। कप्तान रोहित शर्मा ने 31 गेंदों में 47 रन बनाकर भारत को तेज शुरुआत दी, लेकिन इस तेजी को बाकी प्लेयर जारी नहीं रख सके। ऑस्ट्रेलियाई टीम की ओर से मिचेल स्टार्क ने 3 विकेट लिए। पैट कमिंस को 2 विकेट मिले।

डेथ ओवर्स में भारत ने 5 विकेट खोए

 

 

थ ओवर्स में भारत ऑलआउट हो गया। आखिरी 10 ओवर में ऑस्ट्रेलिया ने दबदबा बनाए रखा। इस दौरान सबसे बड़ा ओवर 8 रन का ही आया। 5 विकेट गिर जाने के बाद 42वें, 44वें और 45वें ओवर में विकेट खो दिया। इसके बाद सुर्यकुमार यादव के साथ ही बॉलर्स पर रन बनाने का दारोमदार आ गया। लगातार विकेट गिरने के कारण भारतीय प्लेयर्स ज्यादा रन नहीं बना सके। सूर्या भी 48वें ओवर में आउट हो गए। टीम ने आखिरी 10 ओवर में 43 रन जोड़े और 5 विकेट खोए।

मिडिल ओवर्स में ऑस्ट्रेलिया ने पार्टनरशिप बनने से रोकी

11 से 40 ओवर्स के बीच ऑस्ट्रेलिया पूरी तरह गेम में रहा। पावरप्ले में 2 विकेट खोने के बाद भारत ने 11वें ओवर में तीसरा विकेट भी खो दिया। कोहली ने पारी संभालने की कोशिश की और केएल राहुल के साथ 109 बॉल में 67 रन जोड़े।

जैसे ही दोनों ने तेजी से रन बनाने शुरू किए, कोहली आउट हो गए। जडेजा भी ज्यादा देर नहीं खेल सके। इन ओवर्स में ऑस्ट्रेलिया ने पार्ट टाइम गेंदबाज ट्रैविस हेड के ओवर निकाले और भारतीय बल्लेबाज इसका फायदा नहीं उठा सके। मिडिल ओवर्स में सबसे बड़ा ओवर 7 रन का ही आया। भारत ने इन ओवर्स में 117 रन बनाए और 3 विकेट खोए।

 

राहुल की धीमी फिफ्टी, एक ही बाउंड्री लगाई केएल राहुल ने धीमे, लेकिन उपयोगी 66 रन बनाए। उन्होंने इस वर्ल्ड कप का दूसरा अर्धशतक लगाया। यह राहुल के वनडे करियर का 17वां अर्धशतक जमाया। राहुल ने 107 गेंद में 66 रन बनाए। इस पारी में राहुल ने सिर्फ एक चौका लगाया, बाकि से सभी 62 रन उन्होंने दौडकर पूरे किए।

54 रन बनाकर आउट हुए कोहली भारत से नंबर-3 पर बैटिंग करने उतरे विराट कोहली 54 रन बनाकर आउट हुए। उन्हें पैट कमिंस ने बोल्ड किया। 5वें ओवर में बैटिंग पर उतरने के बाद विराट ने तेजी से रन बनाए, लेकिन 3 विकेट गिर जाने के बाद उन्होंने पारी धीमी की और टीम इंडिया को संभाला। फिफ्टी पूरी करने के बाद विराट सेट हो चुके थे, लेकिन 29वें ओवर में पैट कमिंस की शॉर्ट पिच बॉल पर सिंगल लेने की कोशिश में बोल्ड हो गए। गेंद उनके बैट से लगकर स्टंप्स में जा घुसी। विराट के आउट होने के बाद टीम इंडिया का स्कोर 4 विकेट पर 148 रन हो गया।

5वीं बार फिफ्टी से चूके रोहित टीम इंडिया के कप्तान रोहित शर्मा ने वर्ल्ड कप में इस बार भी टीम को तेज शुरुआत दिलाई। उन्होंने महज 31 बॉल पर 47 रन बनाए, लेकिन 10वें ओवर में ही आउट हो गए। रोहित ने अपनी पारी में 4 चौके और 3 छक्के लगाए। रोहित टूर्नामेंट की 11 पारियों में 5वीं बार 40 से 49 रन के बीच के स्कोर में आउट हुए। इससे पहले वे बांग्लादेश के खिलाफ 48, न्यूजीलैंड के खिलाफ 46, साउथ अफ्रीका के खिलाफ 40 और सेमीफाइनल में भी 47 रन बनाकर आउट हो चुके हैं। टीम इंडिया के कप्तान रोहित शर्मा ने वनडे वर्ल्ड कप 2023 में 597 रन बनाए। वे एक वर्ल्ड कप में बतौर कप्तान सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी बने। रोहित ने न्यूजीलैंड के केन विलियमसन का रिकॉर्ड तोड़ा, जिन्होंने 2019 में बतौर कप्तान 578 रन बनाए थे।

 

पावरप्ले-1 में भारतीय ओपनर्स पवेलियन लौटे; स्कोर 80/2

वर्ल्ड कप फाइनल में टॉस हारकर पहले बैटिंग करने उतरी टीम इंडिया को कप्तान रोहित शर्मा ने तेज शुरुआत दिलाई। उन्होंने जोश हेजलवुड पर अटैक किया, लेकिन उनके सामने शुभमन गिल दबाव में दिखे। शुभमन 4 ही रन बनाकर मिचेल स्टार्क का शिकार हो गए।

उनके बाद आए विराट कोहली ने भी तेज से रन बनाए। 10वें ओवर में रोहित शर्मा ने भी 2 गेंदों पर 10 रन बना लिए थे, लेकिन तीसरी गेंद पर बड़ा शॉट खेलने की कोशिश में आउट हो गए। टीम ने 10 ओवर में 80 रन बनाए, लेकिन 2 बड़े विकेट भी गंवा दिए।