DIG Suspended : आचरण नियमावली का पालन नहीं करने पर DIG को सस्पेंड किया!

जानिए, किस मामले में यह कार्यवाही हुई!

1736

DIG Suspended : आचरण नियमावली का पालन नहीं करने पर DIG को सस्पेंड किया!

Lucknow : आईपीएस अधिकारी जुगल किशोर तिवारी को सरकार ने सस्पेंड कर दिया। आचरण नियमावली का पालन नहीं करने के चलते उनके खिलाफ यह कदम उठाया गया। आईपीएस पर आरोप है कि उन्होंने दो साल से ज्यादा छुट्टी पर रहे एक सरकारी ड्राइवर की सुनवाई करते हुए नियमों के परे जाकर उसे लाभ पहुंचाया। वे डीआईजी फायर सर्विस के पद पर तैनात थे।

जानकारी के मुताबिक, उन्नाव में तैनात फायर विभाग का ड्राइवर बीमारी की वजह से कई दिनों तक अपनी ड्यूटी से गायब था। उसने इस बात की सूचना किसी भी संबंधित अधिकारी को नहीं दी, जिसके चलते उसे एक साथ दो सजा दी गई थी। ड्राइवर को 3 साल के लिए सस्पेंड किया गया, साथ ही छुट्टी की अवधि में लीव विदाउट पेमेंट दिया गया था।

इस मामले में करीब डेढ़ साल पहले उसे एसपी उन्नाव ने सजा सुनाई थी। इसके बाद विभाग के डीआईजी से अपील की गई थी और फिर डीआईजी जुगल किशोर तिवारी ने एक अपराध में दो सजा नहीं देने के सिद्धांत में फायर विभाग के ड्राइवर को क्लीन चिट दे दी थी। इसी के चलते अब डीआईजी जुगल किशोर तिवारी को सस्पेंड कर दिया गया। जुगल किशोर का इस पूरे मामले पर कहना है कि मैंने नियमतः काम किया है। उचित फोरम में अपनी बात रखूंगा।

2008 बैच के IPS अधिकारी 

जुगल किशोर 2008 बैच के IPS अधिकारी हैं। वे गाजीपुर, बांदा, वाराणसी, इलाहाबाद, लखनऊ, चित्रकूट और बहराइच से एसपी भी रह चुके हैं। चित्रकुट में रहने के दौरान पाठा के जंगलों में तीन दिन का अभियान चलाकर दुर्दांत डकैत घनश्याम केवट का एनकाउंटर किया था।