युवा, किसानों और महिलाओं को साधने की कवायद हुई तेज

166
Rajasthan Election 2023

युवा, किसानों और महिलाओं को साधने की कवायद हुई तेज

भोपाल। प्रदेश में हुए दो चरणों के लोकसभा चुनाव में मतदान फीसदी कम होने के पीछे युवाओं , किसानों और महिलाओं का मतदान प्रक्रिया में बढ़- चढ़कर हिस्सा नहीं लेना। ये तीनों वर्ग अगर मतदान प्रक्रिया में बढ़- चढ़कर भाग लेते तो मतदान फीसदी कम नहीं होता।

प्रदेश में होने वाले शेष दो चरणों के लोकसभा चुनाव को लेकर बीजेपी युवाओं, महिलाओं और किसानों को साधने की कवायद तेज कर दी है। लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने प्रदेश की 29 लोकसभा सीट जीतने का संकल्प लिया है। बीजेपी अपने संकल्प को धरातल पर उतारने के लिए अभी से इन तीनों वर्गो को साधने की कोशिश तेज कर दी है। प्रदेश में 19 अप्रैल और 26 अप्रैल को हुए लोकसभा चुनाव में प्रदेश की 12 सीटों पर मतदान संपन्न हो चुका है। दोनों चरणों में हुए मतदान में वर्ष 2019 के मुकाबले महिलाओं का मतदान फीसदी काफी कम रहा। दूसरे चरण में 11 फीसदी महिलाएं मतदान करने पहुुंची ही नहीं। पहले चरण में छह लोकसभा सीट पर हुए मतदान में पिछले चुनाव की अपेक्षा 7.48 फीसदी कम मतदान हुआ। शेष दोनों चरणों में मतदान फीसदी बढ़ाने को लेकर भाजपा अपने संकल्प पत्र के जरिए युवाओं, महिलाओं और किसानों को साधने में लगी हुई है। बीजेपी का सोशल मीडिया ग्रुप पिछले दस साल के दौरान पीएम नरेन्द्र मोदी द्वारा किए गए इन तीनों वर्गो के कार्य को रेखांकित कर रही है। इसके अलावा इन तीनो वर्गो के लिए आगामी वर्षो में बीजेपी की सरकार और क्या करने वाली है इसका वीडियों क्लीप बनाकर कार्यकर्ताओं तक पहुंचाया जा रहा है।

सोशल मीडिया के जरिए कार्यकर्ताओं से लगातार अपील की जा रही है कि बूथ स्तर तक जाकर मतदाताओं को मतदान के लिए प्रेरित करें। जिससे बीजेपी अपने चार सौ पार के टॉरगेट को पूरा कर सकें। पन्ना प्रमुख और पेज प्रमुख से सोशल मीडिया के जरिए अपील किया जा रहा है कि प्रत्येक बूथ पर 370 वोट बढ़ाने की दिशा में काम करना है।

युवा मतदाता सबसे ज्यादा-

प्रदेश में मौजूदा समय में 1 करोड़ 52 लाख से अधिक युवा मतदाता हैं। जिनकी उम्र 18 से 29 वर्ष के बीच है। वहीं 18 वर्ष से 39 वर्ष के बीच युवा मतदाताओं की संख्या 3 करोड़ से ज्यादा हैं। यह आंकड़ा कुल मतदाताओं का 50 फीसदी से भी अधिक है। प्रदेश में अभी 41 फीसदी सीटों पर चुनाव संपन्न हो चुका है। शेष 17 सीटों पर होने वाले चुनाव में प्रत्येक लोकसभा सीट पर 3 लाख से ज्यादा युवा मतदाता है। जीत की मार्जिंग बढ़ाने के लिए बीजेपी इन तीनों वर्गो को साधने में लगी हुई है।