टी20 वर्ल्ड कप का पहला विवाद आया सामने,मैच अधिकारियों पर लगे गंभीर आरोप

393

टी20 वर्ल्ड कप का पहला विवाद आया सामने,मैच अधिकारियों पर लगे गंभीर आरोप

होबार्ट:  टी20 वर्ल्ड कप 2022 का पहला विवाद सामने आ गया है। ऑस्ट्रेलिया में जारी ग्लोबल टूर्नामेंट में सुपर 12 स्टेज के छठे मैच के धुलते ही एक नए विवाद ने सर उठा लिया। टूर्नामेंट का छठा मैच साउथ अफ्रीका और जिम्बाब्वे के बीच होबार्ट में खेला जाना तय था जो बारिश की भेंट चढ़ गया। किसी क्रिकेट मैच का वॉश आउट होना कोई बड़ी घटना नहीं है। लेकिन जिम्बाब्वे के हेड कोच डेव हॉटन ने मैच को रद्द करने से पहले टीम के खिलाड़ियों को मैदान पर जबरदस्ती इंतजार कराने का आरोप लगाया है। साथ ही उन्होंने आउट फील्ड के गीले होने के बावजूद खिलाड़ियों को खतरनाक परिस्थिति में खिलाने का भी आरोप लगाया। उन्होंने यह भी खुलासा किया कि जिम्बाब्वे के कप्तान क्रेग एर्विन और सिकंदर रजा ने अंपायरों से मैच को रद्द करने की मांग की थी लेकिन उनकी नहीं सुनी गई।

जिम्बाब्वे के हेड कोच हॉटन हुए नाराज

जिम्बाब्वे के मुख्य कोच डेव हॉटन ने मैच के रद्द किए जाने के बाद मैच अधिकारियों के लिए अपनी नाराजगी दर्ज कराई। उन्होंने कहा कि उनके प्लेयर्स फील्ड अंपायर्स से साउथ अफ्रीका के खिलाफ मैच को रद्द करने की गुजारिश करते रहे लेकिन अधिकारियों ने इसे शुरुआत में अनसुना कर दिया। हालांकि खराब मौसम और आउट फील्ड के मुश्किल हालात के कारण इस मैच को बाद में रद्द कर दिया गया। लेकिन जिम्बाब्वे के हेड कोच हॉटन का मानना है कि होबार्ट में मौसम और फील्ड की स्थितियों को देखते हुए एक गेंद भी नहीं फेंकी जानी चाहिए थी।

हाटन ने कहा, “मैं इस बात को समझता हूं कि हमें फैंस और टीवी दर्शकों के लिए मैच को खेलना चाहिए चाहे मौसम थोड़ा खराब क्यों न हो लेकिन मैच में हम उस सीमा को भी पार कर गए। मुझे लगता है कि हमें चार-पांच ओवर बाद ही बाहर आ जाना चाहिए था। मुझे नहीं लगता कि हमें एक भी गेंद फेंकनी चाहिए थी। अम्पायरों को लग रहा था कि परिस्थितियां खेलने के लिए सहीं हैं लेकिन मैं उनसे सहमत नहीं हूं और मैदान के बाहर से मैं कुछ नहीं कर सकता था।”

 गीले आउटफील्ड में फिसलने से नगारवा हुए चोटिल

साउथ अफ्रीका और जिम्बाब्वे के बीच बारिश के चलते 9-9 ओवर का मैच कराने का फैसला लिया गया था। जिम्बाब्वे ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 5 विकेट पर 79 रन बनाए थे। लक्ष्य का बचाव करने के दौरान, जिम्बाब्वे के तेज गेंदबाज रिचर्ड नगारवा फिसल गए और उन्हें चोटें भीं आई। यानी बारिश के चलते आउट फील्ड के हालात काफी अच्छे तो हरगिज नहीं थे। जिम्बाब्वे सि मिले 80 रन के टारगेट का पीछा करते हुए मैच में साउथ अफ्रीका ने 3 ओवरों में बिना किसी नुकसान के 51 रन बना लिए थे जब मैच को रद्द कर दिया गया और दोनों टीमों में एक-एक अंक साझा कर दिया