टीम इंडिया के खिलाड़ियों ने सिडनी में जमकर बहाया पसीना

471

टीम इंडिया के खिलाड़ियों ने सिडनी में जमकर बहाया पसीना

सिडनी : पाकिस्तान के खिलाफ सुपर 12 के अपने पहले मुकाबले में रोमांचक जीत दर्ज करने के बाद टीम इंडिया सिडनी पहुंच चुकी है। यहां 27 अक्टूबर को टीम का मुकाबला नीदरलैंड से होगा। इस मैच से पहले टीम के कप्तान रोहित शर्मा और उपकप्तान केएल राहुल ने नेट्स में जमकर प्रैक्टिस की है। इसके अलावा टीम के कुछ खिलाड़ी प्रैक्टिस करते नहीं नजर आए। हार्दिक पंड्या, सूर्यकुमार यादव और टीम के तीनों स्टार पेसर्स प्रैक्टिस सेशन से नदारद रहे।

 

पाकिस्तान के खिलाफ भारत की जीत के हीरो रहे विराट कोहली या फिर कहें चेज मास्टर कोहली ने भी बल्लेबाजी का अभ्यास किया। वहीं पिछले मैच के बाद आलोचनाओं का शिकार हो रहे राहुल ने प्रैक्टिस सेशन में कई रोचक शॉट खेले। इसके अलावा दिनेश कार्तिक पाकिस्तान के खिलाफ आखिरी ओवर में 1 रन पर आउट हो गए थे। उन्होंने भी बल्लेबाजी का अभ्यास किया और साथ ही थ्रो डाउन की भी प्रैक्टिस की। अश्विन और चहल ने कार्तिक और राहुल को अभ्यास करवाया। यह पूरा प्रैक्टिस सेशन हेड कोच राहुल द्रविड़ और बैटिंग कोच विक्रम राठौर की निगरानी में हुआ।

टीम इंडिया का बड़ा सिरदर्द

भारतीय टीम पाकिस्तान के खिलाफ भले ही जीत गई हो लेकिन कुछ दिक्कतें हैं जो लगातार टीम के लिए समस्या खड़ी कर रही हैं। उसमें से सबसे बड़ा मुद्दा है कप्तान रोहित शर्मा की बल्लेबाजी। केएल राहुल ने पिछली कुछ सीरीज में कई शानदार पारियां खेली थीं लेकिन रोहित के बल्ले से एक दर्शनीय पारी का इंतजार है। पाकिस्तान के खिलाफ भी टॉप ऑर्डर बुरी तरह फ्लॉप रहा था। 31 रन पर 4 खिलाड़ी आउट हो गए थे। एकमात्र बाएं हाथ के बल्लेबाज के तौर पर मौजूद अक्षर पटेल भी बल्ले और गेंद दोनों से फ्लॉप रहे थे। ऐसे में नीदरलैंड के खिलाफ टीम इन खामियों को दूर करना चाहेगी।

डनी में टीम इंडिया ने अपने सुपर 12 के दूसरे मैच से पहले प्रैक्टिस सेशन में भाग लिया। यह पहला सेशन था और इसमें सूर्यकुमार यादव, हार्दिक पंड्या, मोहम्मद शमी, भुवनेश्वर कुमार और अर्शदीप सिंह नहीं पहुंचे। इन पाचों खिलाड़ियों ने आराम किया। आपको बता दें कि भारतीय गेंदबाजों ने पाकिस्तान के खिलाफ शानदार प्रदर्शन किया था। भुवी और शमी ने एक-एक विकेट लेते हुए किफायती गेंदबाजी की थी। वहीं हार्दिक और अर्शदीप 3-3 विकेट लेकर सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज रहे थे। अब देखना होगा कि टूर्नामेंट से पहले बड़ी टेंशन बनकर उभरी गेंदबाजी का आगे कैसा प्रभाव रहता है